ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ देशदुनिया में हमें इस्लामोफोबिया से पहचाना जा रहा है; कई राज्यों में हुए दंगों पर बोले शशि थरूर

दुनिया में हमें इस्लामोफोबिया से पहचाना जा रहा है; कई राज्यों में हुए दंगों पर बोले शशि थरूर

सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को एक महत्वपूर्ण घटनाक्रम में, राष्ट्रीय राजधानी के हिंसा प्रभावित जहांगीरपुरी इलाके में अधिकारियों द्वारा चलाए जा रहे अतिक्रमण विरोधी अभियान पर रोक लगा दी।

दुनिया में हमें इस्लामोफोबिया से पहचाना जा रहा है; कई राज्यों में हुए दंगों पर बोले शशि थरूर
Ashutosh Rayलाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीWed, 20 Apr 2022 10:32 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

कांग्रेस नेता और सांसद शशि थरूर ने कई राज्यों में हुए दंगों को लेकर बीजेपी सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कई राज्यों में हुए दंगों को इस्लामोफोबिया करार दिया है। थरूर ने कहा कि सरकार का काम है राष्ट्र का निर्माण करना, उसे गिराना नहीं। उन्होंने इसे शर्मनाक बताते हुए कहा कि सरकार ने बड़ी संख्या में अपने नागरिकों का विश्वास खो दिया है।

शशि थरूर ने एएनआई से बात करते हुए कहा 'दुनिया भर में भारत की छवि गिरती जा रही है। मैं विदेश में अपने दोस्तों से जो कुछ भी सुनता हूं वह बहुत ही नेगेटिव है। हमें अल्पसंख्यक उत्पीड़न और इस्लामोफोबिया से पहचाना जा रहा है। हम एक समय अपने लोकतंत्र और विविधता के लिए सम्मान करते थे... भाजपा जिम्मेदार।'

'दुनियाभर में भारत की छवि गिर रही है'

थरूर ने आगे कहा, 'सरकार का काम राष्ट्र का निर्माण करना है, उसे गिराना नहीं। इस शर्मनाक आचरण से इस सरकार ने बड़ी संख्या में अपने नागरिकों का विश्वास खो दिया है। दुनियाभर में भारत की छवि गिर रही है।'

बता दें कि उत्तरी दिल्ली नगर निगम (एनडीएमसी) के अतिक्रमण विरोधी अभियान के तहत जहांगीरपुरी में बुधवार को बुलडोजर ने कई ढांचों को तोड़ दिया। लेकिन, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद कुछ ही घंटों के भीतर इस अभियान को रोक दिया गया। हालांकि, सुप्रीम कोर्ट की ओर से अधिकारियों को इसे रोकने का निर्देश दिए जाने के बाद भी अतिक्रमण विरोधी अभियान कुछ समय तक जारी रहा।

ओवैसी को जाने से रोका गया

हैदराबाद के सांसद एवं एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी को पुलिस ने जहांगीरपुरी जाने से कथित तौर पर रोक दिया, जहां बुधवार को उत्तरी दिल्ली नगर निगम ने कई अवैध निर्माण को ध्वस्त किया। उच्चतम न्यायालय ने हालांकि कुछ घंटों के भीतर ही इस कार्रवाई पर रोक लगा दी। ओवैसी हिंसा प्रभावित इलाकों में जाने की कोशिश कर रहे थे। जहांगीरपुरी में भारी संख्या में पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है। 

epaper