typhoon in Uttar Pradesh: Death of five including three children heavy rains in Delhi - यूपी में आंधी का कहर: तीन बच्चों सहित पांच की मौत, दिल्ली में भी भारी बारिश DA Image
13 दिसंबर, 2019|9:37|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूपी में आंधी का कहर: तीन बच्चों सहित पांच की मौत, दिल्ली में भी भारी बारिश

दिल्ली में भी भारी बारिश देखने को मिली।

उत्तर प्रदेश के सहारनपुर और बिजनौर में बुधवार को अचानक आए आंधी-तूफान ने एक युवक और तीन बच्चियों की जान ले ली, जबकि एक मदरसे की टीनशेड गिरने से आठ मासूम घायल हो गए। वहीं रामपुर में अजीम नगर के मिलक बगरउआ गांव में पेड़ के नीचे दबकर महिला की मौत हो गई। इसके अलावा यूपी के अन्य हिस्सों में भी आंधी और बारिश का कहर देखने को मिला। देश की राजधानी दिल्ली में भी धूल भरी आंधी के बाद भारी बारिश हुई। जिसकी वजह से तापमान में गिरावट आयी और लोगों को तपती गर्मी से राहत मिली, लेकिन शहर के विभिन्न भागों में जाम भी लग गया। मौसम विभाग ने कहा कि शाम पौने पांच बजे शहर में तेज हवाएं चलीं जिसकी रफ्तार 59 किलोमीटर प्रति घंटा थी। संसद मार्ग , लाजपत नगर और द्वारका समेत शहर के कुछ हिस्सों में बारिश शाम 7.40 बजे शुरू हुई। शहर में अधिकतम तापमान 38.3 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 27 डिग्री दर्ज किया गया।

आंधी-तूफान ने ली तीन बच्चियों समेत चार की जान
सहारनपुर और बिजनौर में तेज आंधी से अनेक स्थानों पर होर्डिंग और पेड़ गिर पड़े। इस दौरान बिजली आपूर्ति ठप हो गई और जनजीवन प्रभावित हुआ। हालांकि, मेरठ में अनेक स्थानों पर होर्डिंग और पेड़ टूटकर गिर पड़े और बिजली आपूर्ति बाधित हो गई। इस दौरान बूंदाबांदी भी हुई। सहारनपुर दोपहर में अचानक आंधी-तूफान शुरू हो गया। आंधी की रफ्तार इतनी थी कि सड़कों पर लगे होर्डिंग और बोर्ड उखड़ इधर-उधर गिरने लगे। जिलेभर में सैकड़ों स्थानों पर पेड़ और बिजली के पोल गिर गये।  बिहारीगढ़ में सोसायटी मार्ग पर स्थित जयविन्द्र पाल के घर में खड़ा पेड़ भी  उखड़ कर गिर पड़ा, जिसकी चपेट में आने से नौ वर्षीय बालिका वंशिका की मौत हो गई। 

एमपी पुलिस भर्ती: एक ही कमरे में महिला-पुरूष अभ्यर्थियों का मेडिकल

इसके अलावा नकुड़ के गांव साढ़ोली में आशु उपाध्याय सड़क से गुजर रहा था कि एक मकान की दीवार उसके ऊपर गिर गई, जिससे आशु की मौत हो गई। वहीं, चिलकाना के गांव टोडरपुर में मदरसे में पढ़ रहे बच्चों के ऊपर टिनशेड गिर पड़ा, जिससे आठ बच्चे घायल हो गये। 

बिजनौर में शाम करीब पांच बजे आसमान में अचानक काले बादल छा गए और तेज आंधी शुरू हो गई। आंधी से जगह-जगह पेड़ टूटकर जमीन पर गिर गए और अनेक होर्डिंग्स भी उखड़ गए। नहटौल इलाके में ममेरी-फुफेरी दो बहनों पर पेड़ गिर पड़ा, जिससे दोनों की मौत हो गई। दोनों की उम्र आठ-नौ साल बताई जा रही है। 

