ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशकौन हैं पांच बार के मुख्यमंत्री को हराने वाले लक्ष्मण? इस शख्स ने बांधा पटनायक का बोरिया-बिस्तर

कौन हैं पांच बार के मुख्यमंत्री को हराने वाले लक्ष्मण? इस शख्स ने बांधा पटनायक का बोरिया-बिस्तर

बाग (48) ने कांटाबांजी सीट पर 16,344 वोटों से जीत दर्ज की, जो पांच बार मुख्यमंत्री रहे पटनायक के लिए बड़ा झटका है। पटनायक ने दो सीटों से चुनाव लड़ा था और वह हिंजिली सीट पर 4,636 वोटों से जीते।

कौन हैं पांच बार के मुख्यमंत्री को हराने वाले लक्ष्मण? इस शख्स ने बांधा पटनायक का बोरिया-बिस्तर
who is laxman bag who defeated five-time chief minister patnaik expressed gratitude to the public
Amit Kumarपीटीआई,भुवनेश्वरWed, 05 Jun 2024 10:12 PM
ऐप पर पढ़ें

ओडिशा में पांच बार के मुख्यमंत्री एवं बीजद प्रमुख नवीन पटनायक को बोलांगीर जिले की कांटाबांजी विधानसभा सीट से हराने वाले भाजपा नेता लक्ष्मण बाग रातोंरात राज्य में एक जाना-पहचाना नाम बन गए। बाग (48) ने कांटाबांजी सीट पर 16,344 वोटों से जीत दर्ज की, जो पांच बार मुख्यमंत्री रहे पटनायक के लिए बड़ा झटका है। पटनायक ने दो सीटों से चुनाव लड़ा था और वह हिंजिली सीट पर 4,636 वोटों से जीते। 

वर्ष 1998 में अस्का के सांसद के रूप में सार्वजनिक जीवन में प्रवेश करने के बाद यह पटनायक की पहली चुनावी हार है। बाग ने जीत के बाद कहा, ''मैं कांटाबांजी के लोगों को धन्यवाद देता हूं कि उन्होंने नवीन पटनायक के बजाय मुझे तरजीह दी। मैं लोगों की आकांक्षाओं पर खरा उतरने की कोशिश करूंगा।'' 

उन्होंने कहा, ''भले ही वह मुख्यमंत्री थे, लेकिन मुझे जनता पर पूरा भरोसा था। मैंने जीतने के लिए पूरी लगन से लड़ाई लड़ी और सफलता मिली।'' बाग ने कहा कि उनके लिए सबसे बड़ा मुद्दा क्षेत्र में रोजगार की कमी है, जिसके कारण लोग अन्यत्र पलायन करने को मजबूर हैं। अपने चुनावी हलफनामे में बाग ने बताया है कि वह दसवीं पास हैं। उन्होंने खुद को किसान बताया है। उनके खिलाफ 12 आपराधिक मामले दर्ज हैं।

नवीन पटनायक ने ओडिशा के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिया

बीजू जनता दल (बीजद) के अध्यक्ष नवीन पटनायक ने ओडिशा में अपने 24 साल के शासन का अंत करते हुए राज्य विधानसभा चुनावों में पार्टी की हार के बाद बुधवार को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया। सूत्रों ने बताया कि पटनायक ने राज भवन में राज्यपाल रघुबर दास को अपना इस्तीफा पत्र सौंपा। पटनायक के आवास पर बीजद के कई नेता एकत्रित हुए थे लेकिन वह अपना इस्तीफा देने अकेले ही राज्यपाल के आवास गए।

बीजद अध्यक्ष ने बाहर इंतजार कर रहे पत्रकारों की ओर हाथ हिलाकर उनका अभिवादन किया और अपना इस्तीफा पत्र सौंपने के बाद राज भवन से निकल गए। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने ओडिशा में 147 विधानसभा सीटों में से 78 सीटें जीतकर सत्ता पर कब्जा जमा लिया है जबकि बीजद केवल 51 सीटें जीत पायी। कांग्रेस ने 14 सीट और मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) ने एक सीट जीती है जबकि तीन निर्दलीय उम्मीदवार भी विजयी साबित हुए। नतीजों की घोषणा मंगलवार को की गई। पटनायक ने पहली बार पांच मार्च 2000 को ओडिशा के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी।