DA Image
Thursday, December 9, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ देशकेरल में बारिश की तबाही के बीच उत्तराखंड और बंगाल में बिगड़ेगा मौसम का मिजाज; दिल्ली में भी जमकर बरसे बादल

केरल में बारिश की तबाही के बीच उत्तराखंड और बंगाल में बिगड़ेगा मौसम का मिजाज; दिल्ली में भी जमकर बरसे बादल

एजेंसियां,नई दिल्लीSudhir Jha
Sun, 17 Oct 2021 08:20 PM
केरल में बारिश की तबाही के बीच उत्तराखंड और बंगाल में बिगड़ेगा मौसम का मिजाज; दिल्ली में भी जमकर बरसे बादल

केरल में भारी बारिश से मची तबाही के बीच उत्तराखंड और बंगाल में भी मौसम का मिजाज बिगड़ने वाला है। पश्चिम बंगाल में 20 अक्टूबर तक भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है तो उत्तराखंड में भी अगले दो दिनों में भारी बारिश की चेतावनी ने डरा दिया है। सरकार ने एहतियात के तौर पर स्कूल-कॉलेज बंद कर दिए गए हैं तो पर्यटकों को जोखिम वाले इलाकों में ना जाने की सलाह दी गई है।

बंगाल में बारिश और भूस्खलन की चेतावनी
उत्तरी तेलंगाना में बने कम दबाव के क्षेत्र और बंगाल की खाड़ी से चल रही दक्षिण पूर्वी हवाओं की वजह से पश्चिम बंगाल में 20 अक्टूबर तक भारी बारिश हो सकती है। मौसम विभाग ने रविवार को यह जानकारी दी।  मौसम विभाग ने मछुआरों को मंगलवार तक समुद्र में नहीं जाने की सलाह दी है। साथ ही भारी बारिश की वजह से नदियों के जल स्तर में वृद्धि होने, निचले इलाकों में जलजमाव और दर्जीलिंग व कलीमपोंग जिलों में भूस्खलन की चेतावनी दी है। क्षेत्रीय मौसम केंद्र के उप निदेशक संजीब बंदोपाध्याय ने बताया कि राज्य के कई जिलों में लगभग कटने को तैयार धान की फसल को बारिश से नुकसान हो सकता है। 
    
दक्षिणी जिलों में मसूलाधार बारिश, हवा भी होगी तेज
बंदोपाध्याय ने बताया कि कोलकाता सहित राज्य के दक्षिणी जिलों में रविवार से मूसलाधार बारिश हो सकती है। उत्तरी बंगाल में भी सोमवार से बारिश की गतिविधियों में तेजी आएगी। मौसम विभाग ने बताया कि उत्तरी तेलंगाना पर बने कम दबाव के क्षेत्र और तेज दक्षिण पूर्वी हवाओं के प्रभाव से बुधवार तक बारिश का दौर जारी रह सकता है। विभाग ने बताया कि दक्षिण 24 परगना, पूर्वी मिदनापुर में 40 से 50 किलोमीटर प्रति घंटे और कोलकाता, नदिया, हावड़ा, उत्तर 24 परगना और पश्चिमी मिदनापुर में 30 से 40 किलोमीटर  प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं।  

उत्तराखंड में भी रेड अलर्ट
उत्तराखंड के ज्यादातर स्थानों पर रविवार तड़के शुरू हुई बारिश और उंची पहाड़ियों पर बर्फबारी से सर्दी ने दस्तक दे दी जबकि मौसम विभाग के अगले दो दिनों तक भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अधिकारियों को सतर्क रहने और पर्यटकों तथा चारधाम यात्रा पर जाने वाले श्रद्धालुओं से विशेष ध्यान रखने की अपील की है। धामी ने प्रदेश में हो रही भारी बारिश को लेकर मुख्य सचिव डॉ. एसएस संधु से स्थिति की जानकारी ली और पुलिस, एसडीआरएफ और अन्य संबंधित विभागों के कर्मचारियों को संवेदनशील स्थानों पर हाई अलर्ट पर रखने के निर्देश दिए। 

गढ़वाल और कुमाऊं से मिली सूचना के अनुसार, प्रदेश के ज्यादातर हिस्सों में सुबह से ही बारिश हो रही है। हालांकि, सरोवर नगरी नैनीताल में बारिश दोपहर बाद शुरू हुई। मौसम केंद्र ने अपने पूर्वानुमान में, रविवार को प्रदेश के अधिकांश क्षेत्रों में बारिश होने, सोमवार और मंगलवार को कई इलाकों में भारी से बहुत भारी बारिश की आशंका व्यक्त करते हुए प्रशासन से सतर्कता बरतने को कहा है। अल्मोड़ा व नैनीताल जनपद में जिला प्रशासन की ओर से एहतियाती कदम उठाये जा रहे हैं। दोनों जनपदों में स्कूलों को सुरक्षा की खातिर बंद कर दिया गया है। 

केरल में 11 जिलों के लिए येलो अलर्ट 
केरल के दो जिलों में भारी बारिश और विनाशकारी भूस्खलन में मरने वालों की संख्या रविवार को बढ़कर 18 हो गई। इस बीच राज्य में कहर बरपाने ​​के एक दिन बाद बारिश में कमी आई है।  भारत मौसम विज्ञान विभाग ने कहा कि दक्षिणपूर्वी अरब सागर तथा उससे लगते केरल पर कल बना कम दबाव का क्षेत्र अब कमजोर हो गया है। हालांकि, इस बीच मौसम विभाग ने 11 जिलों के लिए येलो अलर्ट जारी किया है। तिरुवनंतपुरम, कोल्लम, पठानमथिट्टा, कोट्टायम, अलापुझा, एर्नाकुलम, इडुक्की, त्रिशूर, पलक्कड़, मलप्पुरम और कोझीकोड जिलों के लिए अलर्ट जारी किया गया है।

दिल्ली-एनसीआर में बरसे बादल
राष्ट्रीय राजधानी में रविवार को भारी बारिश हुई, जिसके बाद शहर के कई स्थानों पर जलजमाव और यातायात की समस्या पैदा हो गई और यात्रियों को मुश्किलों का सामना करना पड़ा। मौसम कार्यालय ने आकाश में बादल छाए रहने और गरज के साथ हल्की से मध्यम बारिश का पूर्वानुमान जताया था। रविवार को अधिकतम तापमान 33 डिग्री सेल्सियस तक रहने का अनुमान है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने असमय बारिश के लिए पश्चिमी विक्षोभ को जिम्मेदार ठहराया है। विभाग ने बताया कि राष्ट्रीय राजधानी में न्यूनतम तापमान सामान्य से चार डिग्री अधिक 23.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। शहर में पिछले 24 घंटों में तीन मिलीमीटर बारिश हुई और सापेक्षिक आर्द्रता का स्तर 90 प्रतिशत दर्ज किया गया।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें