ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशसनकी पति ने घर पर एक्युपंक्चर से कराई डिलीवरी, पत्नी-बच्चा दोनों की दर्दनाक मौत

सनकी पति ने घर पर एक्युपंक्चर से कराई डिलीवरी, पत्नी-बच्चा दोनों की दर्दनाक मौत

केरल में सनकी पति ने अपनी जिद के चलते गर्भवती पत्नी की डिलीवरी का प्रयास एक्यूपंक्चर की मदद से घर पर ही किया। इस घटना में महिला और नवजात दोनों की दर्दनाक मौत हो गई।

सनकी पति ने घर पर एक्युपंक्चर से कराई डिलीवरी, पत्नी-बच्चा दोनों की दर्दनाक मौत
Gaurav Kalaपीटीआई,तिरुवंतपुरमWed, 21 Feb 2024 07:08 PM
ऐप पर पढ़ें

केरल के तिरुवंतपुरम से दिल झकझोर कर देने वाली घटना सामने आई है। यहां सनकी पति ने अपनी जिद के चलते गर्भवती पत्नी की डिलीवरी का प्रयास एक्यूपंक्चर की मदद से घर पर ही किया। इस घटना में महिला और नवजात दोनों की दर्दनाक मौत हो गई। यह महिला की चौथी डिलीवरी थी। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि उसका पति नॉर्मल डिलीवरी चाहता था इसलिए उसने पूरे नौ महीने अपनी पत्नी को किसी भी डॉक्टर के पास नहीं लेकर गया। पुलिस ने आरोपी पति को गिरफ्तार कर लिया है।
 
पुलिस ने बुधवार को बताया कि घटना मंगलवार रात की है। करक्कमंडपम में एक्यूपंक्चर उपचार का उपयोग करके किराए के घर में महिला की डिलीवरी का प्रयास किया गया। इस घटना में 36 वर्षीय महिला शेमीरा बीवी और नवजात दोनों की मौत हो गई। मामले में पुलिस ने आरोपी पति नेमोम को गिरफ्तार कर लिया है। साथ ही घटना में अप्राकृतिक मौत का मामला दर्ज किया है।

पुलिस के अनुसार, मारी गई महिला शेमीरा बीवी की यह चौथी डिलीवरी थी और उसने अपनी गर्भावस्था अवधि के पिछले नौ महीनों में कभी डॉक्टर से परामर्श नहीं लिया। एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि दंपति ने कथित तौर पर एक मेडिकल डॉक्टर के बजाय एक एक्यूपंक्चर करने वाले शख्स की मदद ली। वह शख्स महिला को देखने के लिए उनके किराए के घर पर आता था।

महिला को मंगलवार को कुछ परेशानी हो रही थी। आखिरकार शाम को उसे एक निजी अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे और बच्चे को मृत घोषित कर दिया। जैसे ही महिला और नवजात शिशु की मौत की खबर सामने आई, स्थानीय पार्षद, आशा कार्यकर्ता और पड़ोसी नेयाज़ के खिलाफ सामने आए और उस पर अपनी पत्नी को डॉक्टर से परामर्श न लेने और गलत उपचार से जच्चा-बच्चा को मार डालने का आरोप लगाया। 

वार्ड पार्षद दीपिका ने कहा कि महिला के पति ने आशा कार्यकर्ताओं को अपने घर में प्रवेश करने या उससे बात करने की अनुमति नहीं दी थी। उन्होंने कहा, "परिवार हमें अपने घर में प्रवेश करने या कोई अन्य विवरण साझा करने की अनुमति देने के लिए तैयार नहीं था। एक दिन, हम किसी तरह घर में प्रवेश करने में कामयाब रहे और उससे बात की। तब हमें पता चला कि यह उसकी चौथी डिलीवरी थी।"

उस वक्त शेमीरा से ली गई जानकारी के अनुसार, उसकी पिछली सभी डिलीवरी ऑपरेशन के जरिए हुई थी।  पार्षद ने कहा, "इसलिए, उसके मामले में सामान्य प्रसव की कोई संभावना नहीं थी लेकिन, उसका पति नॉर्मल डिलीवरी पर अड़ा था इसलिए उसने डॉक्टर के पास नहीं जाने का फैसला लिया। पुलिस ने बताया कि पति से पूछताछ जारी है और जानकारी जुटाकर अन्य कार्रवाई की जाएगी।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें