ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ देशडेटिंग ऐप पर मिली 'गर्लफ्रेंड' को डायवर्ट कर दिए 5.7 करोड़ रुपये, होश उड़ा देगी बैंक मैनेजर की तिकड़मबाजी

डेटिंग ऐप पर मिली 'गर्लफ्रेंड' को डायवर्ट कर दिए 5.7 करोड़ रुपये, होश उड़ा देगी बैंक मैनेजर की तिकड़मबाजी

पुलिस ने प्राथमिकी में शंकर के सहयोगी सहायक शाखा प्रबंधक कौशल्या जेरई और क्लर्क मुनीराजू को भी संदिग्ध के रूप में नामित किया है। पुलिस सूत्रों के अनुसार, कथित धोखाधड़ी 13 से 19 मई के बीच हुई थी।

डेटिंग ऐप पर मिली 'गर्लफ्रेंड' को डायवर्ट कर दिए 5.7 करोड़ रुपये, होश उड़ा देगी बैंक मैनेजर की तिकड़मबाजी
Amit Kumarलाइव हिन्दुस्तान,बेंगलुरुFri, 24 Jun 2022 10:15 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

डेटिंग ऐप पर मिली कथित गर्लफ्रेंड के प्यार में पागल एक बैंक मैनेजर ने उसे 5.7 करोड़ रुपये डायवर्ट कर दिए। मामला कर्नाटक के बेंगलुरु का है। यहां के हनुमंतनगर में इंडियन बैंक की शाखा के शाखा प्रबंधक को हाल ही में अपनी प्रेमिका को कथित तौर पर 5.7 करोड़ रुपये देने के आरोप में गिरफ्तार किया गया। वह अपनी कथित प्रेमिकी से एक डेटिंग ऐप पर मिला था। इंडियन बैंक के जोनल मैनेजर द्वारा आरोपी हरि शंकर के खिलाफ शिकायत दर्ज की गई थी। गिरफ्तारी के बाद अदालत ने उसे 10 दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया।

पुलिस ने प्राथमिकी में शंकर के सहयोगी सहायक शाखा प्रबंधक कौशल्या जेरई और क्लर्क मुनीराजू को भी संदिग्ध के रूप में नामित किया है। पुलिस सूत्रों के अनुसार, कथित धोखाधड़ी 13 से 19 मई के बीच हुई थी।  पूछताछ के दौरान, शंकर ने दावा किया कि साइबर अपराधियों ने उसे एक डेटिंग एप्लिकेशन का इस्तेमाल करने का लालच दिया और पुलिस उसके दावों की पुष्टि कर रही है।

पुलिस के अनुसार, एक महिला ग्राहक ने फिक्स्ड डिपॉजिट के रूप में अपने नाम पर 1.3 करोड़ रुपये जमा किए थे और बाद में उसी डिपॉजिट के आधार पर, महिला ने अपनी जमा राशि पर 75 लाख रुपये का ऋण लिया था। 

ग्राहक ने संबंधित दस्तावेज जमा किए लेकिन आरोपी अधिकारियों ने कथित तौर पर दस्तावेजों के साथ छेड़छाड़ की और उनका इस्तेमाल सिक्योरिटी के रूप में किया व कई किश्तों के माध्यम से ओवरड्राफ्ट के रूप में 5.7 करोड़ रुपये जारी किए। 

आंतरिक जांच करने वाली बैंक ने खुलासा किया कि पैसे पश्चिम बंगाल में कई बैंकों के 28 खातों और 136 लेनदेन में कर्नाटक में दो खातों में भेजे गए थे। शंकर ने कथित तौर पर धोखाधड़ी करने के लिए अपने दो सहयोगियों का इस्तेमाल किया और चूंकि उनकी संलिप्तता अभी स्थापित नहीं हुई है, इसलिए उनसे पूछताछ की जा रही है।

जांच में यह भी पता चला कि हरि शंकर के 12.5 लाख रुपये के निजी पैसे भी खातों में ट्रांसफर किए गए और बाद में ये लेनदेन हुए। इंडियन बैंक एक ऐसे बैंक खाते को फ्रीज करने में सफल रहा है, जिसमें 7 लाख रुपये डायवर्ट किए गए थे।
 

epaper