The farmer died in the shock of the name of the borrower list in madhya pradesh - Madhya Pradesh: बिना कर्ज लिए ही बना दिया कर्जदार, सदमे में गई किसान की जान DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Madhya Pradesh: बिना कर्ज लिए ही बना दिया कर्जदार, सदमे में गई किसान की जान

farmer death

मध्य प्रदेश में कर्ज माफी की योजना को लेकर जारी की गई सूचियों ने कई किसानों की मुसीबतें बढ़ा दी हैं क्योंकि जिन्होंने कभी कर्ज नहीं लिया उन्हें भी कर्जदार बना दिया गया है। इसी तरह का एक मामला सागर जिले में सामने आया जिसके बाद सदमे में किसान की मौत हो गई। लोकतांत्रिक समाजवादी पार्टी के संरक्षक रघु ठाकुर ने इस तरह की गड़बड़ियों पर चिंता जताई है। राज्य में सत्ता बदलाव के साथ कांग्रेस की कमलनाथ के नेतृत्व वाली सरकार ने दो लाख तक की कर्ज माफी की योजना का किसानों को लाभ देने के लिए ग्राम पंचायत स्तर पर कर्जदारों की सूची चस्पा की है। इन सूचियों में बड़े पैमान पर गड़बड़ियां सामने आ रही हैं। ताजा मामला सागर जिले के गौरझामर क्षेत्र के सरदई गांव का है।

सरदई गांव के आदिवासी मुकुंदी (65) ने नयानगर सहकारी समिति के बकायादारों की सूची में अपना नाम देखा। उनके नाम पर 5,43,366 रुपये का कर्ज दर्ज दिखा। इसे देखकर वे घबरा गए। मुकुंदी के परिजनों के अनुसार, वे इस कर्ज को लेकर परेशान हुए क्योंकि उन्होंने कोई कर्ज लिया ही नहीं था। नाम हटवाने के लिए सहकारी समिति से लेकर अधिकारियों के चक्कर लगाए लेकिन किसी ने नहीं सुनी। मुकुंदी ने चिंता में खाना पीना तक छोड़ दिया। इसी के चलते उनका बुधवार को निधन हो गया।

मध्यप्रदेशः 13 रुपये की कर्ज माफी से किसान हैरान 

मुकुंदी के परिजनों का कहना है कि बिना कर्ज लिए कर्जदार बनाए जाने का उन्हें सदमा लग गया और उनकी मौत हो गई। देवरी के स्थानीय विधायक व कैबिनेट मंत्री हर्ष यादव का कहना है कि सहकारी समितियों में बड़े स्तर पर हेर-फेर हुई है, दोषियों के खिलाफ कार्रवाई होगी। इस तरह के कई मामले उमरिया, शहडोल जिलों से भी आए हैं जहां किसानों ने कर्ज ही नहीं लिया और उन्हें एक से दो लाख रुपये तक का कर्जदार बताया जा रहा है। 

कर्जमाफी की सूचियों से सामने आ रही गड़बड़ियों को लेकर लोकतांत्रिक समाजवादी पार्टी के संरक्षक रघु ठाकुर ने कहा है कि जो लोग इस तरह की गड़बड़ियों में शामिल हैं उनके खिलाफ  सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए। ज्ञात हो कि राज्य सरकार ने किसानों की कर्ज माफी की प्रक्रिया शुरू की है। दो लाख तक के कर्ज को माफ  करने के लिए 15 जनवरी को आवेदन भरवाने का सिलसिला शुरू हो चुका है। राज्य में पांच फरवरी तक आवेदन भरे जाने हैं और 22 फरवरी से कर्ज की राशि किसानों के खातों में जाने लगेगी। 

किसानों की आय बढ़ाने के लिए जल्द पैकेज की घोषणा कर सकती है सरकार

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:The farmer died in the shock of the name of the borrower list in madhya pradesh