DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सीबीआई की सफाई: नीरव मोदी, चोकसी के भागने में हमारा कोई हाथ नहीं

हीरा कारोबारी नीरव मोदी

सीबीआई ने शनिवार को कहा कि पंजाब नेशनल बैंक के दो अरब रूपये से ज्यादा के घोटाले में हीरा कारोबारी नीरव मोदी और मेहुल चोकसी के फरार होने में उसके अधिकारियों का कोई हाथ नहीं है। कांग्रेस प्रमुख राहुल गांधी ने एजेंसी पर भगोड़ा कारोबारी विजय माल्या के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर को जानबूझकर कमजोर करने का आरोप लगाया है। न्यूज एजेंसी भाषा की रिपोर्ट के मुताबिक बहरहाल, एजेंसी ने कहा है कि फैसला इसलिए किया गया क्योंकि उसे हिरासत में लेने या गिरफ्तार करने के लिए ठोस वजह नहीं थी।

राहुल गांधी ने ट्वीट कर दावा किया, 'सीबीआई के संयुक्त निदेशक ए के शर्मा ने माल्या के लुकआउट नोटिस को कमजोर किया जिससे माल्या भागने में कामयाब रहा। शर्मा गुजरात कैडर के अधिकारी हैं और वह सीबीआई में प्रधानमंत्री के बेहद पसंदीदा हैं। यही अधिकारी नीरव मोदी और मेहुल चोकसी के भागने की योजना के प्रभारी थे।'

टॉपर रेप केस: बेरोजगारी से परेशान युवा कर रहे हैं दुष्कर्म- BJP विधायक

सीबीआई ने कहा है कि डायमंड कारोबारी नीरव मोदी और उसके चाचा चोकसी के बारे में बैंक से जब शिकायत मिली तब तक नीरव मोदी और मेहुल चौकसी को भारत छोड़े एक महीना हो चुका था। एजेंसी के एक प्रवक्ता ने शनिवार को जारी विज्ञप्ति में कहा, ''इसलिए उनके देश से फरार होने में सीबीआई के किसी अधिकारी का हाथ होने का सवाल ही नहीं उठता। बैंक से शिकायत मिलने के बाद सीबीआई ने मामले में तुरंत कदम उठाया। मीडिया की कुछ खबरों में माल्या के मामले में शर्मा का नाम आया है। शर्मा अभी अतिरिक्त निदेशक हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Under fire for Vijay Mallya and Mehul Choksi escape CBI puts out its defence