DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

योगी ने 9 राज्यों में 30 सीटों पर प्रचार किया, जानें कितनी सीटों पर मिली जीत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के देश व्यापी विजय अभियान में स्टार प्रचारक योगी आदित्यनाथ ने अपनी तरह से योगदान किया। उन्होंने 9 राज्यों में 30 संसदीय क्षेत्रों में जाकर प्रचार किया। भाजपा इनमें से 23 सीटें जीतने में कामयाब रही। 

इस तूफानी दौरे में राष्ट्रवाद, मोदी की लोकप्रियता, सबका साथ सबका विकास से लेकर कांग्रेस की नाकामियों तक की चर्चा की। जनता से सीधा संवाद किया। योगी के नाम व काम के चलते उन्हें सुनने के लिए सभाओं में भारी भीड़ उमड़ी। पश्चिम बंगाल में योगी आदित्यनाथ दो बार दौरा किया और वहां मुस्लिम तुष्टीकरण को लेकर तृणमूल कांग्रेस को घेरा। मुख्यमंत्री योगी उत्तर प्रदेश के सभी लोकसभा क्षेत्रों में गए। जिसमें से 64 में एनडीए को जीत मिली आखिरी चरण में दिनभर प्रचार के बाद उन्होंने अपना केंद्र बनारस और गोरखपुर को बनाए रखा उसका असर पूर्वांचल की सभी सीटों पर दिखाई पड़ा। 

पश्चिम बंगाल में हिंसा नहीं होती तो 30 सीटें जीतते : कैलाश विजयवर्गीय

गोरखपुर में उपचुनाव में हार के बाद जीत का इतना बड़ा अंतर इसका नतीजा है। पश्चिम बंगाल में जिस पुरुलिया जिले से उन्होंने प्रचार की शुरुआत की वहां भाजपा को बंपर जीत मिली । अन्य राज्यों में की गई 35 सभाओं में से 25 पर भाजपा को जीत मिली। कह सकते हैं कि भाजपा की इस बड़ी जीत में योगी का फैक्टर भी नरेंद्र मोदी के बाद सबसे ज्यादा काम आया। योगी ने पहली चुनावी रैली पुरुलिया पश्चिम बंगाल जाकर की। 

सीएम 28 अप्रैल को बिहार के पश्चिमी चंपारण, मोतिहारी, मधुबनी, छपरा सीटों पर जाकर जनसभा की और कहा कि इस बार विपक्ष मोदी की आंधी में खर-पतवार की तरह उड़ जाएगा। योगी आदित्यनाथ जब पश्चिम बंगाल गये तो वहां उन्होंने ममता बनर्जी के गढ़ बहरामपुर, काल्ना और श्रीरामपुर में कहा कि देश की सुरक्षा के लिए खतरा बने बांग्लादेशियों को वापस भेजने की व्यवस्था सिर्फ भाजपा ही कर सकती है। यह सरकार दुर्गा पूजा को रोकने का प्रयास करती है। यह कौन सी धर्म निरपेक्षता है, जहां पर लोगों को उनकी आस्था से वंचित करने का प्रयास किया जा रहा है। 

मोदी 30 मई को ले सकते हैं शपथ, एनडीए की बैठक में आज सांसद चुनेंगे नेता

इन सीटों पर हुईं योगी की सभाएं
योगी पुरुलिया, बोनगांव, बहरामपुर ,बारासात, कोलकाता उत्तरी, कोलकाता दक्षिण (पश्चिम बंगाल) गांधीनगर (गुजरात), रुड़की, काशीपुर (उत्तराखंड) असम, भुवनेश्वर (उड़ीसा), श्रीकालहस, पेद्दापल् येल्लारेड्डजीत (आंध्रपदेश) अम्बिकापुर, जांजगीर चंपा, नवापारा ( छत्तीसगढ़), पश्चिमी चंपारण, मोतिहारी, मधुबनी , छपरा, पटना (बिहार ) श्रीगंगानगर , नागौर, पावटा, अलवर (राजस्थान ), विकासपुरी व मंडावल मुरैना व शिवपुरी (मध्यप्रदेश) । इनमें भाजपा 23 सीटों पर जीती। 

योगी के तीन लाख नए फॉलोअर
लोकसभा चुनाव में भाजपा के स्टार प्रचार और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूरी ताकत झोंक दी थी। उन्होंने 163 रैलियां कीं जिनमें से 37 उत्तर प्रदेश के बाहर देश के अन्य राज्यों में हुईं। योगी देश के ज्यादातर राज्यों में गए। उनकी सभाओं में भारी भीड़ जुटी और इस भीड़ का एक बड़ा हिस्सा उनसे सोशल मीडिया पर भी सीधे जुड़ता रहा। एक महीने के दौरान उनसे ट्विटर पर तीन लाख और फेसबुक पर डेढ़ लाख नए फालोअर जुड़ गए हैं। 

लोकसभा चुनाव: नतीजों के बाद फुर्ती में आए मंत्रालय

ट्विटर पर टॉप लीडर्स में प्रधानमंत्री मोदी और राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के बाद सबसे ज्यादा सक्रिय नेताओं में योगी का नाम है। तीन साल पहले (20 मई 2016 को) ट्विटर एकाउंट की शुरुआत से लेकर शुक्रवार दोपहर एक बजे तक सिर्फ 8626 ट्वीट करके उन्होंने 40,58,850 फालोअर पा लिए थे। रोज 10 से 15 हजार नए फालोअर जुड़ रहे हैं। फेसबुक पर भी रोज 5 से 6 हजार फालोअर्स की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। शुक्रवार को मुख्यमंत्री के फेसबुक एकाउंट पर 57.45 लाख फालोअर हो चुके थे। लोकसभा चुनाव में उनकी धुआंधार सभाओं के दौरान इसमें खासतौर पर तेजी दर्ज की गई। गुरुवार को लोस चुनाव के परिणाम आने के बाद योगी ने एक के बाद एक छह ट्वीट किए। इनमें उन्होंने जनता को प्रचंड जीत की बधाई देते हुए भाजपा की जीत और विपक्ष की हार की वजहें गिनाईं। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Yogi Adityanath campaign on 30 seats in nine states during lok sabha election know how many seats won