DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आलोक वर्मा के खिलाफ सीवीसी की रिपोर्ट में कोई ठोस तथ्य नहीः कांग्रेस

आलोक वर्मा

कांग्रेस ने सरकार पर केंद्रीय सर्तकता आयोग (सीवीसी) के दुरुपयोग का आरोप लगाया है। पार्टी का कहना है कि सरकार सीवीसी और दूसरी संस्थाओं की रिपोर्ट की आड़ में अपना बचाव कर रही है। पार्टी का मानना है कि उच्चस्तरीय चयन समिति ने सीवीसी की जिस रिपोर्ट के आधार पर आलोक वर्मा को सीबीआई के निदेशक के पद से हटाया है, उस रिपोर्ट में कुछ तथ्य नहीं है। आरोपों पर कोई ठोस तथ्य नहीं दिए गए हैं।

पार्टी प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने कांग्रेस मुख्यालय में मीडिया को संबोधित करते हुए शुक्रवार को कहा कि सीवीसी ने आलोक वर्मा के बारे में जो रिपोर्ट दी है, उसके अधिकतर आरोप बेबुनियाद हैं। सीवीसी की रिपोर्ट के आरोपों का सिलसिलेवार जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि दस में से छह आरोपों के बारे में खुद सीवीसी ने कहा है कि यह आरोप बेबुनियाद हैं। बाकी चार आरोपों के बारे में भी सीवीसी के पास कोई ठोस तथ्य नहीं है।

सिंघवी ने कहा कि सरकार ने सीवीसी का दुरुपयोग किया है। सिंघवी ने कहा कि सीवीसी ने राकेश अस्थाना के आरोपों को अपनी रिपोर्ट का आधार बनाया है। इस रिपोर्ट के आधार पर चयन समिति ने आलोक वर्मा को सीबीआई निदेशक के पद से हटा दिया। इसका मतलब यह हुआ कि समिति ने अस्थाना के आरोपों पर आलोक वर्मा को हटाया है।

सीबीआई पर सरकारी नियंत्रण की साजिश : माकपा

माकपा ने सीबीआई के निदेशक पद से आलोक वर्मा को हटाने के मोदी सरकार के फैसले को इस जांच एजेंसी पर सरकारी नियंत्रण कायम करने का साजिश करार दिया है। माकपा पोलित ब्यूरो द्वारा शुक्रवार को जारी बयान में सुप्रीम कोर्ट द्वारा बहाली के 48 घंटे के भीतर उन्हें पद से हटाने के मोदी सरकार के फैसले को सीबीआई पर सरकार का नियंत्रण सुनिश्चित करने के लिए किया गया बताया है। इससे सरकार अपने राजनीतिक और चुनावी एजेंडे को पूरा करने में सीबीआई का औजार के रूप में इस्तेमाल कर सके। 

आलोक वर्मा को हटाया गया। समिति ने सुनिश्चित किया कि पिजड़े में बंद तोता उड़ न सके, क्योंकि इसका डर था कि कहीं ये तोता सत्ता के गलियारे के राज नहीं खोल दे। पिजड़े में बंद तोता अभी बंद ही रहेगा। - कपिल सिब्बल, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता 

सीबीआई की विश्वसनीयता संकट में है। इसे देखते हुए प्रदेश में इसकी बगैर अनुमति कार्रवाई पर रोक लगाई गई है। राज्य में सीबीआई को सीधी एंट्री कुछ अफसरशाहों ने दी थी, जिस पर केंद्र सरकार को पत्र लिखकर कार्रवाई की मांग की गई थी। इसे केंद्रीय गृह मंत्रालय ने भी स्वीकार किया है। - भूपेश बघेल, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री  

भाजपा अपने राजनीतिक फायदे के लिए सीबीआई का दुरुपयोग कर रही है। भाजपा उसे सरकार की हां में हां मिलाने वाली एजेंसी बना दिया है। 
- ममता बनर्जी, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री

आलोक वर्मा मामले पर भाजपा ने मल्लिकार्जुन खड़गे को निशाने पर लिया

CBI चीफ के पद से हटाए जाने के 1 दिन बाद वर्मा ने नौकरी से दिया इस्तीफा

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:There is no concrete fact in CVC report against Alok Verma says Congress