ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशमंडल आयोग की रिपोर्ट पर राजीव गांधी ने क्या बोला था, जिस पर आज भी बरस रहे अमित शाह

मंडल आयोग की रिपोर्ट पर राजीव गांधी ने क्या बोला था, जिस पर आज भी बरस रहे अमित शाह

राजीव गांधी ने मंडल रिपोर्ट पेश किए जाने पर लोकसभा में अपनी बात रखी थी। उन्होंने कहा था कि ऐसे फैसलों से हम जातिमुक्त समाज नहीं बन सकते। यदि हमें ऐसा करना है तो फिर जातीय समीकरण बनाने से बचना होगा।

मंडल आयोग की रिपोर्ट पर राजीव गांधी ने क्या बोला था, जिस पर आज भी बरस रहे अमित शाह
Surya Prakashलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 07 Dec 2023 10:32 AM
ऐप पर पढ़ें

जम्मू-कश्मीर के लिए आरक्षण संशोधन विधेयक बुधवार को लोकसभा में पारित हो गया। इस दौरान जोरदार बहस देखने को मिली और कांग्रेस ने सवाल उठाए तो अमित शाह ने 1990 का दौर याद दिला दिया। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर में ओबीसी वर्ग को इसके जरिए अधिकार मिलेंगे तो कांग्रेस को क्या परेशानी है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने तो मंडल कमिशन का भी विरोध किया था। राजीव गांधी ने ही सदन में खड़े होकर विरोध जताया था। अमित शाह ने कहा कि पहले तो कांग्रेस ओबीसी वर्ग को लेकर गठित काका कालेलकर समिति की रिपोर्ट को दबाए बैठी रही। फिर वह मंडल कमिशन को भी रोक कर बैठी रही।

इसके बाद जब गैर-कांग्रेसी सरकार आई तो लोकसभा में राजीव गांधी ने मंडल कमिनश की रिपोर्ट पेश किए जाने का विरोध किया था। दरअसल राजीव गांधी ने 6 सितंबर, 1990 को अपने भाषण में मंडल कमिशन की रिपोर्ट को लेकर बात की थी। उन्होंने कहा था, 'डिप्टी स्पीकर सर लंबे समय के बाद देश में एक बार फिर से जातीय तनाव पैदा हुआ है। आज हम जो जातीय तनाव देख रहे हैं, वह दो स्तरों पर है। पहली लहर नेशनल फ्रंट ने जो AIGAR फॉर्मूला लागू किया है। यह पूरी तरह से जातीय समीकरण है और इसने चुनावी व्यवस्था में जातिवाद को ला दिया है।'

नेहरू ने गलती नहीं ब्लंडर किए, शाह ने गिनाईं पूर्व PM की दो भूलें तो मचा हंगामा

इसके अलावा उन्होंने इंदिरा गांधी के शासन की भी याद दिलाई और जाति मुक्त समाज की बात कही। राजीव गांधी ने कहा कि आप 1980 को याद करेंगे तो इंदिरा गांधी जी के नेतृत्व में नारा लगा था, 'ना जात पर ना पात पर।' यही नहीं इस दौरान राजीव गांधी ने जातिमुक्त समाज की ओर बढ़ने की बात भी कही थी। उन्होंने कहा था, 'सर, क्या आज भी हमारा यह लक्ष्य है कि समाज जाति से मुक्त हो? मैं उस वक्त चिंतित हो जाता हूं, जब इंद्रजीत गुप्ता का भाषण सुनता हूं। वह एक लाइन खींच देते हैं।' 

जब राजीव गांधी ने बताया था- कैसे जातिमुक्त हो सकेगा समाज

राजीव गांधी कहते हैं कि यदि आप जातिमुक्त समाज चाहते हैं तो आपको हर फैसला ऐसा लेना होगा कि जाति की बात ही न हो। हम धीरे-धीरे जातिमुक्त समाज बनने की ओर बढ़ सकें। इसके अलावा हमें ऐसा कोई भी फैसला करने से बचना चाहिए, जो हमें जातीय जड़ता वाले समाज की ओर ले जाता हो। दुर्भाग्य की बात है कि आज हम जो फैसला और जिस तरीके से ले रहे हैं, वह एक जातीय फॉर्मूला है और नुकसानदायक है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें