ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशजनता ने सबको दे दिया सबक, वेंकैया नायडू ने बताईं मोदी सरकार की चुनौतियां

जनता ने सबको दे दिया सबक, वेंकैया नायडू ने बताईं मोदी सरकार की चुनौतियां

पूर्व उपराष्ट्रपति वेंकैया नाडयू ने कहा कि देश में चार नई सरकार के सामने कई चुनौतियां हैं। हालांकि अगर जनता मिलकर उनसे लड़गी तभी समाधान निकल सकता है।

जनता ने सबको दे दिया सबक, वेंकैया नायडू ने बताईं मोदी सरकार की चुनौतियां
Ankit Ojhaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSat, 08 Jun 2024 10:48 AM
ऐप पर पढ़ें

लोकसभा चुनाव परिणाम को लेकर पूर्व उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने बड़ी टिप्पणी की है। उन्होंने कहा कि देश की जनता ने नीचे से ऊपर तक सभी दलों को बड़ा संदेश दिया है। इंस्टीट्यूट ऑफ रूरल मैनेजमेंट, आनंद (IRMA) के दीक्षांत समारोह में बोलते हुए नायडू ने कहा, हमने देखा है कि भारत ने साबित कर दिया है कि भारत एक महान लोकतंत्र है। जनता जो भी बदलाव करना चाहती थी उसने बड़ी शांति से कर दिए। मुझे उम्मीद है कि जनता ने जो भी संदेश दिया है उसे लोग समझेंगे। 

उन्होंने कहा, राजनीतिक दल या तो हारते हैं या फिर जीतते हैं। जिसके हाथ में अधिकार होता है उसे गांधी के अंत्योदय और आंबेडकर जी के अंत्योदय का ध्यान रखना है जिससे पिछड़ों और दबे-कुचले  वंचितों का उत्थान हो सके। पीएम मोदी के बारे में नायडू ने कहा, वे केवल भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में लोकप्रिय नेता हैं। मैं ज्यादा राजनीति पर नहीं बोलना चाहता लेकिन इतना जरूर कहना चाहता हूं कि अब दुनिया भारत को पहचानने लगी है। हाल के सालों में भारतीयों के परिश्रम और ज्ञान ने दुनिया को लोहा मनवाया है। ाज कई बड़ी बहुराष्ट्रीय कंपनियों के सीईओ भारतीय हैं। 

सरकार के सामने क्या हैं चुनौतियां
नई सरकार के सामने चुनौतियों का जिक्र करते हुए नायडू ने कहा, जब हम भ्रष्टाचार को कम करने में सफल होंगे तभी गरीबी भी कम होगी। हालांकि इस रास्ते में चुनौतियां हैं। इन चुनौतियों से निपटने के लिए हमें मिलकर काम करना होगा। भ्रष्टाचार दूर होगा तो गरीबी दूर होगी। गांव और शहर के बीच की खाई पटेगी। इसके अलावा समाजिक कुरीतियों को भी खत्म करना है। लेकिन यह सब काम केवल प्रधानमंत्री या मुख्यमंत्री के वश की बात नहीं है। इसमें हर किसी को मिलकर काम करना होगा। 

नायडू ने कहा कि हमें चार 'C' की जरूरत है। कैरेक्टर, कैलिबर, कपैसिटी और कंडक्ट। इस सयम राजनीतिक दलों को कास्ट, कम्युनिटी, कैश और क्रिमिनलिटी की जगह इन चार सी पर ध्यान देने की जरूरत है। तभी देश का विकास संभव है।

Advertisement