DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कैग की रिपोर्ट पर भाजपा-कांग्रेस आमने-सामने, समिति गठित करने की उठी मांग

BJP and Cogress flag (File Pic)

कनार्टक में पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार में बड़े पैमाने पर वित्तीय अनियमितताओं का खुलासा करने वाली नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (कैग) की रिपोर्ट को लेकर भाजपा और राज्य की गठबंधन सरकार में सहयोगी कांग्रेस के बीच आरोप-प्रत्यारोप जारी है।  
 

राज्य के पूर्व मंत्री एवं भाजपा प्रवक्ता सीटी रवि ने शनिवार को यहां में कहा कि मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी से पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार के दौरान हुई वित्तीय अनियमितताओं की जांच के लिए विधानसभा की समिति गठित  करने की मांग की।

उन्होंने आरोप लगाया कि कैग ने वर्ष 2016-2017 में आमदनी और खर्च में 35 हजार करोड़ रुपये से अधिक की अनियमितता पाई है। इस दौरान राज्य के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया थे और वित्त मंत्रालय भी उन्हीं के पास था। उन्होंने कुमारस्वामी से कैग की रिपोर्ट के आधार पर पूर्व मुख्यमंत्री के खिलाफ उचित कार्रवाई करने की मांग की।
रवि ने कहा, ‘भाजपा इस मुद्दे को सोमवार से शुरू हो रहे विधानसभा के शीतकालीन सत्र में उठाएगी।

 

उधर, राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री एवं वरिष्ठ कांग्रेस नेता सिद्धारमैया ने भ्रष्टाचार के आरोपों को निराधार बताते हुए मैसुरु में कहा, ‘भाजपा के नेता कैग की रिपोर्ट को तोड़मोड़ कर निराधार और झूठे आरोप लगा रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस तरह के खर्चे आम बात है और यह हमेशा होता रहा है। उन्होंने कहा, भाजपा के नेता इस मुद्दे को उठाकर राजनीतिक लाभ लेना चाहते हैं।

सिद्धारमैया ने कहा, भाजपा नेता एवं पूर्व उप मुख्यमंत्री आर अशोक की अगुआई वाली विधानसभा की लोक लेखा समिति से इस मामले की जांच करा ली जाए। इसके बाद सच सामने आ जाएगा। उन्होंने कहा, भाजपा के शासन काल में इस तरह का खर्च 34 प्रतिशत से अधिक था और मेरी सरकार इसमें कमी लाई थी। 

ये भी पढ़ें: जनता को तय करना है 'मजबूत सरकार चाहिए या मजबूर सरकार': अमित शाह

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Tussle between BJP and Congress over CAG report