DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मौसम: मसूरी में पांच मिनट तक गिरे बर्फ के फाहे, कश्मीर में नए साल की पहली बर्फबारी

Ice rains lashed for five minutes in Mussoorie

मसूरी (Mussoorie) में बुधवार को दिनभर मौसम के कई रूप देखने को मिले। जहां सुबह बर्फ के फाहे गिरने से कड़ाके की ठंड हुई। वहीं दिन में चटक धूप ने गुनगुना अहसास कराया। उधर, बर्फ के फाहे गिरते देख पर्यटकों के चेहरे खिल उठे, लेकिन बर्फ नहीं टिकने से पर्यटकों में मायूसी छा गई।

मसूरी में बुधवार सुबह आसमान में काले बादल छाए रहे। इससे कड़ाके की ठंड रही। सुबह 11 बजे लाल टिब्बा के साथ ही शहर में बर्फ के फाहे गिरने लगे। हालांकि  पांच मिनट गिरने के बाद बर्फ जमीन पर नहीं टिक पाई। फाहे गिरने के कुछ देर बाद मौसम साफ हो गया। दोपहर को बादल छटे और चटख धूप खिल गई। धूप ने ठंड से निजात दिलाई, लेकिन नए साल की शुरुआत में पर्यटकों का मसूरी में बर्फ देखने का सपना अधूरा रह गया। वहीं कश्मीर घाटी में बुधवार को नए साल की पहली बर्फबारी हुई है। वहीं उत्तर भारत के बाकी हिस्सों में ठंड का कहर जारी है। 

घने कोहरे व शीतलहर ने जिले में बढ़ायी ठंड

बिहार : सामान्य के आसपास पहुंचा पटना का पारा
जनवरी का महीना शुरू हो गया, लेकिन अब तक राजधानी व अन्य शहरों में कोहरे की स्थिति नहीं बनी है। अब तक पश्चिमी विक्षोभ का कोई प्रभाव भी सूबे के मौसम पर नहीं दिखा है। हालांकि पिछले दिनों में न्यूनतम पारे में गिरावट से सूबे के लोग कड़ाके की ठंड झेल रहे। नये साल के दूसरे दिन पटना का न्यूनतम और अधिकतम पारा सामान्य के आसपास रहा। वहीं गया और पूर्णिया में पारा सामान्य से नीचे रिकॉर्ड किया गया। गया का न्यूनतम तापमान बुधवार को सामान्य से चार डिग्री कम चार डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया, जबकि अधिकतम तापमान 23.6 डिग्री सेल्सियस रहा। मौसम विज्ञान केंद्र से प्राप्त आंकड़ों के अनुसार पटना में अधिकतम तापमान 22.6 और न्यूनतम पारा 7.9 डिग्री सेल्सियस रहा। पिछले 24 घंटे में पटना के न्यूनतम पारे में मामूली बढ़ोतरी हुई है। भागलपुर का अधिकतम पारा 23.6 डिग्री सेल्सियस ओर न्यूनतम 8.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। पूर्णिया का अधिकतम पारा 25.4 और न्यूनतम तापमान 6.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। 


जनवरी के दो दिन गुजरे, कड़ाके की ठंड का एहसास तक नहीं

उत्तराखंड: मुनस्यारी में हिमपात से पूरे जिले में पड़ रही है कड़ाके की ठंड
जनपद के मुनस्यारी क्षेत्र में  भारी बर्फबारी हुई है। जिससे यहां न्यूनतम तापमान माइनस दो डिग्री सेल्सियस से नीचे पहुंच गया है। पूरे क्षेत्र में देर शांम तक बर्फबारी जारी रही। जिससे लोगों को कड़ाके की ठंड का सामना करना पड़ा। उच्च हिमालयी क्षेत्रों में बर्फबारी के बाद जिला मुख्यालय के साथ जनपद के सभी क्षेत्रों में भी लोगों को ठंड का सामना करना पड़ रहा है।
बुधवार को जिला मुख्यालय सहित पूरे जिले के अधिकांश क्षेत्रों में आसमान बादलों से ढका रहा। जिससे लोगों को कड़ाके की ठंड का सामना करना पड़ा। मुनस्यारी में सुबह 11बजे से पहले  बारिश हुई। जिसके बाद हिमपात शुरू हुआ। इस क्षेत्र में देर शांम तक बर्फबारी होते रही। मुनस्यारी में मौसमय का यह तीसरा हिमपात है। मुनस्यारी में दो इंच से अधिक बर्फ गिर चुकी है। कालामुनी में बर्फ की सफेद चारदर बिछ चुकी है। यहां चार इंच से अधिक बर्फबारी हुई है। खलिया में छह और मिलम में सात इंच से अधिक बर्फबारी हुई है।्र

