DA Image
Thursday, December 9, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ देशकोरोना टीकाकरण की रफ्तार देख IMF के बाद वर्ल्ड बैंक भी हुआ भारत का मुरीद, जमकर की तारीफ

कोरोना टीकाकरण की रफ्तार देख IMF के बाद वर्ल्ड बैंक भी हुआ भारत का मुरीद, जमकर की तारीफ

हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीShankar Pandit
Sun, 17 Oct 2021 07:39 AM
Vaccination in Bihar
1/ 2Vaccination in Bihar
vaccination
2/ 2vaccination

भारत में कोरोना के खिलाफ जंग अब निर्णायक मोड़ पर है। अगले हफ्ते देश में कोरोना टीकाकरण का आंकड़ा 100 करोड़ पार कर जाएगा। टीकाकरण को लेकर भारत की रफ्तार देख आईएमएफ से लेकर वर्ल्ड बैंक तक आश्चर्यचकित है। भारत के टीकाकरण अभियान की आईएमएफ से लेकर वर्ल्ड बैंक ने तारीफ की है। विश्व बैंक के अध्यक्ष डेविड मालपास ने कोविड-19 महामारी के खिलाफ सफल टीकाकरण कार्यक्रम के लिए भारत को बधाई दी है और इसे सफल बताया है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के साथ मुलाकात में उन्होंने टीका उत्पादन एवं वितरण में भारत की अंतरराष्ट्रीय भूमिका के लिए उन्हें धन्यवाद दिया।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के साथ यहां बैठक के दौरान यहां मालपास ने वाशिंगटन स्थित अंतरराष्ट्रीय वित्तीय संस्थान की अंतरराष्ट्रीय वित्त निगम और बहुपक्षीय निवेश गारंटी एजेंसी सहित विश्व बैंक समूह की सभी संस्थाओं में भारत के प्रति प्रतिबद्धता दोहराई। मालपास ने कहा कि कोरोना के खिलाफ टीकाकरण अभियान में भारत ने बेहतर काम किया है। विश्व बैंक ने एक बयान जारी कर कहा कि उन्होंने जलवायु परिवर्तन पर भारत के प्रयासों पर भी चर्चा की। बयान में कहा गया कि मालपास ने सीतारमण को भारत के कोविड-19 टीकाकरण अभियान के लिए बधाई दी और टीका उत्पादन एवं वितरण में भारत की अंतरराष्ट्रीय भूमिका के लिए उन्हें धन्यवाद दिया।

विश्व के सबसे बड़े टीका उत्पादक देश भारत ने अप्रैल में कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर को देखते हुए कोविड-19 टीके के निर्यात को रोक दिया था, ताकि देश की पूरी आबादी का टीकाकरण किया जा सके। बता दें कि विश्व बैंक ने भारत को सहयोग देते रहने की भी प्रतिबद्धता जताई। पिछले महीने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने घोषणा की थी कि भारत फिर से विदेशों को टीका निर्यात शुरू करेगा। 

आईएमएफ ने भी भारत की सराहना की
अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष (आईएमएफ) ने कोविड-19 महामारी के बीच भारत द्वारा उठाए गए कदमों की सराहना की है। आईएमएफ ने कहा कि महामारी की स्थिति के बीच भारत ने 'तेजी और मजबूत' कदम उठाए और साथ ही उसने अपने श्रम सुधारों तथा निजीकरण की प्रक्रिया को जारी रखा। भारत सरकार के महामारी से निपटने के तरीके पर आईएमएफ ने कहा कि यह त्वरित और संतोषजनक था। सरकार ने वित्तीय समर्थन दिया। समाज के संवेदनशील तबकों को वित्तीय समर्थन दिया गया। मौद्रिक नीति को उदार किया गया, तरलता के प्रावधान किए गए और नियामकीय नीतियों को नरम किया गया।  रिपोर्ट में कहा गया है कि महामारी के बावजूद भारत ने श्रम सुधारों और निजीकरण योजना सहित संरचनात्मक सुधारों को जारी रखा। 

अगले हफ्ते तक देश में 100 करोड़ टीकाकरण
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने शनिवार को कहा कि भारत अगले हफ्ते कोविड-19 टीकाकरण के 100 करोड़ के आंकड़े पर पहुंच जाएगा। साथ ही, टीके के बारे में मिथक और टीका लगवाने में हिचक को दूर करने के उद्देश्य से गायक कैलाश खेर का लिखा एक कोविड-गान भी जारी किया गया। मंत्री ने कहा कि देश में आज शाम तक करीब 97.23 करोड़ लोगों को टीके की प्रथम खुराक दी जा चुकी है। 

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें