ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशनाच ना जाने आंगन टेढ़ा, PM मोदी ने राहुल गांधी पर क्यों कसा तंज

नाच ना जाने आंगन टेढ़ा, PM मोदी ने राहुल गांधी पर क्यों कसा तंज

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राहुल गांधी पर तंज कसते हुए कहा कि नाच ना जाने आंगन टेढ़ा। उन्होंने कहा कि कई नेता अपने शब्दों के प्रति भी प्रतिबद्ध नहीं हैं।

नाच ना जाने आंगन टेढ़ा, PM मोदी ने राहुल गांधी पर क्यों कसा तंज
Ankit Ojhaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीMon, 15 Apr 2024 09:42 PM
ऐप पर पढ़ें

लोकसभा चुनाव शुरू होने से पहले राजनीतिक दल जोरशोर से रैलियां और प्रचार कर रहे हैं। इसी बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एएनआई को इंटरव्यू दिया जिसमें सनातन धर्म, आगे के प्लान, राजनीति, विदेश नीति और राम मंदिर सहित अनेक मुद्दों पर उन्होंने बात की। वहीं प्रधानमंत्री विपक्ष पर तंज कसने में भी नहीं चूके। उन्होंने बिना नाम लिए ही दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और राहुल गांधी पर तंज कस दिया। राहुल गांधी के लिए उन्होंने कहा 'नाच ना जाने आंगन टेढ़ा।'

प्रधानमंत्री मोदी से जब सवाल किया गया कि सारे संस्थानों पर भाजपा हावी है और ईडी, सीबीआई को अपने इशारे पर चला रही है। इसपर प्रधानमंत्री ने कहा कि इनमें से कोई भी कानून हमारी सरकार ने नहीं बनाया है। हमने तो चुनाव आयोग में भी सुधार किए हैं। आज कोई चुनाव आयुक्त बनता है तो  विपक्षी उसमें होता है। पहले तो प्रधानमंत्री एक फाइल पर साइन करके इलेक्शन कमिश्नर बना देता था। ऐसे लोग इलेक्शन कमिश्नर बने जो उनके परिवार के साथ जुड़े थे। ऐसे लोग इलेक्शन कमिश्नर बने जो वहां से निकलने के बाद राज्यसभा के सांसद बने और उनके उम्मीदवार बने। हम उस रास्ते पर नहीं जा सकते। 

प्रधानमंत्री ने कहा, ईडी और सीबीआई कैसे बनी? हमारे यहां एक कहावत है, नाच ना जाने आंगन टेढ़ा। इसलिए वे कभी ईवीएम का बहाना निकालेंगे कभी ईडी सीबीआई का। दरअसल वे पराजय के लिए अभी से कारण सेट करने में लगे हैं ताकि पराजय उनके खाते में ना चढ़ जाए। 

प्रधानमंत्री ने कहा आज हमारे पास दुर्भाग्य से देखने को मिलता है कि शब्दों के प्रति कोई प्रतिबद्धता नहीं हैं। आज एक नेताजी  के ढेर सारे वीडियो बाजार में घूम रहे हैं। उनके एक विचार से दूसरे विचार एकदम अलग हैं। एक नेता का मैंने भाषण सुना उन्होंने कहा कि एक झटके में गरीबी हटा दूंगा। जिन्होंने पांच-छह दशक राज किया वे अगर बोलेंगे के एक झटके में गरीबी हटा दूंगा। ऐसे में प्राण जाए पर वचन ना जाए, इस महान परंपरा से हम जुड़े हैं। नेताओं को जिम्मेदारी लेनी चाहिए। मैं जो बोल रहा हूं उसके प्रति प्रतिबद्ध हूं। 

इलेक्टोरल बॉन्ड पर राहुल गांधी का पलटवार
इलेक्टोरल बॉन्ड पर बोलते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि यह स्कीम पारदर्शिता के लिए लाई गई थी ताकि चुनाव में कालेधन का इस्तेमाल ना हो। हो सकता है कि इसमें सुधार की जरूरत हो लेकिन इसके पीछे नीयत साफ थी। प्रधानमंत्री ने कहा कि इसको लेकर लोगों को पछताना पड़ेगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि इस स्कीम पर संसद में चर्चा हुई थी तब कुछ लोग इसके समर्थन में थे और अब विरोध कर रहे हैं। 

वहीं पीएम मोदी के बयान पर राहुल गांधी ने पलटवार करते हए कहा कि यह एक वसूली स्कीम है जिसके मास्टरमाइंड  नरेंद्र मोदी हैं। उन्होंने कहा कि इलेक्टोरल बॉन्ड में सबसे जरूरी तारीखें और नाम हैं। आप देखेंगे तो पाएंगे कि उन्होंने जब इलेक्टोरल बॉन्ड लिया तो इसके तुरंत बाद कंपनी को कॉन्ट्रैक्ट मिल गया या फिर उनपर हो रही जांच बंद हो गई। 
 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें