DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पलपल में लोगों को यमुना नदी से दूर रहने की सलाह

यमुना में आए पानी से हजारों एकड़ जमीन जलमग्न हो गई है। बढ़ते जल स्तर से यमुना किनारे के गांवों में बोई गई सब्जी और चारे की फसल के नष्ट होने के आसार बन गए हैं। जिला प्रशासन ने प्रभावित लोगों की सहायता के लिए सिंचाई विभाग के ऑफिस में कंट्रोल रूम बनाया है। लोगों को यमुना नदी से दूर रहने की सलाह दी जा रही है। डिप्टी कमिश्नर मनीराम शर्मा ने जिन गांवों में पानी प्रवेश करने की संभावना है वहां की पंचायतों, पटवारी, स्कूल मास्टर, ग्राम सचिव और स्वास्थ्य विभाग को अलर्ट रहने को कहा है।

यमुना नदी में बढ़ते जल स्तर से बागपुर, राजूपुर, दोस्तपुर, गुरवाडी, समस्तपुर, इन्द्रानगर, कुशक, सुलतानपुर, मुस्तफाबाद, रहीमपुर, महाबलीपुर, अतवा, सतुआ गढी, इन्दानगर, थंथरी की करीब 30 हजार की आबादी प्रभावित हुई है। इन गांवों में की हजारों एकड चारे और सब्जी फसल में पानी भर गया है। गांव वालों को कहा गया है कि वे अपने पशुओं को यमुना नदी में पानी पीने के लिए नहीं ले जाए और खुद भी दूर रहे। किसी भी प्रकार की परेशानी के लिए जिला प्रशासन को 01275-252179 और 01275-248901 पर सूचना दें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Advice to keep people away from the river Yamuna in Palpal