ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशस्पीड लिमिट क्यों तोड़ देते हैं ट्रेन ड्राइवर्स, रेलवे लगाएगा पता; ऐक्शन की तैयारी

स्पीड लिमिट क्यों तोड़ देते हैं ट्रेन ड्राइवर्स, रेलवे लगाएगा पता; ऐक्शन की तैयारी

रिपोर्ट के मुताबिक, इस तरह की पहली घटना में आगरा कैंट के पास जजाऊ और मनिया रेलवे स्टेशन के बीच हुई थी। गतिमान एक्सप्रेस के लोको पायलट और सहायक लोको पायलट ने गति सीमा को तोड़ दिया था।

स्पीड लिमिट क्यों तोड़ देते हैं ट्रेन ड्राइवर्स, रेलवे लगाएगा पता; ऐक्शन की तैयारी
Niteesh Kumarलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSun, 16 Jun 2024 05:45 PM
ऐप पर पढ़ें

ट्रेन के ड्राइवर्स स्पीड लिमिट को पार क्यों करते हैं? रेलवे बोर्ड ने यह पता लगाने के लिए समिति का गठन किया है। यह सामने आया है कि ट्रेन चालक पहले और आखिरी स्टेशन के बीच कई बार गति सीमा तोड़ देते हैं। ऐसा करना यात्रियों की सुरक्षा के लिए खतरनाक हो सकता है। रेलवे से जुड़े सूत्रों ने बताया कि बोर्ड ने हाल की घटनाओं की देखते हुए यह कदम उठाया है। 2 ट्रेन ड्राइवर्स ने नदी पुल पर 20 किमी प्रति घंटे की गति सीमा को तोड़ा था। उन्होंने 120 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से ट्रेनें दौड़ाईं, जबकि उस पुल का मेंटेनेंस चल रहा था।

रिपोर्ट के मुताबिक, इस तरह की पहली घटना में आगरा कैंट के पास जजाऊ और मनिया रेलवे स्टेशन के बीच हुई थी। गतिमान एक्सप्रेस के लोको पायलट और सहायक लोको पायलट ने गति सीमा को तोड़ दिया, जो कि देश की पहली सेमी-हाई-स्पीड ट्रेन है। यह 160 किमी प्रति घंटे की गति से चलती है। यह ट्रेन दिल्ली में हजरत निजामुद्दीन और उत्तर प्रदेश में वीरांगना लक्ष्मीबाई झांसी जंक्शन के बीच फर्राटा भरती है। इस घटना के कुछ दिनों बाद कटरा और इंदौर के बीच ऐसा ही मामला सामने आया। मालवा एक्सप्रेस ट्रेन ड्राइवरों ने ट्रेन को 120 किमी प्रति घंटे की गति से अधिक चलाकर कानून का उल्लंघन किया। इन घटनाओं के तुरंत बाद रेलवे बोर्ड ने 3 जून को सभी जोन को सर्कुलर जारी किया था।

कोलकाता मेट्रो ने यात्रियों के लिए दी खुशखबरी 
दूसरी ओर, कोलकाता मेट्रो रेलवे की ओर से यात्रियों के बीच खुशखबरी आई है। बकरीद के मौके पर 17 जून को ब्लू लाइन (दक्षिणेश्वर-न्यू गरिया) खंड पर 214 ट्रेन चलाई जाएगी। यह जानकारी शनिवार को एक आधिकारिक बयान में दी गई। सामान्य दिनों में मेट्रो रेलवे 288 ट्रेन का परिचालन करता है। बयान के मुताबिक सोमवार को बकरीद की छुट्टी है, इसलिए उस दिन 214 ट्रेन चलेंगी। सोमवार को पहली ट्रेन सुबह 6:50 बजे दमदम से कवि सुभाष (न्यू गरिया) और कवि सुभाष से दक्षिणेश्वर के लिए चलेगी। दमदम से कवि सुभाष के लिए अंतिम ट्रेन रात 9:40 बजे रवाना होगी और कवि सुभाष से दमदम जाने वाली अंतिम ट्रेन भी रात 9:40 बजे रवाना होगी। 

Advertisement