DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   NCR  ›  फरीदाबाद  ›  शहर के अस्पतालों में 70 फीसदी बेड खाली

फरीदाबादशहर के अस्पतालों में 70 फीसदी बेड खाली

हिन्दुस्तान टीम,फरीदाबादPublished By: Newswrap
Tue, 25 May 2021 03:00 AM
शहर के अस्पतालों में 70 फीसदी बेड खाली

फरीदाबाद। कोविड के मरीजों का उपचार करवाने के लिए मई के पहले सप्ताह में जहां हर तरफ बेड और आक्सीजन के लिए हर तरफ हाहाकार मचा हुआ था, वहीं अब मई माह के आखिरी दिनों में जिला फरीदाबाद के अस्पतालों में 70 फीसदी बेड खाली हैं। इसमें आक्सीजन से लेकर आईसीयू ओर वेंटिलेटर के सभी बेड शामिल हैं। हरियाणा स्वास्थ्य विभाग की वेबसाइट पर दर्ज आंकडों से यह राहत वाली खबर आई है। बहरहाल, अब कोविड के मरीजों का उपचार करवाने के लिए किसी प्रकार की दिक्कत किसी परिजन को नहीं है।

18 दिनों से लगातार कम मिल रहे मरीज

राहत की बात यह है कि पिछले 18 दिन से लगातार कोरोना के नए मरीज कम मिल रहे है, जबकि ठीक होने वालों की संख्या ज्यादा है। ठीक होने वालों में होम आइसोलेशन वाले मरीजों की

संख्या 80 फीसदी से ज्यादा है तो अस्पताल में भर्ती मरीजों के ठीक होने की रफ्तार 40 फीसदी है। बहरहाल, पिछले 18 दिनों में रिकवरी रेट 96.9 फीसदी तक पहुंच गया है और एक्टिव केस 2.3 फीसदी रह गए हैं। बहरहाल, कोरोना के तेजी से कम हो रहे इस संक्रमण के बाद अब अस्पतालों में भी मरीजों का दबाव कम हो रहा है। हरियाणा स्वास्थ्य विभाग की वेबसाइट पर रात आठ बजे के अपडेट आंकडों के मुताबिक विभिन्न श्रेणी में 70 फीसदी से ज्यादा बेड खाली हो चुके हैं।

सीएमओ के मुताबिक जिला में सैम्पल पोजिटिव रेट 12.0 प्रतिशत है। जबकि रिकवरी रेट 96.9 प्रतिशत है। इस महामारी को फैलने से रोकने के लिए टीकाकरण भी जोर शोर से किया जा रहा है। सोमवार को भी कोरोना रोधी वैक्सीन लगातार लगाई जा रही है।

सावधानी बरतने की अपील

उपायुक्त यशपाल ने फरीदाबाद जिला वासियों से अपील की है कि वे कोरोना को मात देने के लिए सावधानी लगातार बरतते रहें और कोशिश करें कि अपने घर के अंदर ही रहे। जब तक बहुत जरूरी ना हो, तब तक घर से बाहर ना निकले और बाहर निकलते समय अपने मुंह और नाक को कवर करते हुए फेस मास्क का प्रयोग अवश्य करें। इसके अलावा, एक दूसरे के बीच दो गज की दूरी जरूर रखें। कोरोना के बारे में कोई भी जानकारी लेनी हो तो कॉविड हेल्पलाइन नंबर 1950 पर डायल करें जो कि सप्ताह के सातों दिन 24 घंटे संचालित की जा रही है।

17 सौ मरीजों को घर भेजी आक्सीजन

विशेष बात यह है कि होम आइसोलेशन के मरीजों को घर पर आक्सीजन और किट की आपूर्ति शुरू होने के बाद लोगों ने राहत की सांस लेनी शुरू की है। विशेष बात यह है कि यह मुफ्त सुविधा है। जिला प्रशासन की तरफ 17 सौ से ज्यादा1मरीजों को घर पर ही आक्सीजन की आपूर्ति की जा चुकी है और ढाई हजार से ज्यादा लोगों ने आक्सीजन के लिए आवेदन किया। इनमें काफी ऐसे लोग हैं, जिन्होंने सरकार की तरफ से तय प्रारूप के हिसाब से जानकारी प्रशासन को नहीं दी। इसकी वजह से उनके फार्म रदद कर दिए गए। जिला रेडक्रास सोसायटी के सचिव विकास का कहना है कि जैसे-जैसे कोरोना अब कमजोर पडता जा रहा है, वैसे-वैसे आक्सीजन की मांग कम होती जा रही है।

3175 कुल बेड

2271 खाली बेड

1323 आक्सीजन के बेड खाली

660 नान आक्सीजन के बेड खाली

288 आईसीयू के बेड खाली

67 वेंटिलेटर खाली

संबंधित खबरें