ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ देशएस जयशंकर क्यों बने राजनयिक? विदेश मंत्री ने सुनाए कई दिलचस्प किस्से

एस जयशंकर क्यों बने राजनयिक? विदेश मंत्री ने सुनाए कई दिलचस्प किस्से

जयशंकर और अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने भारत-अमेरिका 2+2 के बाद हावर्ड विश्वविद्यालय का दौरा किया, जो अमेरिकी उपराष्ट्रपति कमला हैरिस का विश्वविद्यालय भी है।

एस जयशंकर क्यों बने राजनयिक? विदेश मंत्री ने सुनाए कई दिलचस्प किस्से
Himanshu Jhaलाइव हिन्दुस्तान,वाशिंगटन।Wed, 13 Apr 2022 11:17 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने ब्यूरोक्रेसी और कूटनीति के अपने लंबा करियर को चुनने के पीछे का कारण बताया है। हावर्ड विश्वविद्यालय में मंगलवार को एक कार्यक्रम में एक छात्र के सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने इसका खुलासा किया है। उन्होंने यह भी बताया है कि संगीत ने दिलचस्प रूप से अंतरराष्ट्रीय संबंधों में उनकी रुचि को आकार देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

जयशंकर ने कहा, "मुझे दुनिया में दिलचस्पी क्यों होने लगी? मुझे लगता है कि इसका एक हिस्सा शायद संगीत में रुचि थी।" उन्होंने कहा, ''पहला अमेरिकी संगीत जो उन्होंने सुना वह 1959 का अमेरिकी एल्बम 'द हिटमेकर्स' था। मेरे पास वास्तव में अब यह Spotify में है।"

उन्होंने पारिवारिक वातावरण और भोजन को भी इसका प्रमुख कारण बताया, लेकिन वे दोनों संगीत के बाद आए। जयशंकर ने कहा, "मुझे लगता है कि इसका भोजन का हिस्सा बहुत बाद में आया। जब आप छोटे थे तो भोजन की तुलना में संगीत का खर्च उठाना आसान था। इसमें से कुछ पारिवारिक माहौल से भी आए थे, जो थोड़ा अंतरराष्ट्रीय था।"

उनके पिता जब रॉकफेलर फेलो बने तब जयशंकर केवल 10 वर्ष के थे। इसलिए पारिवारिक प्रभाव भी मायने रखता था। उन्होंने कहा, "मेरे पिता यहां एक फेलोशिप पर, वास्तव में रॉकफेलर फैलोशिप पर यहां अध्ययन करने और किसी प्रकार का पेशेवर प्रशिक्षण करने के लिए यहां आए थे। इसलिए मुझे लगता है कि माता-पिता का थोड़ा सा प्रभाव है।"

विदेश मंत्री ने कहा, "हर बार आपके स्कूल या विश्वविद्यालय में कुछ विदेशी होते हैं, इसको लेकर जबरदस्त उत्साह होता है। मुझे लगता है कि यह उन सभी चीजों का एक संयोजन था।"

जयशंकर और अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने भारत-अमेरिका 2+2 के बाद हावर्ड विश्वविद्यालय का दौरा किया, जो अमेरिकी उपराष्ट्रपति कमला हैरिस का विश्वविद्यालय भी है।

epaper