ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ देशआखिर यह ‘उड़ता ताबूत’ कब हमारे बेड़े से हटेगा? वरुण गांधी का मोदी सरकार से सवाल

आखिर यह ‘उड़ता ताबूत’ कब हमारे बेड़े से हटेगा? वरुण गांधी का मोदी सरकार से सवाल

मिग -21 ट्रेनर विमान दुर्घटना को लेकर भाजपा सांसद वरुण गांधी ने विमान को "उड़ता हुआ ताबूत" कहा और मोदी सरकार से पूछा कि इन पुराने जेट विमानों को वायुसेना के बेड़े से कब हटाया जाएगा।

आखिर यह ‘उड़ता ताबूत’ कब हमारे बेड़े से हटेगा? वरुण गांधी का मोदी सरकार से सवाल
Gaurav Kalaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीFri, 29 Jul 2022 08:49 PM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान के बाड़मेर में भारतीय वायु सेना के दो पायलटों के मिग -21 ट्रेनर विमान दुर्घटना में मारे जाने के एक दिन बाद भाजपा सांसद वरुण गांधी ने विमान को "उड़ता हुआ ताबूत" कहा और मोदी सरकार से पूछा कि इन पुराने जेट विमानों को वायुसेना के बेड़े से कब हटाया जाएगा।

दरअसल, गुरुवार रात को राजस्थान के बाड़मेर के पास एक प्रशिक्षण उड़ान के दौरान दो सीटों वाले मिग-21 ट्रेनर विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने से गुरुवार रात दो पायलटों की मौत हो गई थी। IAF ने मामले में बयान दिया था कि विमान उतरलाई हवाई अड्डे से उड़ान भर रहा था और दुर्घटना रात करीब 9.10 बजे हुई।

मामले में भाजपा सांसद वरुण गांधी ने हिंदी में ट्वीट किया, "कल बाड़मेर में हुई घटना से पूरा देश स्तब्ध व शोकाकुल है! कुछ वर्षों से MiG-21 लगातार हादसों का शिकार हो रहा है। यह अकेला लगभग 200 पायलटों की जान ले चुका है। आखिर यह ‘उड़ता ताबूत’ कब हमारे बेड़े से हटेगा? देश की संसद को सोचना होगा, क्या हम अपने बच्चों को यह विमान उड़ाने देंगे?"

गौरतलब है कि राजस्थान के बाड़मेर में दुर्घटना में मारे गए भारतीय वायुसेना के दो पायलट विंग कमांडर एम राणा और फ्लाइट लेफ्टिनेंट अदितिया बल थे। वायुसेना के एक अधिकारी ने शुक्रवार को मीडिया को नाम जारी करते हुए बताया कि विंग कमांडर राणा हिमाचल प्रदेश के थे और फ्लाइट लेफ्टिनेंट बाल जम्मू-कश्मीर के थे।

epaper