ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देश7 घंटे बत्ती गुल, महिला पत्रकार ने सोशल मीडिया पर साझा किया दर्द तो हो गई FIR दर्ज

7 घंटे बत्ती गुल, महिला पत्रकार ने सोशल मीडिया पर साझा किया दर्द तो हो गई FIR दर्ज

Hyderabad FIR On Journalist: पुलिस अफसर ने कहा कि रेवती नाम की महिला पत्रकार के खिलाफ एलबी नगर पुलिस स्टेशन में IPC की धारा 505 (सार्वजनिक शरारत करने वाले बयान) और IT Act के तहत केस दर्ज किया गया है।

7 घंटे बत्ती गुल, महिला पत्रकार ने सोशल मीडिया पर साझा किया दर्द तो हो गई FIR दर्ज
Pramod KumarPTI,हैदराबादWed, 19 Jun 2024 10:42 PM
ऐप पर पढ़ें

तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में पुलिस ने एक महिला पत्रकार पर इसलिए FIR दर्ज की है क्योंकि उसने सात घंटे बिजली गुल रहने की शिकायत और पीड़ा सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर साझा की थी।  यह एफआईआर शहर के एलबी नगर थाने में दर्ज की गई है। बुधवार को दर्ज प्राथमिकी में महिला पत्रकार पर तेलंगाना सरकार और उसकी बिजली वितरण कंपनी को बदनाम करने के आरोप लगाए गए हैं। यह मुकदमा तेलंगाना दक्षिणी विद्युत वितरण कंपनी लिमिटेड (TGSPDCL) में कार्यरत एक असिस्टेंट इंजीनियर द्वारा दर्ज कराई गई शिकायत के आधार पर दर्ज किया गया है। 

पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि रेवती पी नाम की महिला पत्रकार के खिलाफ एलबी नगर पुलिस स्टेशन में आईपीसी की धारा 505 (सार्वजनिक शरारत करने वाले बयान) और सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम की संबंधित धाराओं के तहत मामले दर्ज किए गए हैं। प्राथमिकी के अनुसार, शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया है कि 18 जून को उन्हें अपने उच्च अधिकारियों से एक निर्देश मिला था कि एक सोशल मीडिया यूजर ने एक पोस्ट किया है कि एलबी नगर इलाके में सात घंटे तक बिजली आपूर्ति बाधित रही लेकिन पिछले छह महीनों में सब स्टेशन की डेटा शीट की जांच के बाद, यह पाया गया कि एल बी नगर क्षेत्र में सात घंटे की बिजली की बाधा कभी नहीं रही।

शिकायतकर्ता ने दावा किया कि महिला पत्रकार ने झूठा आरोप लगाकर और जानबूझकर राज्य सरकार और TGSPDCL को बदनाम किया है। शिकायतकर्ता ने पुलिस को दिए आवेदन में आरोपी पत्रकार के खिलाफ आवश्यक कार्रवाई की मांग की है। रेवती ने मंगलवार को एक एक्स पोस्ट में कहा था कि एल बी नगर की एक महिला ने लगातार बिजली कटौती से तंग आकर एक्स पर इसके बारे में शिकायत की लेकिन एक लाइनमैन उसके घर पर पहुंचकर उससे  पोस्ट डिलीट करने का दवाब बनाने लगा। 

FIR दर्ज होने के बाद रेवती ने एक्स पर एक अलग पोस्ट में कहा: "@tgspdcl के कर्मचारी द्वारा एक महिला को परेशान किए जाने के बारे में मेरे ट्वीट (पोस्ट) पर कई लोगों ने प्रतिक्रिया दी है लेकिन मुझे उम्मीद नहीं थी कि पुलिस मेरे ट्वीट पर इतनी जल्दी प्रतिक्रिया देगी!" उन्होंने लिखा, "मेरे लिए सम्मान का पदक: एक एफआईआर। एक हैरतभरे कदम में, मेरे खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है, जबकि तेलंगाना पावर एंड कंपनी के असली अपराधी, जिन्होंने दिनदहाड़े एक महिला उपभोक्ता को परेशान किया, खुलेआम घूम रहे हैं!"

उन्होंने कांग्रेस नेताओं राहुल गांधी और प्रियंका गांधी और तेलंगाना के मुख्यमंत्री ए रेवंत रेड्डी को भी अपने पोस्ट में टैग किया और पूछा "@RahulGandhi @priyankagandhi @revanth_anumula - क्या मीडिया की स्वतंत्रता पर आपका यही रुख है? क्या आपकी सरकार सच्चाई को उजागर करने वाले पत्रकारों को चुप कराने की कोशिश कर रही है?" उन्होंने आगे लिखा, "अगर आप लोकतंत्र में विश्वास करते हैं, तो न्याय के लिए लड़ने में हमारे साथ खड़े हों और प्रेस की स्वतंत्रता की रक्षा करें!"