DA Image
2 दिसंबर, 2020|1:24|IST

अगली स्टोरी

कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन: केंद्रीय मंत्री वीके सिंह बोले- कई किसानों जैसे नहीं दिखते, विरोध के पीछे कमीशन खाने वाले और विपक्षी

                                                                                                                              ap

केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के जारी विरोध प्रदर्शन के बीच केंद्रीय मंत्री वीके सिंह ने मंगलवार को कहा है कि प्रदर्शन करने वालों में कई किसान नहीं दिखते हैं। वीके सिंह ने विपक्ष पर आरोप लगाया कि वह किसानों के आंदोलन के पीछे है। मालूम हो कि हरियाणा, पंजाब आदि के किसान पिछले कई दिनों से लगातार नए कृषि कानूनों का विरोध करते हुए आंदोलन कर रहे हैं। केंद्रीय मंत्री वीके सिंह के बयान के बाद सियासी घमासान भी शुरू हो गया है। आम आदमी पार्टी ने वीके सिंह के बयान का विरोध दर्ज करते हुए निशाना साधा है।

केंद्रीय मंत्री वीके सिंह ने किसान आंदोलन पर कहा, ''तस्वीरों में कई लोग किसान नहीं दिखते हैं। जो भी किसानों के हित में है, वह उनके लिए किया गया है। वे किसान नहीं हैं, जिन्हें कृषि कानूनों से समस्या है। वे अन्य लोग हैं। इसमें विपक्ष के साथ-साथ उन लोगों का हाथ है, जिन्हें कमीशन मिलता है।''

आम आदमी पार्टी ने साधा निशाना

वीके सिंह के बयान के बाद आम आदमी पार्टी ने उन पर हमला बोला है। वीके सिंह के कॉमेंट वाले ट्वीट का जवाब देते हुए आम आदमी पार्टी ने लिखा है कि क्या उन्हें बैलों के साथ आना चाहिए। 'आप' ने ट्वीट किया, ''क्या उन्हें किसानों की तरह दिखने के लिए हल और बैलों के साथ आना चाहिए?'' मालूम हो कि आम आदमी पार्टी किसानों के आंदोलन के समय उनके साथ खड़ी रही है। वह भी केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों के खिलाफ बोलती रही है। हाल ही में दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने दिल्ली पुलिस की कुछ मैदानों को अस्थायी जेल में बदलने की मांग को भी खारिज कर दिया था।

किसान-सरकार की बैठक रही बेनतीजा

केंद्र सरकार के तीन मंत्रियों ने किसान संगठन के 35 नेताओं के साथ मंगलवार को बातचीत की। इस बैठक में कोई भी हल नहीं निकल सका है। इन मसलों पर तीन दिसंबर को होने वाली अगले दौर की बातचीत में विचार किया जाएगा। विज्ञान भवन में हुई बैठक में मंत्रियों ने किसान संगठनों के प्रतिनिधियों को कृषि सुधार कानूनों के लाभ के बारे में जानकारी दी। इन कानूनों से जुड़े विभिन्न मुद्दों पर सौहार्दपूर्ण माहौल में विस्तार से चर्चा की गई। बैठक के बाद केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि सरकार किसानों के कल्याण के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध है और कृषि विकास हमेशा से शीर्ष प्राथमिकता रही है। उन्होंने कहा, ''बैठक अच्छी रही है और हमने फिर से 3 दिसंबर को बातचीत करने का फैसला लिया है।''

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:VK Singh says many dont like farmers opposition are behind farmer protests on new farm bills