मुजफ्फरनगर में शाम के समय आंधी के कारण होर्डिंग और बैनर आदि उड़ गये और काफी स्थानों पर पेड़ भी टूटकर गिरे। पूरे जिले की आपूर्ति ठप हो गई है। हाईटेंशन लाइनों के ऊपर टूटकर गिरी पेड़ों की डालियों के कारण ब्रेकडाउन हो गया है। कचहरी परिसर में स्थित एसएसपी कार्यालय में खड़ा आम का पुराना पेड़ टूट कर गिर तीन बाइकों पर गिर पड़ा। शुक्र रहा कि यहां कोई जनहानि नहीं हुई। शामली, बागपत, हापुड़ और बुलंदशहर में भी आंधी के कारण जनजीवन प्रभावित हुआ। 

जस्टिस जोसेफ पदोन्नति मामला: सुप्रीम कोर्ट कोलेजियम ने टाला फैसला

आगरा में जगह-जगह गिरे पेड़
ताजनगरी में मौसम का मिजाज बुधवार शाम फिर बिगड़ा। शाम करीब 8:30 बजे तेज अंधड़ के साथ मौसम बिगड़ा। इसके बाद ओलावृष्टि और बारिश हुई। अंधड़ की रफ्तार 70 किलोमीटर प्रति घंटा रहने का अनुमान है। फतेहपुर सीकरी में ओले गिरने की खबर है। अंधड़ से शहर और देहात की बिजली व्यवस्था ध्वस्त हो गई। शहर और देहात में कई पेड़ गिर गए। होर्डिंग्स उड़ गए। रात 8:45 बजे अधिकतर हिस्सों में ब्लैक आउट हो गया। इधर, कासगंज में भी तेज अंधड़ से जनजीचन प्रभावित हुआ। 

मथुरा में दिनभर चटख धूप के बाद बुधवार देर शाम मौसम ने फिर पलटी मारी। तेज आंधी और बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया। होर्डिंग बैनर, पेड़ आदि उखड़ गए। क्रय केंद्रों पर खुले में गेहूं पड़ा होने से किसानों की मुश्किल बढ़ गई। सौंख व अन्य क्षेत्रों में कई पेड़ धराशाई हो गए, टीन-टप्पर भी उड़ गए। कोसी, छाता, नंदगांव, बरसाना, गोवर्धन, सौंख, फरह, छटीकरा में तेज आंधी से काफी नुकसान होने की संभावना है। वहीं शहर सहित देहात के कई क्षेत्रों की बिजली गुल हो गई। 

डेटा लीक के डर से ईपीएफओ ने सीएससी सेवाओं को किया सस्पेंड

रामपुर में महिला की मौत
बुधवार को आई तेज आंधी ने मुरादाबाद मंडल में भारी तबाही मचाई। मंडल में सौ से अधिक पेड़ और बिजली के पोल गिर गए। मौसम में अचानक आए बदलाव से घंटों जनजीवन बुरी तरह से अस्तव्यस्त रहा। रामपुर में अजीम नगर के मिलक बगरउआ गांव में पेड़ के नीचे दबकर महिला की मौत हो गई। कई अन्य स्थानों पर पेड़ और पोल गिरने से लोग घायल हो गए।

मुरादाबाद में शाम पांच बजे अचानक अंधेरा छा गया। लोगों को वाहनों की लाइट जलानी पड़ी। कांठ रोड, मुरादाबाद क्लब के पास, पीलीकोठी, डबल फाटक में कई स्थानों पर होर्डिंग फट गए। नवीन नगर, मुरादाबाद क्लब के पास, बुद्धिविहार फेज टू, कटघर समेत कई स्थानों पर पेड़ गिरने से अफरा तफरी मच गई। लोकोशेड पर बैरियर आंधी में गिरने से राहगीर घायल हो गए। रेलवे हरथला कॉलोनी समेत कई स्थानों पर पेड़ गिर गए।

रामपुर की आवास कालोनी में पेड़ गिरने से बाइक दब गई। जबकि स्वार में पेड़ गिरने से एक वृद्ध जख्मी हो गया। जगह-जगह टीनें और होर्डिंग्स उड़ गए।  अमरोहा में धूल भरी तेज हवाएं चलीं। शहर की बिजली गुल हो गई। आम की फसल को बड़ा नुकसान बताया जा रहा है। आंधी से करीब 20 फीसदी तक आम के नुकसान का दावा किया जा रहा है। संभल में संभल मुरादाबाद मार्ग पर कई जगह बड़े पेड़ आंधी की वजह से टूटकर बीच सड़क पर गिर गए। जिसकी वजह से यातायात प्रभावित हुआ।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:typhoon in Uttar Pradesh: Death of five including three children heavy rains in Delhi