DA Image
2 जनवरी, 2021|1:30|IST

अगली स्टोरी

Winter Weather: उत्तर भारत में प्रचंड शीतलहर, मैदानों में भी पारा शून्य से नीचे पहुंचा

समूचे उत्तर भारत में प्रचंड शीतलहर तथा घने कोहरे के कहर से आम जनजीवन पर असर पड़ा तथा हवाई, रेल और सड़क सेवा सुबह तक प्रभावित रही। ठंड का आलम यह रहा कि मैदानों तक में पारा शून्य से नीचे पहुंच गया और माउंट आबू में पारा शून्य पर रहा। मौसम केंद्र के अनुसार, शनिवार से मौसम में बदलाव के आसार हैं तथा कहीं कहीं गरज के साथ छींटे पड़ने और 03 जनवरी को अनेक स्थानों पर बारिश होने की संभावना है। चार जनवरी तक मौसम खराब रहेगा।

हरियाणा में कड़ाके की ठंड तथा घने कोहरे के चलते नारनौल शून्य दशमलव दो डिग्री, हिसार एक डिग्री, रोहतक दो डिग्री, अमृतसर दो डिग्री, फरीदकोट शून्य के आसपास और बठिंडा का पारा एक डिग्री रहा। नारनौल, सिरसा और रोहतक को छोड़कर शेष समूचे पश्चिमोत्तर में घना कोहरा छाया रहा जिससे हवाई उड़ानें प्रभावित रहीं। चंडीगढ़ में भीषण ठंड तथा घने कोहरे से अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से एक भी उड़ान नहीं छूटी और न आई जिससे यात्रियों को परेशानी झेलनी पड़ी। लंबी दूरी तथा कम दूरी की ट्रेनें भी घंटों देरी से चल रही हैं। इसके अलावा सुबह तक सड़क यातायात रेंगता नजर आया। दोपहर बाद हल्की धूप निकली जिसने ठंड से मामूली सी राहत दी।

दिल्ली का पारा शिमला से कम रहा और चंडीगढ़ के बराबर रहा। शिमला में छह डिग्री, अंबाला चार डिग्री, करनाल तीन डिग्री, भिवानी तीन डिग्री, लुधियाना चार डिग्री, पटियाला चार डिग्री, गुरदासपुर, हलवारा तीन डिग्री, आदमपुर तीन डिग्री, दिल्ली एक डिग्री, श्रीनगर शून्य से कम छह डिग्री, जम्मू चार डिग्री रहा।

राजस्थान में चुरू सबसे ठंडा, माउंट आबू शून्य पर
मौसम विभाग के अनुसार राजस्थान के चूरू शून्य से 0.2 डिग्री सेल्सियस से कम न्यूनतम तापमान के साथ प्रदेश का सबसे ठंडा स्थान रहा। वहीं राज्य के एक मात्र पर्वतीय पर्यटक स्थल माउंट आबू में चार डिग्री के सुधार के साथ न्यूनतम तापमान जमाव बिंदू यानी शून्य डिग्री दर्ज किया गया। वहीं, राज्य के अधिकतर हिस्सों में न्यूनतम तापमान में दो से तीन डिग्री सेल्सियस तक वृद्धि होने से लोगों को कड़ाके की सर्दी से राहत मिली है। अधिकतर हिस्सों में अधिकतम तापमान 17.9 डिग्री सेल्सियस से लेकर 22 डिग्री सेल्सियस तक दर्ज किया गया।

हरियाणा-पंजाब में शीतलहर, हिसार में पारा 1.2 डिग्री नीचे 
हरियाणा और पंजाब में शुक्रवार को भी शीतलहर का प्रकोप रहा और हिसार में न्यूनतम तापमान शून्य से 1.2 डिग्री सेल्सियस नीचे पहुंच गया। मौसम विभाग के अधिकारियों ने बताया कि दोनों राज्यों में सुबह में घना कोहरा छाए रहने से दृश्यता काफी घट गई। उन्होंने बताया कि विभिन्न स्थानों पर न्यूनतम तापमान सामान्य से नीचे चला गया। हरियाणा के हिसार में गुरुवार को न्यूनतम तापमान सामान्य से आठ डिग्री सेल्सियस नीचे चला गया। दोनों राज्यों में हिसार सबसे ठंडा स्थान रहा। दोनों राज्यों की साझा राजधानी चंडीगढ़ में 6.1 डिग्री सेल्सियस तापमान रहा। पंजाब में भी ठंड का प्रकोप बना हुआ है। फरीदकोट में शून्य से नीचे 0.2 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया।

गुलमर्ग में पारा शून्य से नौ डिग्री नीचे लुढ़का
कश्मीर में शुक्रवार को भी हाड़ कंपाने वाली शीतलहर जारी रही और नए साल पर घाटी में कई स्थानों पर न्यूनतम तापमान जमाव बिंदु से नीचे चला गया। अधिकारियों ने बताया कि घाटी में तापमान में गिरावट के बाद कई जलाशयों सहित जल आपूर्ति के पाइपों में पानी जम गया। मौसम विभाग के अधिकारियों ने बताया कि उत्तरी कश्मीर के गुलमर्ग में तापमान शून्य से नौ डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया। घाटी में गुलमर्ग सबसे ठंडा स्थान रहा। अमरनाथ यात्रा के लिए दक्षिण कश्मीर में आधार शिविर पहलगाम में पारा शून्य से 7.8 डिग्री सेल्सियस नीचे तापमान चला गया। अधिकारियों ने कहा कि शुष्क मौसम ने गुलमर्ग के प्रसिद्ध स्की-रिजॉर्ट में नए साल पर बर्फ गिरने का इंतजार कर रहे सैकड़ों पर्यटकों को निराश कर दिया। उन्होंने कहा कि हालांकि, रिजॉर्ट में विभिन्न स्थानों पर घास के मैदान पर बड़े-बड़े बर्फ के टुकड़े नए साल के जश्न को और मनोरम बना रहे थे।

कश्मीर राजमार्ग, लेह तथा मुगल रोड बंद
जम्मू-कश्मीर को देश के अन्य हिस्सों से जोड़ने वाला श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रमार्ग शुक्रवार को मरम्मत कार्यों के लिए बंद रहा। यातायात पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि संघशासित प्रदेश लद्दाख को कश्मीर घाटी से जोड़ने वाले 434 किलोमीटर लंबे श्रीनगर-लेह राजमार्ग को मार्ग पर फिसलन बढ़ने के कारण सर्दियों के मौसम तक के लिए बंद कर दिया गया है। वहीं, दक्षिण कश्मीर में शोपियां को जम्मू क्षेत्र के राजौरी तथा पुंछ को जोड़ने वाले 86 किलोमीटर लंबा मुगल रोड भी हिमपात तथा सड़क पर फिसलन की स्थिति के कारण बंद है। हालांकि सीमावर्ती शहर करगिल से लेह तक यातायात जारी रहेगी।

हिमाचल में राहत
हिमाचल प्रदेश में चटख धूप खिलने से कड़ाके की ठंड से राहत मिली। पहाड़ों पर मौसम सुहावना रहा लेकिन अगले चौबीस घंटों में पश्चिमी विक्षोभ के कारण बारिश तथा हिमपात की संभावना है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Winter Weather: Severe cold wave in North India mercury reaches below zero in plains too