ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशचुनाव नतीजों से पहले क्यों PM मोदी से मिले नीतीश, भाजपा ने भी की बड़ी बैठक; कयास तेज

चुनाव नतीजों से पहले क्यों PM मोदी से मिले नीतीश, भाजपा ने भी की बड़ी बैठक; कयास तेज

PM Modi and CM Nitish Meeting: सोमवार की देर शाम पटना लौटने से पहले नीतीश कुमार ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से भी फोन पर बातचीत की। मतगणना से ठीक PM-HM से नीतीश की मुलाकात अहम मानी जा रही है।

चुनाव नतीजों से पहले क्यों PM मोदी से मिले नीतीश, भाजपा ने भी की बड़ी बैठक; कयास तेज
Pramod Kumarविजय स्वरूप, हिन्दुस्तान टाइम्स,नई दिल्लीMon, 03 Jun 2024 10:24 PM
ऐप पर पढ़ें

PM Modi and CM Nitish Meeting:  बिहार के मुख्यमंत्री और जनता दल यूनाइटेड के अध्यक्ष नीतीश कुमार ने लोकसभा चुनावों के नतीजे आने से ठीक एक दिन पहले सोमवार को नई दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मुलाकात की है। इस मुलाकात के बाद सियासी हलकों में चर्चा और अटकलों का बाजार गर्म है लेकिन इस मुलाकात के दौरान दोनों वरिष्ठ नेताओं के बीच क्या बातचीत हुई, इस बारे में आधिकारिक रूप से अभी तक कोई जानकारी नहीं दी गई है।

सोमवार की देर शाम पटना लौटने से पहले नीतीश कुमार ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से भी फोन पर बातचीत की। मतगणना से ठीक पहले भाजपा के दोनों बड़े नेताओं से नीतीश की मुलाकात अहम मानी जा रही है। मामले से वाकिफ जेडीयू के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि चूंकि मुख्यमंत्री नीतीश निजी यात्रा पर दिल्ली आए थे, इसलिए उन्होंने औपचारिक तौर पर पीएम से मिलने का समय मांगा था। हालांकि, एक अन्य नेता ने कहा, "चूंकि एग्जिट पोल में एनडीए की जीत का अनुमान जताया गया है, इसलिए मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री से मिलकर बिहार में एनडीए के प्रदर्शन पर चर्चा की और अपनी प्रतिक्रिया दी है।"

जेडीयू के एक अन्य नेता ने कहा कि चूंकि जल्द ही केंद्र में नए मंत्रालय का गठन होने की संभावना है, इसलिए मंत्रिमंडल में जेडीयू के प्रतिनिधित्व पर संभावित चर्चा के लिए दोनों नेताओं के बीच बातचीत हुई हो सकती है। बता दें कि बिहार की 40 लोकसभा सीटों में से भाजपा ने 17 सीटों पर चुनाव लड़ा है, जबकि नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू ने 16 सीटों पर चुनाव लड़ा है। चिराग पासवान की अगुवाई वाली लोजपा पांच, जबकि जीतनराम मांझी की हम और उपेंद्र कुशवाहा की RLM ने एक-एक सीट पर उम्मीदवार उतारे हैं।

ये मुलाकात ऐसे समय पर हुई है, जब राज्य में इस बात की भी चर्चा जोरों पर है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार फिर से इस्तीफा दे सकते हैं और राजद संग जा सकते हैं। दूसरी तरफ जेडीयू और भाजपा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ सीएम नीतीश की मुलाकात को शिष्टाचार भेंट बताया है। बावजूद इसके राजनीतिक हलकों में अटकलें लगाई जा रही हैं कि कुमार की यात्रा का राज्य की राजनीति पर असर पड़ सकता है। दूसरी तरफ इस बात की भी अटकलें हैं कि नीतीश कुमार राज्य से बाहर किसी पद पर नजर गड़ाए हुए हैं।

इन मुलाकातों से इतर, भारतीय जनता पार्टी के आलाकमान ने भी आज बैठक की। हालांकि, तीसरी बार सत्ता में आने की उम्मीद कर रही पार्टी के नेता इस बैठक के बारे में चुप्पी साधे रहे। यह बैठक पार्टी प्रमुख जेपी नड्डा के आवास पर हुई थी। इस बैठक में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव, भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव (संगठन) बीएल संतोष और राष्ट्रीय महासचिव विनोद तावड़े भी शामिल हुए। 

बैठक के बाद राष्ट्रीय महासचिव विनोद तावड़े ने कहा कि बैठक में मतगणना से जुड़े मुद्दों और नतीजों के लिए पार्टी की तैयारियों पर चर्चा की गई। उन्होंने कहा, "कल जब मतगणना शुरू होगी, तो पार्टी के एजेंट सभी बूथों पर मौजूद रहेंगे। पार्टी के सदस्यों को निर्देश दिया गया है कि वे मतगणना प्रक्रिया को लेकर किसी भी तरह के संदेह या मुद्दे पर ध्यान दें।" बड़ी जीत की उम्मीद में पार्टी ने भव्य जश्न मनाने की भी योजना बनाई है, लेकिन इस बारे में कोई जानकारी साझा नहीं की गई। तावड़े ने कहा कि अभी तक कोई योजना तय नहीं की गई है। उन्होंने कहा, "असली नतीजे आने के बाद हम इस बारे में सोचेंगे।"
 
हालांकि, पार्टी के कई नेताओं ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राष्ट्रीय राजधानी में भाजपा कार्यालय में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे। उनके मुताबिक प्रधानमंत्री रोडशो भी कर सकते हैं लेकिन इस पर अंतिम फैसला मंगलवार को लिया जाएगा।