ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशG20 से दूर रहे पुतिन ने की मोदी की तारीफ, रूस में गिनाए गिनाए 'मेक इन इंडिया' के फायदे

G20 से दूर रहे पुतिन ने की मोदी की तारीफ, रूस में गिनाए गिनाए 'मेक इन इंडिया' के फायदे

हाल ही में संपन्न हुए G-20 शिखर सम्मेलन के दौरान पीएम मोदी ने भारत-मध्य पूर्व-यूरोप इकोनॉमिक कॉरिडोर यानी IMEC का प्रस्ताव दिया था। इसपर पुतिन की तरफ से सकारात्मक प्रतिक्रिया आई है।

G20 से दूर रहे पुतिन ने की मोदी की तारीफ, रूस में गिनाए गिनाए 'मेक इन इंडिया' के फायदे
Nisarg Dixitलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीWed, 13 Sep 2023 08:02 AM
ऐप पर पढ़ें

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने भारत और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नीतियों की जमकर तारीफ की। मंगलवार को व्लादिवोस्तोक में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान पुतिन ने स्वदेशी ऑटोमोबाइल का इस्तेमाल करने की बात पर जोर दिया। साथ ही उन्होंने कहा कि भारत ने पहले ही पीएम मोदी के नेतृत्व में अपनी नीतियों के जरिए उदाहरण पेश कर दिया है। इस दौरान पुतिन ने खासतौर से 'मेक इन इंडिया' को सराहा।

8वें ईस्टर्न इकोनॉमिक फोरम में शामिल हुए पुतिन ने कहा, 'तब हमारे पास घरेलू स्तर पर तैयार कारें नहीं थीं, लेकिन अब हैं। यह सच है कि वह मर्सिडीज या ऑडी कारों की तुलना में सामान्य नजर आती हैं, जिन्हें हमने 90 के दशक में बड़ी संख्या में खरीदा था। लेकिन अब यह मुद्दा नहीं है। मुझे लगता है कि हमें हमारे कई साझेदारों की तरह काम करना चाहिए, जैसे की भारत। वे उत्पादन और भारत में बनाए हुए वाहनों के इस्तेमाल पर ध्यान लगा रहे हैं। मुझे लगता है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मेक इन इंडिया प्रोग्राम का प्रचार कर सही काम कर रहे हैं। वह सही हैं।'

नए कॉरिडोर पर भी दी प्रतिक्रिया
हाल ही में संपन्न हुए G-20 शिखर सम्मेलन के दौरान पीएम मोदी ने भारत-मध्य पूर्व-यूरोप इकोनॉमिक कॉरिडोर यानी IMEC का प्रस्ताव दिया था। इसपर पुतिन की तरफ से सकारात्मक प्रतिक्रिया आई है। उनके अनुसार, इस कॉरिडोर में ऐसा कुछ नहीं है, जो रूस को प्रभावित करे, साथ ही यह रूस के लिए फायदेमंद भी होगा।

उन्होंने कहा कि IMEC लॉजिस्टिक्स के क्षेत्र में रूस के विकास में फायदेमंद होगा। उन्होंने बताया कि इसे लेकर लंबे समय से चर्चाएं जारी थीं। पुतिन ने कहा, 'मुझे लगता है कि इससे हमारा सिर्फ फायदा ही होगा। मुझे लगता है कि यह हमें लॉजिस्टिक्स का विकास करने में मददगार होगा। इस प्रोजेक्ट पर कई सालों से चर्चाएं हो रही थीं।'

शनिवार को भारत, अमेरिका, सऊदी अरब और यूरोपीय संघ ने समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं, जिसके तहत एक बड़ा शिपिंग और रेलवे कॉरिडोर तैयार किया जाएगा।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें