Toilet Cleaning acid used to make milk and supply and one day - टॉयलेट साफ करने वाले एसिड से दूध बनाकर करते थे सप्लाई और एक दिन... DA Image
15 दिसंबर, 2019|6:17|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

टॉयलेट साफ करने वाले एसिड से दूध बनाकर करते थे सप्लाई और एक दिन...

 adulteration do not stop in ghee-milk and spices

मध्यप्रदेश के भिंड जिले के औद्योगिक क्षेत्र मालनपुर में पुलिस ने एक ऐसी दुग्ध उत्पाद फैक्टरी का भांडाफोड़ किया है जो खतरनाक केमिकल व टॉयलेट साफ करने में उपयोग होने वाले एसिड से बना दूध सप्लाई करता था। यह बात खुद गोहद में संचालित मां मारवाड़ी डेयरी संचालक ने कबूली है।
 
इस डेयरी पर खाद्य सुरक्षा विभाग की टीम ने 28 नवंबर को छापा मारा था। खाद्य सुरक्षा अधिकारी रीना बंसल के मुताबिक कार्रवाई के दौरान कई प्रकार के केमिकल, रिफाइंड पॉमालिन ऑयल के टीन, आठ बोरी यूरिया, एसिड, कास्टिक सोडा मिला था। बंसल ने बताया कि एसिड से बनाया गया दूध जहर है। इस दूध के सेवन से मौत भी हो सकती है। ऐसा दूध बनाने वाले हत्या से भी बडा जघन्य अपराध कर रहे है।

इस डेयरी के संचालक चार भाइयों अजय शर्मा, विजय शर्मा, नंदकिशोर शर्मा और बृजकिशोर शर्मा के खिलाफ गोहद चैराहा पुलिस ने धोखाधडी सहित अन्य धाराओं में केस दर्ज किया है। मिलावटी दूध को लेकर पिछले चार महीने में भिंड जिले में यह चैथी एफआईआर दर्ज हुई है। छापामार कार्रवाई के दौरान डेयरी संचालक अजय शमार् ने बताया कि वह दूध को एकत्रित करके नोवा और पारस फैक्टरी में भेजता है।
  
पारस फैक्टरी के यूनिट हेड अनिल वर्मा और नोवा फैक्टरी के आदित्य शुक्ला ने बताया कि मां मारवाड़ी डेयरी का दूध हमारे यहां आया था। लेकिन उनका सैंपल फेल हो गया था। इसलिए हमने लिया नहीं था।  
जिले के गोहद थाना प्रभारी वैभव सिंह तोमर ने बताया कि खाद्य सुरक्षा अधिकारी रीना बंसल की रिपोर्ट पर मिलावटी दूध तैयार करने वाले चारों भाइयों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। उनकी गिरफ्तारी के लिए आज दो बार दबिश दी गई। श्री तोमर ने बताया कि इस मामले की जांच में अभी और भी आरोपी आ सकते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Toilet Cleaning acid used to make milk and supply and one day