बर्फीली हवाओं व कोहरे की सफेद चादर संग ठंड ने हिलाया
 
केदारनाथ धाम में दिनभर रुक-रुककर होती रही बर्फबारी
केदारनाथ में बुधवार सुबह से ही बर्फबारी का सिलसिला शुरू हो गया। दिनभर यहां रुक-रुककर बर्फ गिरती रही जिससे मौसम में काफी ठंडक हो गई है। बर्फबारी के चलते यहां तापमान भी माइनस 5 डिग्री रहा। मौसम के बदलाव के चलते केदारनाथ में पुनर्निर्माण कार्य भी बुधवार को रुके रहे। नए साल में बर्फ का दीदार करने वालों को हालांकि निचले पर्यटक स्थलों में मनमुताबिक बर्फ नहीं मिल सकी किंतु अब पर्यटकों की उम्मीदें पूरी होने की संभवनाएं पैदा हो गई है। केदारनाथ धाम में मंगलवार से ही मौसम बदलने लगा। रात को यहां मौसम बर्फबारी के लिए बनता रहा। बुधवार सुबह 7 बजे से यहां बर्फ गिरनी शुरू हुई जो रुक-रुककर दिनभर होती रही। सांय तक केदारनाथ धाम में करीब पौन फीट बर्फ जमा हो गई। केदारनाथ में कैप्टन सोबन सिंह बिष्ट ने बताया कि मंगलवार रात से मौसम ठंडा गया है। बुधवार को दिनभर बर्फ गिरती रही। उन्होंने बताया कि अब केदारनाथ में आने वाले दिनों में और भी बर्फ गिरने की संभावना है। वहीं दूसरी ओर सोनप्रयाग में बुधवार को तेज हवाएं चलती रही। अन्य ऊंचाई वालों इलाकों में भी शीतलहर चलती रही। मुख्यालय सहित अनेक क्षेत्रों में आसमान में बादल छाए रहे। मौसमी बदलाव के चलते लोगों को ठंड का सामना करना पड़ा।

किसानों पर प्रकृति की दोहरी मार, बेमौसम बारिश और ठंड ने तोड़ी कमर 

दिल्ली में ठंड से हल्की राहत
दिल्लीवालों को बुधवार सुबह ठंड से हल्की राहत मिली है। सुबह के समय न्यूनतम तापमान 6.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। यह मंगलवार से 2.5 डिग्री सेल्सियस अधिक है। वहीं, अधिकतम तापमान 23.4 डिग्री सेल्सियस रहा। मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि गुरुवार को अधिकतम तापमान 23 और न्यूनतम तापमान पांच डिग्री सेल्सियस तक रह सकता है। वहीं, शनिवार और रविवार को दिल्ली में बादल छाए रहेंगे। इस दौरान हल्की बूंदा-बांदी भी हो सकती है। इस वजह से दिन के समय तापमान में कमी आ सकती है। इस बार दिसंबर में रिकार्डतोड़ ठंड पड़ी है। बीते पचास वर्षों में यह तीसरा सबसे ठंडा दिसंबर रहा है।

देहरादून: नववर्ष की सुबह 05 साल में सबसे सर्द

झारखंड: अब पश्चिमी विक्षोभ के असर से बढ़ेगी ठंड
झारखंड में ज्यादा समय तक कड़ाके की ठंड से राहत नहीं मिलनेवाली। चार जनवरी के बाद देश के पश्चिमोत्तर भाग पर पश्चिमी विक्षोभ के दस्तक से झारखंड में ठंड बढ़ सकती है। सर्द हवाओं का रूख एक बार फिर कंपकंपा सकता है। मौसम बदलाव की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। पांच जनवरी के बाद झारखंड के आसमान में हल्के बादल छा सकते हैं। इससे न्यूनतम तापमान में फिर से गिरावट दर्ज हो सकती है।


