ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशयह स्टालिन की 'पसंदीदा भाषा' है, भाजपा ने चायनीज में क्यों किया तमिलनाडु सीएम को बर्थडे विश

यह स्टालिन की 'पसंदीदा भाषा' है, भाजपा ने चायनीज में क्यों किया तमिलनाडु सीएम को बर्थडे विश

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित कई नेताओं ने द्रविड़ मुनेत्र कषगम (द्रमुक) के अध्यक्ष और तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम. के. स्टालिन को शुक्रवार को उनके जन्मदिन पर बधाई और शुभकामनाएं दी।

यह स्टालिन की 'पसंदीदा भाषा' है, भाजपा ने चायनीज में क्यों किया तमिलनाडु सीएम को बर्थडे विश
Amit Kumarलाइव हिन्दुस्तान,चेन्नईFri, 01 Mar 2024 12:43 PM
ऐप पर पढ़ें

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के नए लॉन्च कॉम्प्लेक्स से संबंधित एक विज्ञापन पर 'चीनी झंडा' दिखाने को लेकर भाजपा और द्रमुक के बीच जुबानी जंग जारी है। इस बीच भारतीय जनता पार्टी ने शुक्रवार को तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन को मंदारिन (चीन की भाषा) में जन्मदिन की शुभकामनाएं देकर कटाक्ष किया। स्टालिन आज 71 वर्ष के हो गए।

तमिलनाडु भाजपा के आधिकारिक एक्स (ट्विटर) हैंडल से बर्थडे विश करते हुए लिखा गया, "तमिलनाडु भाजपा की ओर से, हमारे माननीय मुख्यमंत्री थिरु एमके स्टालिन को उनकी पसंदीदा भाषा में जन्मदिन की शुभकामनाएं! उनके लंबे और स्वस्थ जीवन की कामना करते हैं!" इसने एक अन्य ट्वीट में लिखा, "जो लोग हमारे मुख्यमंत्री को मंदारिन में शुभकामनाएं देना चाहते हैं, कृपया इसका उपयोग करें।" ट्वीट के साथ चीन में बर्थडे विश लिखा है।

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित कई नेताओं ने द्रविड़ मुनेत्र कषगम (द्रमुक) के अध्यक्ष और तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम. के. स्टालिन को शुक्रवार को उनके जन्मदिन पर बधाई और शुभकामनाएं दी। प्रधानमंत्री मोदी ने सोशल मीडिया मंच 'एक्स' पर एक पोस्ट में कहा, "तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम. के. स्टालिन जी को जन्मदिन की बधाई, वह लंबा और स्वस्थ जीवन जिएं।"

क्या पूरा चीन वाला विवाद?

तमिलनाडु के थूथुकुडी जिले के कुलसेकरापट्टिनम में इसरो का एक लॉन्च कॉम्प्लेक्स बनकर तैयार हो रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को इसरो के इस नए प्रक्षेपण परिसर का शिलान्यास किया, जिसकी लागत लगभग 986 करोड़ रुपये है और इसके बनकर तैयार होने पर यहां से प्रतिवर्ष 24 प्रक्षेपण किए जा सकेंगे। 

शिलान्यास के बाद तमिलनाडु के एक मंत्री ने इसको लेकर अखबार में विज्ञापन दिया। लेकिन विज्ञापन की तस्वीर में छपे रॉकेट पर भारत की जगह चीन का झंडा दिखाई दे रहा है। इसको लेकर द्रमुक और भाजपा के बीच वाकयुद्ध शुरू हो गया। खुद प्रधानमंत्री मोदी ने अंतरिक्ष क्षेत्र में देश की उपलब्धियों के प्रति ‘अनभिज्ञ’ बनने के लिए तमिलनाडु में सत्तारूढ़ द्रविड़ मुनेत्र कषगम (द्रमुक) की कड़ी आलोचना की।

यहां भाजपा की एक रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने आरोप लगाया कि द्रमुक शासन में कोई काम नहीं होता है बल्कि केवल झूठा श्रेय लिया जाता है और उसने केंद्रीय योजनाओं पर अपना ‘स्टीकर’ चिपका दिया है। उन्होंने कहा, ‘‘अब उन्होंने सभी हद पार कर दी हैं। उन्होंने तमिलनाडु में इसरो प्रक्षेपण परिसर का श्रेय लेने के लिए चीन का स्टिकर चिपका दिया है। यह हमारे अंतरिक्ष वैज्ञानिकों, अंतरिक्ष क्षेत्र, आपके कर के पैसों और आपका (देश का) का अपमान है।’’

रॉकेट विज्ञापन पर ‘चीनी झंडे’ पर द्रमुक नेता ने कहा- ‘डिजाइनर की गलती’ थी

विज्ञापन में ‘चीनी झंडा’ दिखने से तमिलनाडु में छिड़े विवाद के एक दिन बाद द्रविड़ मुनेत्र कषगम की नेता और मत्स्य पालन मंत्री अनीता आर राधाकृष्णन ने बृहस्पतिवार को कहा कि यह डिजाइनर की गलती थी। अपनी पार्टी की ओर से विज्ञापन देने वाली मंत्री ने जोर देकर कहा कि यह केवल एक गलती थी और द्रमुक का कोई अन्य इरादा नहीं था। उन्होंने कहा, “विज्ञापन में एक छोटी सी गलती हो गई। हमारा कोई और इरादा नहीं है। हमारे दिलों में भारत के लिए सिर्फ प्यार है।” राधाकृष्णन ने कहा कि यह उनकी पार्टी का रुख है कि भारत एकजुट रहना चाहिए और देश में जाति या धर्म के आधार पर टकराव की कोई गुंजाइश नहीं होनी चाहिए।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें