ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशकौन हैं मेजर राधिका सेन? UN करेगा सम्मानित, ऐसा करने वालीं दूसरी भारतीय अफसर

कौन हैं मेजर राधिका सेन? UN करेगा सम्मानित, ऐसा करने वालीं दूसरी भारतीय अफसर

Major Radhika Sen: संयुक्त राष्ट्र भारतीय सेना की मेजर राधिका सेन को प्रतिष्ठित सैन्य पुरस्कार देने जा रहा है। उन्होंने कांगो में यूएन शांति टीम के रूप में देश का प्रतिनिधित्व किया था।

कौन हैं मेजर राधिका सेन? UN करेगा सम्मानित, ऐसा करने वालीं दूसरी भारतीय अफसर
Gaurav Kalaभाषा,नई दिल्लीWed, 29 May 2024 02:22 PM
ऐप पर पढ़ें

अंतरराष्ट्रीय संयुक्त राष्ट्र शांति रक्षक दिवस पर संयुक्त राष्ट्र भारतीय सेना की मेजर राधिका सेन को प्रतिष्ठित सैन्य पुरस्कार देने जा रहा है। उन्होंने कांगो में यूएन शांति टीम के रूप में देश का प्रतिनिधित्व किया था। उन्होंने एक इंटरव्यू में कहा कि इतने बड़े मंच पर भारत का प्रतिनिधित्व करना उनके लिए सम्मान और सौभाग्य की बात है। वह मेजर सुमन गवानी के बाद इस प्रतिष्ठित पुरस्कार को पाने वाली दूसरी भारतीय अफसर हैं।

भारतीय सेना में मेजर राधिका सेन ने ‘यूनाइटेड नेशन्स ऑर्गेनाइजेशन स्टैबिलाइजेशन मिशन इन द डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ द कांगो’ सेवा दी थी। 30 मई को अंतरराष्ट्रीय संयुक्त राष्ट्र शांति रक्षक दिवस के मौके पर संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस द्वारा उन्हें प्रतिष्ठित ‘2023 यूनाइटेड नेशंस मिलिट्री जेंडर एडवोकेट ऑफ द ईयर अवार्ड’ प्रदान किया जाएगा।

ऐसा सम्मान पाने वालीं दूसरी भारतीय अफसर
मेजर सेन ने पीटीआई से कहा, ‘‘यह निश्चित तौर पर मेरे लिए सम्मान और सौभाग्य का विषय है कि मुझे न केवल अपनी टीम का प्रतिनिधित्व करने का मौका मिला, बल्कि मेरे सभी सम्मानित सहयोगियों, मोनुस्को के शांतिरक्षकों और विशेष रूप से मेरे देश भारत का भी प्रतिनिधित्व करने का मौका मिला है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘इतने बड़े अंतरराष्ट्रीय मंच पर देश का प्रतिनिधित्व करने की भावना को बयां नहीं किया जा सकता।’’

वह मेजर सुमन गवानी के बाद इस प्रतिष्ठित पुरस्कार को पाने वाली दूसरी भारतीय शांति रक्षक हैं। मेजर गवानी ने दक्षिणी सूडान में संयुक्त राष्ट्र के मिशन में सेवा दी थी और उन्हें 2019 में इस पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। संयुक्त राष्ट्र की एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार, मेजर सेन भारतीय त्वरित तैनाती बटालियन की कमांडर के तौर पर मार्च 2023 से अप्रैल 2024 तक कांगो गणराज्य के पूर्व में तैनात थीं।

मेजर सेन ने भारतीय दूतावास में संयुक्त राष्ट्र में भारत की स्थायी प्रतिनिधि रुचिरा कम्बोज से भी मुलाकात की। भारतीय राजदूत ने सोशल मीडिया मंच ‘एक्स’ पर एक पोस्ट में कहा, ‘‘मेजर राधिका सेन को कांगो में उत्कृष्ट सेवा के लिए सम्मानित किया जाएगा। उनका समर्पण और बहादुरी एक बेहतर दुनिया के निर्माण में महिला शांतिरक्षकों की अमूल्य भूमिका को दर्शाता है।’’

कौन हैं राधिका सेन
हिमाचल प्रदेश में 1993 को जन्मी मेजर सेन आठ साल पहले भारतीय सेना में भर्ती हुईं। उन्होंने बायोटेक इंजीनियर के तौर पर स्नातक किया है। जब उन्होंने सेना में शामिल होने का फैसला किया था, उस समय वह भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) बंबई से पढ़ाई कर रही थीं। मेजर सेन को उनकी सेवा के लिए बधाई देते हुए गुतारेस ने कहा कि वह एक ‘‘आदर्श और सच्ची लीडर हैं। उनकी सेवा समग्र रूप से संयुक्त राष्ट्र के लिए एक योगदान है।’’

मेजर सेन ने कहा कि आज की दुनिया में यह बहुत महत्वपूर्ण है कि महिलाएं एक-दूसरे का समर्थन करें और समाज में व्याप्त भेदभाव से लड़ें। उन्होंने कहा, ‘‘साथ ही पुरुषों के लिए भी हर क्षेत्र में महिलाओं, महिलाओं के नेतृत्व का समर्थन करना बहुत महत्वपूर्ण है।’’ गौरतलब है कि अभी संयुक्त राष्ट्र के लिए काम करने वाली महिला सैन्य शांतिरक्षकों में भारत का 11वां सबसे बड़ा योगदान है।