Uttar Pradesh Amroha Ex SDM campaign For Plant - शर्त: जमानत चाहिए या निपटाना हो विवाद, पहले लगाओ पौधे DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शर्त: जमानत चाहिए या निपटाना हो विवाद, पहले लगाओ पौधे

uttar pradesh amroha

शहर से करीब बीस किलोमीटर दूर स्थित नौगावां सादात तहसील का दफ्तर पहली बार पहुंचने वालों के लिए किसी अजूबे से कम नहीं है। परिसर में घुसते ही चारो ओर बिखरी हरियाली और आंखों को चुभने वाले गाढ़े पीले सरकारी भवनों से इतर यहां दिवारों पर लगीं पेड़-पौधों की तस्वीरें एक अलग तरह का सुकून देती हैं। दफ्तर की भीतरी दीवारें भी किसी प्रेरक किताब की तरह कहीं पेड़ लगाने की शिक्षा देती हैं तो कहीं पानी बचाने की। ऐसा मुमकिन हो पाया है नौगावां सादात के पूर्व एसडीएम और अब मंडी धनौरा के एसडीएम मांगेराम चौहान के कारण।

नौगावां सादात में अपने करीब आठ महीने के कार्यकाल में एसडीएम मांगेराम चौहान ने करीब सात हजार पेड़ लगवा दिए, वह भी लोगों के सहयोग से। पौधे लगवाने की उनकी शर्त भी अनूठी थी। दफ्तर में किसी भी काम से आने वाले व्यक्ति के लिए शर्त थी कि काम कराने से पहले वह पौधे लगाने और उसकी रक्षा का संकल्प ले। जितना बड़ा काम, उतने अधिक पौधे।

इतना ही नहीं विकास योजनाओं से जुड़े काम के लिए आने वालों को भी पौधरोपण और उनके संरक्षण की शपथ भी दिलाते रहे। इस काम में अधिक से अधिक लोग जुड़ें,  इसके लिए उन्होंने  गांव-गांव में समितियां भी बनाईं। यही कारण है कि बीते माह उनके मंडी धनौरा स्थानांतरण के बाद भी उनकी मुहिम नहीं रुकी है। नए एसडीएम भी इस व्यवस्था को जारी रखना चाहते हैं। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Uttar Pradesh Amroha Ex SDM campaign For Plant