अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

MP ने कहा बंदरों से परेशान हूं तो उपराष्ट्रपति बोले मैं भी दुखी हूं, समाधान बताएं

वैंकेया नायडू

राज्यसभा में आज एक सदस्य ने जब राजधानी के विभिन्न हिस्सों में बंदरों के खतरे का मुद्दा उठाया तो सभापति एम वेंकैया नायडू ने कहा कि उपराष्ट्रपति भवन में भी बंदरों का खतरा है, समाधान बताएं। इनेलो के राम कुमार कश्यप ने शून्यकाल में यह मुद्दा उठाते हुए कहा कि राजधानी के विभिन्न हिस्सों में बंदरों का खतरा है। 

राज्यसभा में इंडियन नेशनल लोकदल के रामकुमार कश्यप ने कहा कि दिल्ली में बंदरों की समस्या इतनी बढ़ गई है कि गीले कपड़े बाहर सुखाना मुश्किल हो गया है। बंदर या तो कपड़े फाड़ देते हैं या लेकर भाग जाते हैं। ये बंदर न केवल आम लोगों पर हमला कर उन्हें घायल कर देते हैं बल्कि लगाए गए नए पौधों को नोंच कर फेंक देते हैं और पेड़ों को नुकसान पहुंचाते हैं।  

उन्होंने कहा कि एक संसद सदस्य को एक समिति की बैठक में जाने के लिए केवल इस वजह से देर हुई क्योंकि बंदरों ने उन पर हमला कर दिया था। उनके बेटे पर भी बंदरों ने हमला किया था। इस पर नायडू ने कहा कि उपराष्ट्रपति का आधिकारिक निवास भी इस समस्या से अछूता नहीं रहा है। वहां भी बंदरों का खतरा है। यह समस्या वहां भी है। 
मायावती बोलीं- सम्मानजनक सीटें मिलीें तो ही कांग्रेस से गठबंधन

नायडू ने हल्के फुल्के अंदाज में पशु अधिकार कार्यकर्ता और केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी का जिक्र करते हुए कहा कि मेनका गांधी यहां नहीं हैं। इस पर सदन में मौजूद सदस्य मुस्कुरा उठे। नायडू ने संसदीय कार्य राज्यमंत्री विजय गोयल से कहा कि दिल्ली में बंदरों के खतरे को लेकर कोई समाधान तो निकालना ही होगा। 
मराठा आरक्षण आंदोलन हुआ उग्र: पढ़ें अब तक के दस बड़े अपडेट्स

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Vice President Venkaiah Naidu Facing Trouble because of Monkeys in Delhi Says in rajya sabha