DA Image
31 अक्तूबर, 2020|9:58|IST

अगली स्टोरी

सफेद कुत्ता भी मुंबई की इस नदी में जाने के बाद हो जाता है नीला

कसाड़ी नदी में प्रदूषण: कुत्ते का रंग हुआ नीला

मुंबई में एक अजीब सी घटना देखने को मिल रही है। मुंबई के कई कुत्तों का रंग नीला हो गया है। कुत्तों के शरीर का रंग बदल रहा है। ऐसा मुख्य रूप से तलोजा औद्योगिक क्षेत्र के कुत्तों के साथ हो रहा है। ऐसा माना जा रहा है कि यह सब कसाड़ी नदी में बह रहे औद्योगिक अपशिष्ट की वजह से हो रहा है। कुत्ते अक्सर खाने की खोज में नदी में उतरते हैं और वहीं से यह रंग उनके फर पर चढ़ रहा है।

इस जानकारी के सामने आने के बाद नवी मुंबई पशु संरक्षण सेल ने बुधवार को ऐसे ही एक कुत्ते की तस्वीरें लीं और फिर गुरुवार को इस बात की शिकायत महाराष्ट्र प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड में की गई। बता दें कि इस क्षेत्र में करीब 1000 दवा, खाद्य और इंजीनियरिंग कारखाने हैं।

नवी मुंबई एनिमल प्रोटेक्शन सेल की आरती चौहान ने कहा कि यह बेहद चौंकाने वाली घटना है। हमने ऐसे 5 कुत्तों को देखा है जिनके फर का रंग बदल गया है। हमने ऐसे उद्योगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है। विशेषज्ञों की मानें तो यह इंसानों के लिए भी बेहद खतरनाक साबित हो सकता है। मछुआरों ने भी 2016 में इस बात की चिंता व्यक्त की थी कि प्रदूषित नदी का पानी मछलियों को प्रभावित कर रहा है।

इस नदी में क्लोराइड का स्तर बहुत अधिक पाया गया। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के निर्देशों की मानें तो जब बीओडी का स्तर 6 मिलीग्राम/एल से ऊपर हो जाता है तो मछलियां मर जाती हैं। वहीं जब यह आंकड़ा 3 तक पहुंचता  है तो यह पानी इंसानों के इस्तेमाल करने लायक नहीं रह जाता। इस क्षेत्र में प्रदूषण का स्तर 13 गुना अधिक पाया गया है।

लोकल फिशिंग कम्युनिटी के एक सदस्य योगेश पगड़े ने बताया कि पिछले कुछ समय में कसाड़ी नदी की बदबू कुछ कम ह्युई है लेकिन प्रदूषण का स्तर बढ़ गया है और ऑक्सीजन की मात्रा खत्म हो गई है।   

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:white dogs turn blue near polluted kasadi river in mumbai