Women aspirants lobbying for party tickets in Odisha Lok Sabha Elections - लोकसभा चुनाव: 33% आरक्षण के बाद BJD से टिकट पाने के लिए महिलाओं में मची होड़ DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लोकसभा चुनाव: 33% आरक्षण के बाद BJD से टिकट पाने के लिए महिलाओं में मची होड़

Odisha CM Naveen Patnaik

ओडिशा में सत्तारूढ़ बीजू जनता दल (बीजद) अध्यक्ष और मुख्यमंत्री नवीन पटनायक के आसन्न लोकसभा चुनाव में महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण देने के ऐलान के बाद से पार्टी से टिकट पाने की आकांक्षी महिलाएं अब एड़ी चोटी का जोर लगा रही हैं। लोकसभा और राज्यविधान सभा चुनावों के लिए अधिक महिला प्रत्याशियों को मौका देने के बीजद के फैसले का कांग्रेस और भाजपा पर असर पड़ रहा है। 

कांग्रेस की राज्य इकाई के प्रमुख निरंजन पटनायक ने कहा, ''मैंने निर्देश दिये हैं कि लोकसभा और विधानसभा दोनों के लिए उम्मीदवारों की सूची जारी करने से पहले महिलाओं को अधिक संख्या में नामांकित किया जाए।" भाजपा की राज्य महिला इकाई भी पार्टी के भीतर इस बात का दबाव बना रही है कि महिला उम्मीदवारों को अधिक तरजीह दी जाए।

प्रयागराज से भाजपा सांसद श्यामाचरण गुप्ता को सपा ने बांदा से दिया टिकट

बीजद की इस घोषणा के बाद उसे कम से कम सात महिलाओं को टिकट देने होंगे क्योंकि इस राज्य में लोकसभा की 21 सीटें हैं। बीजद ने राज्य विधानसभा के लिए ऐसा कहने से परहेज किया है। राज्य के विधानसभा चुनाव भी लोकसभा चुनाव के साथ ही संपन्न होने हैं। सत्तारूढ़ पार्टी के लिए यह फैसला मुश्किलें भी पैदा कर रहा है क्योंकि महिलाओं की तरफ से इस ऐलान को हाथों हाथ लिया गया है।

बीजद ने यह बात केवल लोकसभा सीटों के लिए कही है, पर विधानसभा का टिकट पाने की इच्छुक महिलाओं का मानना है कि विधानसभा चुनावों के लिए समानुपात में महिलाओं को उतारा जायेगा। राज्य में विधानसभा की 147 सीटें हैं। इस कदम से मौजूदा नेताओं में डर बैठ गया है कि उनका टिकट कट जायेगा और वे इस वजह से अब अपनी पत्नियों को आगे कर रहे हैं। वर्तमान में ओडिशा से तीन महिलाएं लोकसभा में पहुंची हैं और ये तीनों बीजद से ही हैं, जबकि विधानसभा में कुल 12 महिलाएं हैं।

दिग्विजय को किस सीट से लड़ना चाहिए चुनाव, कमलनाथ ने दिया ये जवाब

ओडिशा में 21 लोकसभा सीटों के लिए 4 चरणों में मतदान
ओडिशा में 11 अप्रैल से चार चरणों में लोकसभा और विधानसभा के चुनाव साथ-साथ होंगे। राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) सुरेंद्र कुमार ने बीते 10 मार्च को यह जानकारी दी। कुमार ने बताया कि राज्य की 21 लोकसभा और 147 विधानसभा सीटों पर 11, 18, 23 और 29 अप्रैल को चार चरणों में वोट डाले जाएंगे। उन्होंने बताया कि 11 अप्रैल को पहले चरण में लोकसभा की चार और विधानसभा की 28 सीटों पर मतदान होगा, जबकि 18 अप्रैल को लोकसभा की पांच और विधानसभा की 35 सीटों पर वोट डाले जाएंगे।

राज्य में 23 और 29 अप्रैल को लोकसभा की छह-छह सीटों और विधानसभा की 42-42 सीटों पर मतदान होगा। कुमार ने बताया कि मतदान की तारीखों का ऐलान होते ही आदर्श आचार संहिता लागू हो गई है। उन्होंने बताया कि 21 जनवरी को जारी मतदाता सूची के मुताबिक राज्य में 3.18 करोड़ मतदाता हैं। राज्य में कुल 37,606 मतदान केंद्र बनाए जाएंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Women aspirants lobbying for party tickets in Odisha Lok Sabha Elections