DA Image
हिंदी न्यूज़ › देश › 'अमित शाह अगर संसद में आ गए तो मैं सिर मुंडवा लूंगा', चुनौती देकर बोले डेरेक ओ ब्रायन- पेगासस मुद्दे पर भाग रहे हैं
देश

'अमित शाह अगर संसद में आ गए तो मैं सिर मुंडवा लूंगा', चुनौती देकर बोले डेरेक ओ ब्रायन- पेगासस मुद्दे पर भाग रहे हैं

लाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीPublished By: Nishant Nandan
Tue, 03 Aug 2021 11:06 PM
'अमित शाह अगर संसद में आ गए तो मैं सिर मुंडवा लूंगा', चुनौती देकर बोले डेरेक ओ ब्रायन- पेगासस मुद्दे पर भाग रहे हैं

तृणमूल कांग्रेस के सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने केंद्रीय गृहमंत्री को चुनौती दी है। टीएमसी सांसद ने कहा है कि अगर गृहमंत्री राज्यसभा या लोकसभा में आ गए तो वो अपना सिर मुंडवा लेंगे। टीएमसी नेता ने आरोप लगाया कि केंद्रीय मंत्री पेगासस के मुद्दे पर भाग रहे हैं और इसीलिए वो विपक्ष के सवालों का जवाब नहीं दे रहे हैं। दरअसल 'India Today' से एक साक्षात्कार के दौरान टीएमसी सांसद ने यह बात कही है। 

जब इस इंटरव्यू के दौरान डेरेक ओ ब्रायन से यह पूछा गया कि वो संसद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से सवाल क्यों नहीं पूछते हैं? तब इसपर जवाब देते हुए टीएमसी सांसद ने कहा कि 'मैंने कभी गृहमंत्री को संसद में नहीं देखा। मैंने कभी प्रधानमंत्री को संसद में नहीं देखा। उनके चहेते अफसर को दिल्ली पुलिस का कमिश्नर बनाया गया है। दिल्ली में नौ साल की एक दलित लड़की के साथ गैंगरेप की घटना हुई...तो क्या गृहमंत्री को सामने आकर जवाब नहीं देना चाहिए?' डेरेक ओ ब्रायन ने आगे कहा कि 'दलित लड़की के साथ दुष्कर्म क्यों हुआ? अगर इस गंभीर मसले पर अमित शाह राज्यसभा या लोकसभा में कल (बुधवार) आकर यह जवाब दे दें तो मैं आपको शो में अपना सिर मुंडवा लूंगा। मैं अमित शाह को चैलेंज करता हूं क्योंकि वो पेगासस के मुद्दे पर भाग रहे हैं।'

बहरहाल दिल्ली की जिस घटना के बारे में टीएमसी सांसद इंटरव्यू में जिक्र कर रहे थे उसके बारे में आपको बता दें कि यहां एक नौ साल की दलित लड़की के साथ कथित तौर से सामूहिक दुष्कर्म करने का मामला उजागर हुआ है। यह भी कहा जा रहा है कि गैंगरेप के बाद लड़की की हत्या कर दी गई और आरोपियों ने ही लड़की का जबरन अंतिम संस्कार भी कर दिया। बच्ची की मां के द्वारा पहचान किये जाने के एक दिन बाद सोमवार को चार संदिग्धों को गिरफ्तार किया गया। जिनमें एक पुजारी, राधे श्याम, उसके लिए काम करने वाले दो लोग लक्ष्मी नारायण और कुलदीप और इसी इलाके का निवासी सलीम शामिल हैं।

आरोपियों पर प्रोटेक्शन ऑफ चिल्ड्रेन फ्रॉम सेक्सुअल ऑफेंसेज (पोक्सो) एक्ट और अनुसूचित जाति/ अनुसूचित जनजाति अधिनियम की संबंधित धाराओं के अलावा भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 376 (बलात्कार), 302 (हत्या), 506 (आपराधिक धमकी) और 204 (सबूत नष्ट करना) के तहत आरोप दर्ज किये गए हैं।

संबंधित खबरें