DA Image
30 मई, 2020|11:06|IST

अगली स्टोरी

अधिकारियों पर कार्रवाई से पहले यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के होते हैं ये दो शब्द

uttar pradesh cm yogi adityanath  ani pic

कोरोना वायरस के तेजी से आए मामले पर गौतम बुद्ध नगर में एक समीक्षा बैठक के दौरान उत्तर प्रदेश के मुख्य मंत्री योगी आदित्यनाथ ने लापरवाही को लेकर वहां के डीएम बीएन सिंह को कड़ी फटकार लगाई। लेकिन, वे ऐसे पहले नौकरशाह नहीं हैं, जिन्हें योगी के गुस्से का इस तरह से सामना करना पड़ा है।

ऐसे कई मौके आए जब यूपी के सीएम ने गलतियां, खामियां या फिर पर्याप्त कदम नहीं उठाने पर सीनियर अधिकारियों की खिंचाई की है। साल 2017 में उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के सत्ता में आने और योगी के मुख्यमंत्री बनने के बाद उनके सुशासन का दरअसल यही स्टाइल है।

इस साल जनवरी में नागरिकता संशोधन कानून पर लखनऊ में भड़के दंगे के बाद योगी आदित्यनाथ ने सार्वजनिक तौर पर कमिश्नर और लखनऊ आईजी को फटकार लगाते हुए कहा था कि कोई कदन न उठाकर उन्होंने उन्हें शर्मसार कर दिया। योगी ने दोनों को पर्याप्त कदम न उठाने का आरोप लगाते हुए कहा कि दंगा रोकने में उन्होंने लापरवाही दिखाई।

ये भी पढ़ें: हटाए गए नोएडा के डीएम बीएन सिंह के खिलाफ विभागीय जांच के आदेश

लंबे प्रशासनिक कार्य लेने के लिए जाने जानेवाले योगी ने बांदा के डीएम को ट्रांसफर करने के आदेश देने से पहले कहा था कि वह जानते हैं कि ऑफिसर क्या थे और व्यवहार बदलने के लिए चेताया गया था। प्राय: ऐसी मीटिंग्स में वीडियो कॉन्फ्रेंस के दौरान मुख्यमंत्री के साथ उनके प्रिंसिपल सेक्रेटरी एसपी गोयल और राज्य के चीफ सेक्रेटरी आरके तिवारी होते हैं।

उन्होंने बरेली के एक सीनियर पुलिस ऑफिसर और एक अन्य एसपी को भ्रष्टाचार पर कहा था कि वे उनके हर घंटे के बारे में जानते हैं। योगी के आखिरी कार्रवाई से पहले उनके यह शब्द होता है- ‘सुधर जाओ’।

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस के सबसे अधिक मामले नोएडा में आए हैं। आज इसी को दखते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गौतमबुद्ध नगर जिला पहुंचे और उन्होंने बैठक की। इस दौरान सीएम योगी ने जिलाधिकारी के पद पर तैनात बीएन सिंह को जमकर फटकार लगाई।

बैठक का वीडियो सामने आया है जिसमें मुख्यमंत्री कह रहे हैं, ''बकवास बंद कीजिए। आप लोगों ने बकवास करके माहौल खराब किया है। जिम्मेदारी निभाने की बजाय, एक दूसरे पर जिम्मेदारी टालने की कोशिश की है।'' उसके बाद डीएम का तबादला कर दिया गया और विभागीय कार्रवाई की बात कही गई है। इससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की फटकार के बाद बीएन सिंह ने मुख्य सचिव को चिट्ठी लिखकर कहा कि मुझे तीन महीने की छुट्टी पर भेज दिया जाए।

ये भी पढ़ें:  योगी ने नोएडा डीएम से कहा- बकवास बंद, ट्रांसफर, सुहास नए जिलाधिकारी

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:These two words of Uttar Pradesh Chief Minister Yogi Adityanath before action on officers