DA Image
हिंदी न्यूज़ › देश › चक्रवात पर मीटिंग में कराया था पीएम मोदी को इंतजार, अब ममता ने फोन करके मांगी मदद
देश

चक्रवात पर मीटिंग में कराया था पीएम मोदी को इंतजार, अब ममता ने फोन करके मांगी मदद

लाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीPublished By: Nishant Nandan
Wed, 04 Aug 2021 02:40 PM
चक्रवात पर मीटिंग में कराया था पीएम मोदी को इंतजार, अब ममता ने फोन करके मांगी मदद

पश्चिम बंगाल में बाढ़ का कहर जारी है। राज्य के कई जिलों में बाढ़ का प्रकोप इस कदर बरपा है कि लोगों के घरों में पानी भर गया है और अलग-अलग जिलों से अब तक लाखों लोग विस्थापित हो चुके हैं। बाढ़ की भयावता के बीच राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी हावड़ा जिले में बाढ़ ग्रस्त इलाके का दौरान करने पहुंचीं। यहां उन्होंने बाढ़ प्रभावित इलाके के लोगों से बातचीत भी की। इस दौरे की जो तस्वीरें सामने आई हैं उसमें नजर आ रहा है कि सीएम खुद करीब घुटने भर पानी के बीच खड़ी हैं। तस्वीरों में स्थानीय लोग और कुछ सुरक्षाकर्मी भी इसी तरह बाढ़ के पानी में खड़े नजर आ रहे हैं। ममता बनर्जी ने यहां पहुंचने के बाद लोगों से बातचीत कर उन्हें हर संभव मदद का भरोसा दिलाया है। 

इधर पश्चिम बंगाल में बाढ़ की स्थिति को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी ममता बनर्जी से बातचीत की है। इस बातचीत के बारे में पीएमओ कार्यालय की तरफ से ट्वीट कर बताया गया है कि 'प्रधानमंत्री ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से बातचीत में बाढ़ के कारणों पर चर्चा की है। राज्य के आसपास बने बांधों से पानी छोड़े जाने को लेकर भी चर्चा हुई है। प्रधानमंत्री ने ममता बनर्जी को भरोसा दिलाया है कि बाढ़ से बने हालात से निपटने के लिए वो राज्य की हर संभव मदद करेंगे। प्रधानमंत्री ने बाढ़ प्रभावित इलाकों में फंसे लोगों की कुशलता की प्रार्थना भी की है।' इस बातचीत को लेकर कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में यह भी कहा जा रहा है कि ममता बनर्जी ने डीवीसी के बांध से पानी छोड़ने शिकायत भी पीएम मोदी से की है। 

बाढ़ की विनाशलीला

आपको बता दें कि भारी बारिश के चलते दामोदर घाटी निगम के बांधों से पानी छोड़े जाने के बाद पश्चिम बंगाल के छह जिलों में आई बाढ़ की वजह से लगभग 2.5 लाख लोग विस्थापित हुए हैं। इसके अलावा मकान गिरने और विद्युत करंट लगने की घटनाओं में कम से कम 14 लोगों की मौत हुई है। बाढ़ से हावड़ा और हुगली के साथ ही पूर्ब बर्धमान, पश्चिम बर्धमान, पश्चिम मेदिनीपुर और दक्षिण 24 परगना जिले भी प्रभावित हुए हैं।

फिर हो सकती है बारिश

इधर मौसम ने कहा है कि दक्षिण बंगाल के विभिन्न जिलों में दोबारा मूसलाधार बारिश का दौर शुरू हो सकता है। दक्षिण के साथ ही उत्तर बंगाल में भी भारी बारिश का पूर्वानुमान जताया गया है। अगले 24 घंटे के दौरान उत्तर बंगाल के दार्जिलिंग, कलिंपोंग, अलीपुरद्वार, कूचबिहार और जलपाईगुड़ी जिलों में भारी बारिश के आसार हैं। कुछ इलाकों में बारिश से भूस्खलन की संभावना भी जताई गई है। 

चक्रवात पर मीटिंग में पीएम को कराया था इंतजार

आपको याद दिला दें कि इससे पहले मई के महीने में चक्रवाती तूफान यास से हुए नुकसान के आंकलन के लिए आयोजित समीक्षा बैठक में पश्चिम बंगाल की मुख्ममंत्री ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनकड़ को करीब 30 मिनट तक इंतजार कराया था। बाद में बैठक में शामिल हुई बनर्जी ने चक्रवात से राज्य को हुए नुकसान की रिपोर्ट सौंपी थी। उस वक्त कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया था कि ममता बनर्जी उस वक्त उसी परिसर में थी। इसके बाद भी वे ज्यादा देर तक वहां पर नहीं रुकी और दूसरी मीटिंग में हिस्सा लेने की बात कहकर तुरंत वहां से निकल गई थीं।

संबंधित खबरें