ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशजिनके ज्यादा बच्चे हैं...पीएम मोदी ने कह दी ऐसी बात, भड़क गई कांग्रेस

जिनके ज्यादा बच्चे हैं...पीएम मोदी ने कह दी ऐसी बात, भड़क गई कांग्रेस

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजस्थान के बांसवाड़ा में कहा कि कांग्रेस पार्टी ने मैनिफेस्टो में कहा है कि वह आपकी संपत्ति उन लोगों में बांट देगी जिनके ज्यादा बच्चे हैं।

जिनके ज्यादा बच्चे हैं...पीएम मोदी ने कह दी ऐसी बात, भड़क गई कांग्रेस
Ankit Ojhaहिन्दुस्तान टाइम्स,नई दिल्लीSun, 21 Apr 2024 10:32 PM
ऐप पर पढ़ें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजस्थान की रैली में कांग्रेस पार्टी पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी का मैनिफेस्टो कह रहा है कि वे आपकी मेहनत की कमाई उनको  बांट देंगे, जिनके ज्यादा बच्चे हैं। कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बात पर आपत्ति जताते हुए कहा कि प्रधानमंत्री अपने झूठ से एक बार फिर हिंदू और मुस्लिम को बांट रहे हैं। बांसवाड़ा की रैली में प्रधानमंत्री ने कांग्रेस को 'अर्बन नक्सल' बताते हुए कहा कि कांग्रेस के लोग माताओं और बहनों के सोने का हिसाब लेंगे और फिर उसे बांट देंगे।

प्रधानमंत्री ने कहा, पहले जब उनकी सरकार थी तो उन्होंने कहा था कि देश की संपत्ति पर पहला अधिकार मुसलमानों का है। इसका मतलब ये संपत्ति इकट्ठा करके ये किसको बाटेंगे, जिनके ज्यादा  बच्चे हैं उनको बांटेंगे। घुसपैठियों को  बांटेंगे। क्या आपकी मेहनत की कमाई का पैसा घुसपैठियों क दिया जाएगा। आपको मंजूर है ये? ये कांग्रेस का मैनिफेस्टो कह रहा है। वो माताओं बहनों के सोने का हिसाब करेंगे, जानकारी लेंगे और उस संपत्ति को बांट देंगे। उनको बांटेंगे जिनको मनमोहन सिंह जी की सरकार ने कहा था कि संपत्ति पर पहला अधिकार मुसलमानों का है। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर पलटवार करते हुए राहुल गांधी ने कहा, पहले चरण के मतदान में निराशा हाथ लगने के बाद नरेंद्र मोदी के झूठ का स्तर इतना गिर गया है कि घबरा कर वह अब जनता को मुद्दों से भटकाना चाहते हैं। कांग्रेस के ‘क्रांतिकारी मेनिफेस्टो’ को मिल रहे अपार समर्थन के रुझान आने शुरू हो गए हैं। देश अब अपने मुद्दों पर वोट करेगा, अपने रोज़गार, अपने परिवार और अपने भविष्य के लिए वोट करेगा। भारत भटकेगा नहीं!

कई विपक्षी नेताओं ने प्रधानमंत्री मोदी के स्पीच की क्लिप शेयर करके उनपर ध्रुवीकरण का आरोप लगाया है। बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी ने पूर्व पीएम मनमोहन सिंह की 2006 की बात का जिक्र किया था जिसको लेकर तब भी बवाल हुआ था। इसके बाद पीएमओ की तरफ से स्पष्टीकरण दिया गया और कहा गया कि उनके बयान को गलत समझा गया है। डॉ. मनमोहन सिंह ने कहा था कि देश के संसाधनों पर पहला अधिकार अल्पसंख्यकों का है और खासकर मुस्लिम अल्पसंख्यकों का। बाद में पीएमओ की तरफ से कहा गया कि अल्पसंख्यकों का मतलब एससी, एसटी, ओबीसी, महिलाओं ओर वंचितों से था। 

 

बांसवाड़ा की रैली के बाद प्रधानमंत्री की बात को लेकर ही कांग्रेस और भाजपा नेताओं के बीच बहस का मुद्दा बन गया। कांग्रेस नेता पवन खेड़ा ने कहा, प्रधान मंत्री को चुनौती है कि हमारे घोषणा पत्र में कहीं भी हिंदू मुसलमान लिखा हो तो दिखा दें। इस तरह का हल्कापन आपकी मानसिकता में, आपके राजनैतिक संस्कारों में है। हमने तो युवाओं, महिलाओं, किसानों, आदिवासियों, माध्यम वर्ग, श्रमिकों को न्याय की बात कही है। आपको इस से भी आपत्ति है?