DA Image
24 सितम्बर, 2020|10:35|IST

अगली स्टोरी

जो राजनीति में बिना विवाद काम सीखना चाहते हैं उन्हें प्रणव दा से सीखना चाहिए: अमित शाह

amit shah

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के निधन पर गृह मंत्री अमित शाह ने शोक व्यक्त करते हुए कहा कि- यह हम सभी के लिए दुखद दिन है कि प्रणब दा अब हमारे साथ नहीं हैं। जो लोग राजनीति में आना चाहते हैं और बिना किसी विवाद के काम करना सीखते हैं, उन्हें प्रणव मुखर्जी के राजनीतिक जीवन का अवलोकन करना चाहिए और उनका अनुसरण करना चाहिए।

भारत के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी (Pranab Mukherjee) का सोमवार की शाम निधन हो गया। वह 84 वर्ष के थे। प्रणब मुखर्जी को पिछले 10 अगस्त को सेना के ‘रिसर्च एंड रेफ्रल हास्पिटल’ में भर्ती कराया गया था। उसी दिन उनके मस्तिष्क की सर्जरी की गई थी। उसके बाद वह काफी दिनों तक सेना के अस्पताल में कोमा में थे।  मुखर्जी को बाद में फेफड़ों में संक्रमण हो गया। वह 2012 से 2017 तक देश के 13वें राष्ट्रपति थे। आज उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। केंद्र सरकार ने पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के निधन पर सोमवार को सात दिन के राजकीय शोक की घोषणा की। 

इस बीच, पूर्व राष्ट्रपति को उनके राजाजी मार्ग पर अंतिम सम्मान दिया जा रहा है। उन्हें 10 अगस्त को दिल्ली के सेना अस्पताल में भर्ती कराया गया था और उन्होंने सीओवीआईडी ​​-19 पॉजिटिव पाया गया था।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Those who want to learn politics without controversy should learn from Pranab MUKherjee says Amit Shah