DA Image
2 जून, 2020|2:44|IST

अगली स्टोरी

उत्तर पर्वी दिल्ली में हिंसा के दौरन दमकल विभाग के पास मदद के लिए आए कुल 45 कॉल

बीते सोमवार उत्तर पू्र्वी दिल्ली में सीएए के खिलाफ प्रदर्शन ने तब खतरनाक रूप ले लिया जब आगजनी और पत्थरबाजी के चलते कई लोग इसमें घायल हो गए व एक हेड कॉन्सटेबल की जान चली गई। दिल्ली दमकल विभाग ने मंगलवार को कहा कि नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) समर्थक और विरोधी प्रदर्शनकारियों के बीच हिंसा से प्रभावित क्षेत्रों से उसके पास मदद के लिए कुल 45 फोन कॉल आए। दिल्ली दमकल विभाग के निदेशक अतुल गर्ग ने कहा, “आग लगने की सूचना के कुल 45 फोन कॉल आए, दमकल विभाग के एक वाहन पर पत्थरबाजी की गई और एक वाहन को पूरी तरह जला दिया गया। तीन दमकल कर्मी घायल हो गए।”

उत्तर-पूर्वी दिल्ली के कई इलाकों में पिछले दो दिनों से प्रदर्शनकारियों के दो गुटों के बीच हिंसा चल रही है। हिंसा फैलने के बाद मौजपुर और जाफराबाद जैसे हिंसाग्रस्त क्षेत्रों में सोमवार को सीआरपीएफ की आठ कंपनियां तैनात कर दी गई थीं।

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध और समर्थन को लेकर सोमवार को उत्तर पूर्वी दिल्ली में चार जगहों पर हिंसा भड़क उठी। इस दौरान एक पुलिसकर्मी समेत पांच लोगों की मौत हो गई। हिंसा में डीसीपी, समेत 60 से ज्यादा घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने हालात पर काबू पाने के लिए आपात बैठक बुलाई थी। फिलहाल दिल्ली के इन इलाकों में भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई है।
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Total 45 calls came for help to fire brigade during violence in North Eastern Delhi