DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अमित अनिल चंद्र शाह- एक सामान्य कार्यकर्ता से भारत के गृहमंत्री बनने तक का सफर

आइए जानते हैं भारत के गृह मंत्री अमित शाह के जीवन से जुड़े कुछ अहम पहलुओं को...

amit shah jpg

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह अब मोदी मंत्रिमंडल में नंबर दो हो गए हैं। उन्हें मोदी सरकार-2 में गृह मंत्रालय का जिम्मा सौंपा गया है। जबकि मोदी सरकार-1 में गृहमंत्री रहे राजनाथ सिंह को रक्षा मंत्रायल की जिम्मेदारी सौंपी गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बेहद करीबी माने जाने वाले अमित शाह छात्र जीवन से ही राजनीति से जुड़ गए थे। साल 2014 में अमित शाह को भारतीय जनता पार्टी का अध्यक्ष चुना गया था, तब से अब तक वह इस पद पर काबिज हैं।

READ ALSO: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एटॉमिक एनर्जी मंत्रालय के साथ अपने पास रखे ये विभाग

हालांकि अब यह निश्चित हो गया है कि भाजपा अध्यक्ष की जिम्मेदारी किसी दूसरे नेता को सौंपा जाएगा, जिसमें जेपी नड्डा का नाम सबसे आगे चल रहा है। अमित शाह के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी ने कई चुनाव जीते और नए कीर्तिमान स्थापित किए। उनके नेतृत्व में इस बार बीजेपी ने लोकसभा चुनाव में शानदार जीत हासिल की। अमित अनिलचंद्र शाह का जन्म 22 अक्‍टूबर 1964 को मुंबई में हुआ था। आइए जानते हैं, उनके जीवन से जुड़े कुछ अहम पहलुओं को...

1. भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह गुजरात के एक संपन्न परिवार से ताल्लुक रखते हैं।

2. वह गुजरात के मनसा में 'प्लास्टिक पाइप' बनाने वाली पारिवारिक कंपनी का बिजनेस संभालते थे।

3. उन्होंने मेहसाणा से अपनी शुरुआती पढ़ाई की और फिर बॉयोकेमिस्ट्री की पढ़ाई अहमदाबाद से पूरी की।

4. अमित शाह ने बॉयोकेमिस्ट्री में बीएससी किया और फिर पिता का बिजनेस संभालने में जुट गए।

5. वह बचपन से ही आरएसएस से जुड़ गए थे। कॉलेज के दिनों में वह आरएसएस के सक्रीय स्वयंसेवक रहे।

6. साल 1982 में नरेंद्र मोदी से उनकी पहली मुलाकात हुई और यह मुलाकात प्रगाढ़ दोस्ती में बदल गई।

7. साल 1983 में अमित शाह अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) से जुड़े, और यहीं से उनका राजनीतिक करियर शुरू हुआ।

8. अमित शाह ने नरेंद्र मोदी से एक साल पहले यानी साल 1986 में भारतीय जनता पार्टी ज्वाइन किया।

9. साल 1987 में अमित शाह भारतीय जनता पार्टी के युवा मोर्चा के सदस्य बने।

10. साल 1999 में अहमदाबाद डिस्ट्रिक्ट कोऑपरेटिव बैंक (एडीसीबी) के प्रेसिडेंट चुने गए।

11. साल 1997 में मोदी ने सरखेज के उपचुनाव में अमित शाह को उतारने की सलाह दी।

12. अमित शाह फरवरी 1997 में उपचुनाव जीतकर विधायक बने और साल 1998 के विधानसभा चुनाव में अपनी सीट बरकरार रखी।

13. साल 1997 से 2012 तक वो सरखेज से विधायक रहे और साल 2009 में गुजरात क्रिकेट एसोसिएशन के वाइस प्रेसिडेंट बने।

14. इसके बाद साल 2013 में अमित शाह नरनपुरा से विधायक चुने गए। साल 2014 में नरेंद्र मोदी के पद छोड़ने के बाद GCA के प्रेसिडेंट बने।

16. उन्होंने साल 2003 से 2010 तक गुजरात सरकार की कैबिनेट में गृह मंत्रालय का जिम्मा संभाला।

17. अमित शाह ने 1991 में गांधीनगर संसदीय क्षेत्र में लालकृष्ण आडवाणी के लिए चुनाव प्रचार का जिम्मा संभाला।

18. अमित शाह ने 1996 में अटल बिहारी वाजपेयी के लिए भी गांधीनगर संसदीय सीट पर चुनाव प्रचार की जिम्मेदारी संभाली।

19. साल 2002 में नरेंद्र मोदी की पहली गुजरात सरकार में अमित शाह राज्य के सबसे कम उम्र के गृह मंत्री बने।

20. अभी तक अमित शाह ने कुल 42 छोटे-बड़े चुनाव लड़े हैं, लेकिन उनमें से एक में भी उन्होंने हार का सामना नहीं किया है।

मोदी सरकार में मंत्रालयों का बंटवारा तय, अमित शाह गृह मंत्री तो राजनाथ सिंह बने रक्षा मंत्री, देखें पूरी लिस्ट

सभी खेलों से जुड़े समाचार पढ़ें सबसे पहले Live Hindustan पर। अपने मोबाइल पर Live Hindustan पढ़ने के लिए डाउनलोड करें हमारा न्यूज एप। और देश-दुनिया की हर खबर से रहें अपडेट।  

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:The Emergence of Amit Anil Chandra Shah from a simple party worker to become the 30th Home Minister of the Republic of India