Versova autorickshaw driver Mohammad Saeed - मानवता की जीत: गोद में बेटे को लेकर रिक्शा चलाने वाले की मदद के लिए आए लोग DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मानवता की जीत: गोद में बेटे को लेकर रिक्शा चलाने वाले की मदद के लिए आए लोग

मायानगरी मुंबई की सड़कों पर दो साल के बेटे को गोद में लेकर ऑटो रिक्शा चलाने वाले ड्राइवर की मदद के लिए मुंबईकरों ने अपने बटुए का मुंह खोल दिया है। दरअसल 26 वर्षीय मोहम्मद सईद की पत्नी को लकवा मार दिया है और वह अस्पताल में भर्ती है और इलाज के लिए पैसों की जरूरत के मद्देनजर बेटे को गोद में लेकर ऑटो रिक्शा चलाने को मजबूर है। 

सईद की दास्ता से रूबरू होकर एक फिल्म निर्देशक ने उसकी तस्वीर सोशल मीडिया पर साझा कर लोगों से मदद की अपील की। साथ ही उसका बैंक खाते की जानकारी भी साझा की। इसके बाद से कई गैर सरकार संगठनों और लोगों ने आर्थिक मदद की पेशकश की है। सोमवार को बैंक अधिकारियों ने सईद को फोन कर बताया कि उसके खाते में पैसे जमा हुए हैं।

सईद ने कहा कि उसके खाते में कुछ पैसे जमा हुए है, लेकिन कितनी राशि जमा हुई है यह जानकारी नहीं है। कई लोगों ने भी व्यक्तिगत रूप से फोन कर मदद की पेशकश की है। डॉक्टरों ने भी मुफ्त इलाज का भरोसा दिलाया है। सईद ने कहा, मुझे मुंबई और खुद पर भरोसा है। मैंने कभी किसी को धोखा नहीं दिया। मैं लोगों का शुक्रगुजार हूं। 

कई राते भूखे पेट सोया 
सईद ने कहा, मैं मुश्किल दौर से गुजर रहा हूं। मेरी एक तीन महीने की बेटी है, जिसकी देखभाल पड़ोसी कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि मैं गोद में लेकर ऑटो रिक्शा चलाता हूं। शुरुआत में गोद में बेटे को देख अन्य रिक्शा ले लेते और कई खाली हाथ ही मुझे घर वापस जाना पड़ता। इस प्रकार कई राते खाली पेट गुजरी। 
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Versova autorickshaw driver Mohammad Saeed