गुलमर्ग, पहलगाम और अन्य इलाकों में हल्की बर्फबारी हुई
पर्यटकों के बीच मशहूर गुलमर्ग, पहलगाम, सोनमर्ग, पीर पांचाल पर्वत श्रृंखला और अन्य स्थानों सहित ऊंचाई वाले इलाकों में हल्की बर्फबारी हुई। गुलमर्ग में 8.8 मिलीमीटर बारिश के बराबर बर्फ गिरी। वहीं, कुपवाड़ा में 7.4 मिमी बारिश हुई। हालांकि, श्रीनगर में बर्फबारी नहीं हुई है। मौसम विभाग ने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ के चलते 4 और 5 जनवरी को घाटी में फिर से बर्फबारी होने की संभावना है। बर्फबारी से श्रीनगर समेत कई इलाकों में शीतलहर से राहत मिली है। क्योंकि गुलमर्ग को छोड़कर बाकी जगहों का न्यूनतम पारा कुछ डिग्री चढ़ा है।  कश्मीर में चिल्लई-कलां का दौर चल रहा है। यह 40 दिन का शीत ऋतु का ऐसा समय होता है जब बर्फ गिरने की सबसे अधिक संभावना रहती है और तापमान लगातार नीचे गिरता रहता है। यह दौर 31 जनवरी को समाप्त होता है। मौसम विभाग ने अगले तीन दिनों में बारिश की संभावना जाहिर की है। 

जम्मू -श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग बंद 
ताजा बर्फबारी के बाद 300 किलोमीटर लंबे जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग और मुगल रोड को बंद कर दिया गया जो जम्मू के पुंछ और राजौरी जिलों को दक्षिणी कश्मीर के शोपियां से जोड़ता है। जवाहर सुरंग और अन्य क्षेत्रों में अब भी भारी बर्फबारी हो रही है। एहतियात के तौर पर कश्मीर की ओर जाने वाले वाहनों को नगरोटा एवं उधमपुर में रोक दिया गया है। 300 से ज्यादा वाहन कई स्थानों पर फंसे हुए हैं और एजेंसियों को बर्फ हटाने के काम में लगाया गया है।      
          
हिमाचल में बर्फबारी से मार्ग अवरुद्ध होने की संभावना
हिमाचल प्रदेश में अगले एक-दो दिन में मध्यम से भारी बर्फबारी होने की संभावना है। मौसम विभाग ने बुधवार को यह जानकारी देते हुए मार्ग अवरुद्ध होने की संभावना जताई है। स्थानीय निवासियों और पर्यटकों को ऊंची पहाड़ियों पर न जाने की सलाह दी है। मौसम विभाग ने बताया, शिमला, कुल्लू, मंडी, सिरमौर, चंबा, लाहौल-स्पीति और किन्नौर जिलों की पहाड़ियों पर 4 से 6 जनवरी के बीच मध्यम से भारी बर्फबारी होने की संभावना है। इससे राज्य के दूरदराज के इलाकों में आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति और लोगों आवागमन में बाधा आ सकती है। उन्होंने कहा कि 9 जनवरी तक इस क्षेत्र में पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय रहने की संभावना है। शिमला, नारकंडा, कुफरी, डलहौजी और मनाली जैसे प्रमुख पर्यटन शहरों में हल्के से मध्यम स्तर तक बर्फबारी की संभावना है। किन्नौर जिले के कल्पा में हल्की बर्फबारी हुई। 

केलांग सबसे सर्द
यहां शून्य से 3.4 डिग्री सेल्सियस कम तापमान दर्ज किया गया। लाहौल-स्पीति जिले में केलांग राज्य का सर्वाधिक ठंडा स्थान रहा। यहां न्यूनतम तापमान शून्य से 4.6 डिग्री सेल्सियस कम दर्ज किया गया। शिमला का न्यूनतम तापमान 3.7 डिग्री सेल्सियस, जबकि मनाली का 0.6 डिग्री और धर्मशाला में 2.8 डिग्री दर्ज किया गया।

राजस्थान, पंजाब और हरियाणा में लोगों को ठंड से राहत
राजस्थान, पंजाब और हरियाणा में तापमान में वृद्धि होने से लोगों को कड़ाके की ठंड से थोड़ी राहत मिली है। राजस्थान केजयपुर में न्यूनतम तापमान 7.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। जिससे ठंड में थोड़ी राहत महसूस की गई। हालांकि, सीकर जिले के फतेहपुर में बुधवार को न्यूनतम तापमान 1.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं पंजाब और हरियाणा में कई स्थानों पर बुधवार का तापमान 7 से 9 डिग्री सेल्सियस के बीच रहा। मौसम विभाग के अधिकारियों ने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ के चलते क्षेत्र में रात के तापमान में बढ़ोतरी दर्ज की गई। वहीं, आसमान में बादल छाए रहे।  
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Weather: Ice rains lashed for five minutes in Mussoorie New Year first snowfall in Kashmir