ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशजया बच्चन ने राज्यसभा में आखिर क्यों मांगी माफी, धनखड़ भी बोले; जानें पूरा मामला

जया बच्चन ने राज्यसभा में आखिर क्यों मांगी माफी, धनखड़ भी बोले; जानें पूरा मामला

जया ने कहा, "लोग अक्सर मुझसे पूछते हैं कि मुझे गुस्सा क्यों आता है। यह मेरा स्वभाव है। मैं खुद को नहीं बदल सकती। अगर मुझे कोई बात पसंद नहीं आती या मैं उससे सहमत नहीं होती तो मैं अपना आपा खो देती हूं।"

जया बच्चन ने राज्यसभा में आखिर क्यों मांगी माफी, धनखड़ भी बोले; जानें पूरा मामला
Himanshu Jhaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्ली।Fri, 09 Feb 2024 12:21 PM
ऐप पर पढ़ें

राज्यसभा से रिटायर हो रहे सांसदों में शामिल समाजवादी पार्टी की सांसद जया बच्चन ने बजट सत्र के दौरान माफी मांगी। राज्यसभा के सभापति जगदीप धनखड़ पर कटाक्ष करने को लेकर वह सुर्खियों में रहीं। बच्चन ने अपने विदाई भाषण के दौरान सदन के सभी सदस्यों से माफी मांगते हुए कहा कि वह गुस्सैल हैं लेकिन उनका इरादा किसी को ठेस पहुंचाने का नहीं था।

जया बच्चन ने कहा, "लोग अक्सर मुझसे पूछते हैं कि मुझे गुस्सा क्यों आता है। यह मेरा स्वभाव है। मैं खुद को नहीं बदल सकती। अगर मुझे कोई बात पसंद नहीं आती या मैं उससे सहमत नहीं होती तो मैं अपना आपा खो देती हूं।" उन्होंने कहा, "अगर मैंने आपमें से किसी के साथ अनुचित व्यवहार किया तो मैं माफी मांगती हूं।"

राज्यसभा से रिटायर होने वाले सांसदों के योगदान को याद करते हुए उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने कहा कि उनके द्वारा साझा किए गए ज्ञान की बहुत याद आएगी और उनके जाने से एक खालीपन आ जाएगा। उन्होंने कहा, "हमारे सम्मानित सहयोगियों की सेवानिवृत्ति निस्संदेह एक खालीपन छोड़ देगी। यह अक्सर कहा जाता है कि 'र शुरुआत का एक अंत होता है और हर अंत की एक नई शुरुआत होती है।"

आपको बता दें कि इससे पहले मंगलवार को बजट सत्र के दौरान एक प्रश्न को छोड़ दिए जाने को लेकर कांग्रेस नेता पर जब धनखड़ की टिप्पणी की तो जया बच्चन ने कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की। उन्होंने कहा कि यदि सदस्यों को मुद्दा समझाया गया होता तो वे समझ गए होते। वे स्कूली बच्चे नहीं हैं। उन्होंने यह भी कहा कि सांसदों के साथ सम्मानपूर्वक व्यवहार किया जाना चाहिए।

जया बच्चन ने सदन में 20 साल के अपने अनुभवों का जिक्र करते हुए कहा ''20 साल जीवन का बहुत लंबा समय रहता है। मुझे कई खट्टे मीठे अनुभव हुए। सबसे अच्छा अनुभव यह रहा कि मेरा परिवार बहुत बड़ा हो गया।''उन्होंने कहा ''मैं कामना करती हूं कि यह सदन सदा समृद्ध होता रहे और यहां आने वाले विशेषज्ञों के अनुभवों से लाभान्वित होता रहे।''

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें