DA Image
हिंदी न्यूज़ › देश › जो राजनीति में बिना विवाद काम सीखना चाहते हैं उन्हें प्रणव दा से सीखना चाहिए: अमित शाह
देश

जो राजनीति में बिना विवाद काम सीखना चाहते हैं उन्हें प्रणव दा से सीखना चाहिए: अमित शाह

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Mrinal Sinha
Tue, 01 Sep 2020 12:02 PM
जो राजनीति में बिना विवाद काम सीखना चाहते हैं उन्हें प्रणव दा से सीखना चाहिए: अमित शाह

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के निधन पर गृह मंत्री अमित शाह ने शोक व्यक्त करते हुए कहा कि- यह हम सभी के लिए दुखद दिन है कि प्रणब दा अब हमारे साथ नहीं हैं। जो लोग राजनीति में आना चाहते हैं और बिना किसी विवाद के काम करना सीखते हैं, उन्हें प्रणव मुखर्जी के राजनीतिक जीवन का अवलोकन करना चाहिए और उनका अनुसरण करना चाहिए।

भारत के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी (Pranab Mukherjee) का सोमवार की शाम निधन हो गया। वह 84 वर्ष के थे। प्रणब मुखर्जी को पिछले 10 अगस्त को सेना के ‘रिसर्च एंड रेफ्रल हास्पिटल’ में भर्ती कराया गया था। उसी दिन उनके मस्तिष्क की सर्जरी की गई थी। उसके बाद वह काफी दिनों तक सेना के अस्पताल में कोमा में थे।  मुखर्जी को बाद में फेफड़ों में संक्रमण हो गया। वह 2012 से 2017 तक देश के 13वें राष्ट्रपति थे। आज उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। केंद्र सरकार ने पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के निधन पर सोमवार को सात दिन के राजकीय शोक की घोषणा की। 

इस बीच, पूर्व राष्ट्रपति को उनके राजाजी मार्ग पर अंतिम सम्मान दिया जा रहा है। उन्हें 10 अगस्त को दिल्ली के सेना अस्पताल में भर्ती कराया गया था और उन्होंने सीओवीआईडी ​​-19 पॉजिटिव पाया गया था।

संबंधित खबरें