DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सरकार बनने के दो साल बाद योगी आदित्यनाथ मंत्रिमंडल का विस्तार आज, शामिल होंगे 20 से 22 नए चेहरे

yogi adityanath  chief minister  uttar pradesh

उत्तर प्रदेश मंत्रिपरिषद का विस्तार बुधवार को सुबह 11 बजे होगा। राजभवन ने इसकी पुष्टि कर दी है। मंत्रिपरिषद में 20 से 22 नए चेहरों को शपथ दिलाई जाएगी। विस्तार के मद्देनजर वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल ने इस्तीफा दे दिया है। छह अन्य मंत्रियों के भी इस्तीफा देने की चर्चा है। हालांकि अभी इसकी पुष्टि नहीं हुई है। विस्तार में चार मंत्रियों का कद बढ़ाया भी जा सकता है। सरकार बनने के करीब सवा दो साल बाद यह भाजपा सरकार का पहला विस्तार होगा।

समन्वय बैठक में लगी नामों पर मुहर
मंगलवार को आरएसएस, सरकार और पार्टी संगठन में समन्वय बैठक होने के चलते मंत्रिपरिषद विस्तार को बल मिला। माना जा रहा है कि किस मंत्री को हटाना है और किसे शामिल करना है, इस पर समन्वय बैठक में ही अंतिम मुहर लगी। इसी के साथ यह तय हो गया कि बुधवार को मंत्रिपरिषद विस्तार होगा। प्रदेश सरकार ने दोपहर बाद मंत्रिपरिषद विस्तार की पुष्टि कर दी और राजभवन में शपथ ग्रहण की तैयारियां शुरू कर कार्ड बांटने शुरू कर दिए। सचिवालय प्रशासन ने नए मंत्रियों के कमरों और विभाग आदि की व्यवस्था का काम शुरू कर दिया।  इससे पहले रविवार को भी विस्तार की चर्चा थी लेकिन देर रात अचानक इसे टाल दिया गया।

सबसे पहले राजेश अग्रवाल ने दिया इस्तीफा
मंगलवार को दोपहर करीब ढाई बजे वित्तमंत्री राजेश अग्रवाल ने इस्तीफा मुख्यमंत्री को भेज दिया। उन्होंने इसका कारण बताते हुए कहा कि वह 75 वर्ष के हो गए हैं, लिहाजा पार्टी की नीति और नियम के मुताबिक वह इस्तीफा दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि वह पार्टी के लिए काम करते रहेंगे। उनका पत्र सोशल मीडिया पर वायरल हो गया।

इन्हें मिल सकती है जगह
मंत्रिपरिषद में जगह पाने वालों में जिनके नाम प्रमुख रूप से चर्चा में हैं, उनमें एमएलसी अशोक कटारिया,फतेहपुर सीकरी से विधायक चौधरी उदयभान सिंह, एमएलसी विद्या सागर सोनकर, मुजफ्फरनगर से कपिल देव अग्रवाल, कानपुर से नीलिमा कटियार, रायबेरली से दल बहादुर कोरी, अपना दल की मुखिया अनुप्रिया पटेल के पति आशीष पटेल,  सिद्धार्थनगर इटवा के विधायक सतीश द्विवेदी, संतकबीरनगर के घनघटा से श्रीराम चौहान, चौराचौरी गोरखपुर से संगीता यादव, आगरा कैंट से डा. जीएस धर्मेश, बरेली भोजीपुरा से बहोरन लाल मौर्य, तिंदवारी से ब्रजेश प्रजापति, लखनऊ से नीरज बोरा, एमएलसी यशवंत सिंह और बुंदेलखंड से झांसी नगर के विधायक रवि शर्मा के नाम शामिल हैं। पश्चिमी उत्तर प्रदेश से आरएलडी से भाजपा में आए सहेंद्र सिंह 'रमाला' व साहिबाबाद से सुनील शर्मा को जगह मिल सकती है। वहीं फर्रुखाबाद से सुशील कुमार शाक्य व सुनील दत्त द्विवेदी में से किसी एक को लिया जा सकता है।

इनका बढ़ सकता है कद
राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार डा. महेंद्र सिंह, गन्ना विकास राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार सुरेश राणा, भूमि विकास मंत्री स्वतंत्र प्रभार उपेंद्र तिवारी और अनिल राजभर का भी कद बढ़ाया जा सकता है। इनको कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ दिलाई जा सकती है। इसी के साथ विवादों में रहे कई मंत्रियों के विभागों में फेरबदल किए जाने का भी फैसला किया गया है।

अभी हैं 42 मंत्री, हो सकते हैं 60
प्रदेश मंत्रिपरिषद में अभी 42 मंत्री है। विस्तार के बाद इसकी संख्या 60 तक हो सकती है। वैसे वर्ष 2017 में सरकार गठन के बाद ही कई बार कयास लगाए जाते रहे कि विस्तार होगा। वजह थी कि पार्टी के कुछ वरिष्ठ नेताओं को चुनाव जीतने के बाद भी मंत्रिपरिषद में जगह नहीं मिल सकी थी। मंत्रिपरिषद में 45 जिलों का प्रतिनिधित्व भी नहीं था। लोकसभा चुनाव 2019 होने के बाद से इस विस्तार की संभावना जताई जा रही थी। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Uttar Pradesh Cabinet Expansion Today 20 To 22 New Face Likely To Join Cabinet