DA Image
हिंदी न्यूज़ › देश › अमित शाह ने गोवा में पूर्ण बहुमत मिलने का भरा दंभ, कांग्रेस, AAP और TMC की चुनौती से कैसे निपटेगी बीजेपी?
देश

अमित शाह ने गोवा में पूर्ण बहुमत मिलने का भरा दंभ, कांग्रेस, AAP और TMC की चुनौती से कैसे निपटेगी बीजेपी?

लाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीPublished By: Nishant Nandan
Thu, 14 Oct 2021 03:29 PM
अमित शाह ने गोवा में पूर्ण बहुमत मिलने का भरा दंभ, कांग्रेस, AAP और TMC की चुनौती से कैसे निपटेगी बीजेपी?

अगले साल जिन 5 राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं, उनमें गोवा भी शामिल है। बुधवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर दिल्ली स्थित अपने वॉर रूम में इन चुनावों पर मंथन किया था। इस बैठक की अध्यक्षता केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने की थी। अब गुरुवार को गोवा पहुंचे अमित शाह ने भरोसा जताया है कि गोवा में भारतीय जनता पार्टी पूर्ण बहुमत लाने मे कामयाब रहेगी। गोवा में अभी भाजपा की ही सरकार है और अमित शाह ने भरोसा जताया है कि अगले साल राज्य में भाजपा की फिर वापसी होगी। 

अमित शाह ने कहा कि गोवा और केंद्र में बीजेपी की डबल इंजन वाली सरकार राज्य के विकास में मदद करेगी। साउथ गोवा के धरबोन्द्रा गांव में नेशनल फॉरेंसिक साइंसेज यूनिवर्सिटी की आधारशिला रखते हुए  केंद्रीय मंत्री ने यह बात कही। उन्होंने यहां यह भी कहा कि 15 नवंबर से राज्य में टूरिज्म के लिए चार्ट्ड फ्लाइट का आना शुरू हो जाएगा। 

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा, 'गोवा में बीजेपी पूर्ण बहुमत की सरकार बनाएगी। हालांकि, अभी चुनाव में समय है। लेकिन मैं गोवा के लोगों से अपील करना चाहूंगा कि वो मानसिक रूप से तैयारी कर लें कि उन्हें केंद्र में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली बीजेपी को ही राज्य की नई सरकार के तौर पर चुनना है।' 

अमित शाह ने आगे कहा कि यह डबल इंजन की सरकार राज्य का आगे भी विकास करेगी। गोवा में इस बार कई पार्टियां चुनावी दंगल में उतरेंगी। विपक्षी पार्टी कांग्रेस के अलावा, ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली टीएमसी, अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व वाली आम आदमी पार्टी और शिवसेना ने भी 40 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारने का फैसला किया है। 

बता दें कि साल 2017 में यहां हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने 17 सीटें जीती थीं और राज्य में सबसे ज्यादा सीटें जितने वाली पार्टी बनगकर उभरी थी। जबकि बीजेपी को 13 सीटें मिली थीं। लेकिन भाजपा ने यहां कि कुछ क्षेत्रीय पार्टियों से हाथ मिला कर अपनी सरकार बना ली थी। अमित शाह ने गोवा में प्रमोद सावंत के नेतृत्व वाली सरकार की प्रशंसा करते हुए कहा कि इस सरकार ने बेहतरीन काम करते हुए सभी योग्य लोगों को कोविड-19 से लड़ने वाली वैक्सीनेशन की पहली डोज दी है। उन्होंने उनसे अपील की है कि राज्य में जल्द ही वैक्सीन के दूसरे डोज के काम को भी पूरा कर लिया जाए। 

TMC बिगाड़ेगी खेल?

हालांकि भले ही भाजपा नेता गोवा में पूर्ण बहुमत लाने की दंभ भर रहे हैं लेकिन उनके लिए यहां यह काम इतना आसान भी नहीं। पश्चिम बंगाल में भाजपा का खेल बिगाड़ने वाली ममता बनर्जी की पार्टी टीएमसी भी गोवा में खुद को मजबूत करने की कोशिशों में जुटी है। राज्य में पार्टी का विस्तार करने के अलावा राज्य के पूर्व सीएम लुइजिन्हो फलेइरो को टीएमसी में शामिल करा ममता की पार्टी ने वहां अपनी धमक दिखा दी है। यह भी कहा जा रहा है कि खुद ममता बनर्जी भी गोवा के चुनाव प्रचार में उतरेंगी। 

AAP के लोक-लुभावन वादे

टीएमसी के अलावा यहां आम आदमी पार्टी भी पूरे जोश-खरोश के साथ चुनावी ताल ठोंकने को बेकरार है। पार्टी लंबे समय से यहां खुद को मजबूत करने में जुटी थी। सत्ता में आने पर प्राइवेट सेक्टर में 80 फीसदी नौकरियां स्थानीय लोगों को देने, बिजली, पानी मुफ्त देने समेत कई वादे कर केजरीवाल पहले ही गोवा का सियासी तापमान बढ़ा चुके हैं। 

कांग्रेस है तैयार

पिछली बार बहुमत मिलने के बावजूद राज्य में सरकार बनाने में कांग्रेस चूक गई थी। पार्टी ने गोवा में चमत्कार करने की जिम्मेदारी अपने मंझे हुए नेता पी चिंदबरम को दी है। पार्टी ने अपनी पिछली गलतियों से सीख लेते हुए शायद इस बार चुनाव के बाद विधायक दल नेता के चुनाव की गलती नहीं करेगी और इसका फैसला चुनाव से पूर्व ही कर लिया जाएगा। 

संबंधित खबरें