DA Image
16 फरवरी, 2020|5:57|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विश्व हिंदू परिषद की केंद्र से मांग, रामजन्मभूमि न्यास को मिले राम मंदिर निर्माण का जिम्मा

vhp

विश्व हिंदू परिषद के माघ मेला स्थित शिविर में सोमवार को आयोजित मार्गदर्शक मंडल की बैठक में संतों ने रामजन्मभूमि न्यास को राम मंदिर निर्माण की जिम्मेदारी देने की मांग सरकार से की। अनुमान लगाया जा रहा था कि इस बैठक में संत मंदिर निर्माण का तरीख घोषित कर सकते हैं। लेकिन संतों ने तय किया कि 9 फरवरी तक ट्रस्ट बनाने का समय शीर्ष अदालत ने दिया है। ट्रस्ट बनने के बाद ही मंदिर निर्माण की तारीख घोषित की जाएगी। 

बैठक में वक्ताओं ने दोहराया कि मंदिर उनके मॉडल पर और उनके तराशे पत्थरों से ही बनाया जाए। जिन लोगों ने मंदिर के लिए संघर्ष किया और लाठियां खाईं उनकी उपेक्षा न हो। 25 मार्च चैत्र प्रतिपदा से हनुमान जयंती 8 अप्रैल तक रामोत्सव मनाया जाएगा। जिन 3.5 लाख गांवों से पूजित रामशिलाएं लाई गईं वहां राममंदिर के मॉडल को रथ पर रखकर शोभायात्रा निकालेंगे।

ये भी पढ़ें: बाबरी मस्जिद निर्माण को एक इंच जमीन नहीं देनी चाहिए : शंकराचार्य

स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती की अध्यक्षता में आयोजित पहले सत्र में विहिप के महामंत्री मिलिंद परांदे ने प्रस्तावना रखी। दूसरे सत्र की अध्यक्षता संत समिति के अध्यक्ष अविचल दास ने की। महामंडलेश्वर अखिलेश्वरानंद ने बताया कि रामजन्मभूमि न्यास को मंदिर निर्माण का जिम्मा देने के लिए सरकार से अनुरोध किया गया है। 

बैठक में महामंडलेश्वर हरिहरानंद, प्रज्ञा भारती, परमानंद महाराज, महंत फुलडोल महाराज, सुरेशदास महाराज, डॉ. रामेश्वरदास महाराज, विहिप के कार्यकारी अध्यक्ष आलोक कुमार, केंद्रीय प्रबंध समिति के सदस्य दिनेश चन्द्र, अंबरीश सिंह, अशोक तिवारी आदि रहे। संचालन केंद्रीय उपाध्यक्ष जीवेश्वर मिश्र ने किया।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:vishwa hindu parishad says to central government let Ram Janmabhoomi Nyas to build ram mandir