ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशगुवाहाटी रेलवे स्टेशन में पकड़े गए अलकायदा के दो बांग्लादेशी आतंकवादी, भारत में रहकर रच रहे थे साजिश

गुवाहाटी रेलवे स्टेशन में पकड़े गए अलकायदा के दो बांग्लादेशी आतंकवादी, भारत में रहकर रच रहे थे साजिश

असम पुलिस की स्पेशल टीम ने गुवाहाटी रेलवे स्टेशन से अलकायदा के दो बांग्लादेशी आतंकवादियों को गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि ये लंबे समय से भारत में अवैध रूप से रहकर साजिश रच रहे थे।

गुवाहाटी रेलवे स्टेशन में पकड़े गए अलकायदा के दो बांग्लादेशी आतंकवादी, भारत में रहकर रच रहे थे साजिश
Gaurav Kalaबिस्वा कल्याण पुरकायस्थ, हिन्दुस्तान टाइम्स,सिलचरTue, 14 May 2024 12:14 PM
ऐप पर पढ़ें

असम पुलिस की स्पेशल टीम को गुवाहाटी रेलवे स्टेशन पर बड़ी सफलता मिली है। पुलिस टीम ने अलकायदा से जुड़े दो बांग्लादेशी आतंकवादियों को गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि ये आतंकी गुजरात से यहां आए और सिलचर जा रहे थे। पुलिस सूत्रों का कहना है कि इनका मकसद असम में आतंकी नेटवर्क फैलाना था। ये दोनों बिना पासपोर्ट के अवैध रूप से भारत में लंबे समय से रह रहे थे।

असम पुलिस के सूत्रों के अनुसार, आतंकवादियों की पहचान बहार मिया (30) और राचेल मिया (40) के रूप में हुई है। ये दोनों अंसारुल्लाह बांग्ला टीम (एबीटी) के सदस्य हैं और गुजरात से आए थे, सिलचर की ओर जा रहे थे। अधिकारियों ने कहा कि टीम ने खुफिया जानकारी के आधार पर सोमवार शाम गुवाहाटी रेलवे स्टेशन पर एक अभियान चलाया और दोनों को एक ट्रेन से गिरफ्तार कर लिया।

भारत के खिलाफ रच रहे थे साजिश
गिरफ्तारी के बाद उन्हें विशेष शाखा की हिरासत में ले लिया गया है। सूत्रों ने बताया कि उनके खिलाफ असम पुलिस की स्पेशल सेल में भी मामला दर्ज किया गया है। असम पुलिस ने एक आधिकारिक बयान में कहा, ये दोनों बांग्लादेशी नागरिक लंबे समय से बिना पासपोर्ट के अवैध रूप से भारत में रह रहे थे और असम में आतंकी नेटवर्क फैलाने के लिए साजिश रच रहे थे।  पुलिस के अनुसार, अंसारुल्लाह बांग्ला टीम (एबीटी) प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन है, जो अल-कायदा इन इंडियन सब-कॉन्टिनेंट (एक्यूआईएस) से संबद्ध है।

पिछले साल अगस्त में, असम पुलिस ने धुबरी जिले से अंसारुल्लाह बांग्ला टीम के दो सदस्यों को गिरफ्तार किया था और बाद में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने मामले की जांच की। 2022 में, असम पुलिस ने कुछ एबीटी मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया था और आतंकवादी समूह के साथ कथित संबंधों के लिए कई लोगों को गिरफ्तार किया। एक वरिष्ठ पुलिसकर्मी ने कहा कि उन्हें राज्य के कुछ छोटे मदरसों के साथ एबीटी के लिंक मिले हैं।