DA Image
31 अक्तूबर, 2020|1:05|IST

अगली स्टोरी

आतंकी हमलाः बिजबेहाड़ा में कमप्लेक्स पर हमला, तीन आतंकियों के शव बरामद

Terrorist

जम्मू-कश्मीर में एक बार फिर आतंकी हमला हुआ है। इस बार हमला बिजबेहाड़ा में स्थित एसआईसीओपी कमप्लेक्स में हुआ है। इस कमप्लेक्स में सीआरपीएफ और सेना के जवान तैनात किये गए थे। हमले के बाद जवानों ने भी मोर्चा संभाल लिया। करीब 4 घंटे बाद सेना का आॅपरेशन खत्म हो गया।

 

उधर, लश्कर-ए-तैयबा के कमांडर जुनैद मट्टू समेत तीन आतंकवादियों की शनिवार को लाशें बरामद कर ली गईं। सुरक्षा बलों ने शुक्रवार को दक्षिण कश्मीर में अनंतनाग जिले के अरवानी में इनका मुठभेड़ किया था। तीनों आतंकी एक घर में छिपे थे। 

लोगों ने किया था पथराव
अधिकारियों के मुताबिक, ऑपरेशन के दौरान लोगों ने आर्मी पर पथराव भी किया। इसके चलते पैलेट चलानी पड़ीं, जिसमें दो स्थानीय नागरिक की भी मौत हो गई थी, 5 जख्मी हुए थे।

कश्मीरः लश्कर के हमले में 6 पुलिस जवान शहीद, शवों के साथ बर्बरता

10 लाख का इनामी था मट्टू 
बता दें कि 2016 में मट्टू ने अनंतनाग में दो पुलिसवालों को गोली मारी थी। उस पर 10 लाख का इनाम था। मट्टू लश्कर का कुलगाम जिले का कमांडर था। पिछले महीने सुरक्षा बलों ने 12 खूंखार आतंकियों की लिस्ट जारी की थी, जिसमें मट्टू का भी नाम था। मट्टू को आतंकियों की ए कैटेगरी में रखा गया था। वह कुलगाम के खुदवानी का रहने वाला था। उस पर 10 लाख का इनाम था।

आतंकियों को मजबूती से दिया जवाब
कुलगाम के आईजी मुनीर खान ने बताया कि उत्तर की तुलना में दक्षिण कश्मीर में आतंकियों के होने की आशंका ज्यादा होती है। कुलगाम के ऑपरेशन में हमने आतंकियों की गोलीबारी का मजबूती से जवाब दिया। आतंकी डराने-धमकाने के लिए वीडियोज का सहारा ले रहे थे। लेकिन हमारे जवान उनसे निपटने की काबिलियत रखते हैं।

आतंकियों ने की 6 पुलिस जवानों की हत्या

जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग जिले के अचाबल क्षेत्र में आतंकियों ने शुक्रवार को पुलिस दल पर घात लगाकर हमला किया। आतंकियों ने  सब इंस्पेक्टर समेत छह पुलिसकर्मियों की हत्या के बाद शवों से बर्बरता की। सभी के चेहरे क्षत-विक्षत कर दिए। वारदात के बाद आतंकी पुलिसकर्मियों के  हथियार भी लेकर  भाग गए। पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन लश्कर-ए तैयबा ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है। 

राज्य के पुलिस महानिदेशक एस.पी. वैद ने बताया कि हमले में थाना प्रभारी  सब इंस्पेक्टर फिरोज, चार पुलिसकर्मी और चालक शहीद हुए हैं। सभी जीप से नियमित ड्यूटी से लौट रहे थे। फिरोज पुलवामा के निवासी थे। 

चेहरे पर नजदीक से गोली मारी
पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि यह पुलिस दल शुक्रवार शाम बिना बुलेट प्रुफ की गाड़ी में अनंतनाग से गश्त कर अचाबल थाने लौट रहा था। आगे कुलगाड गांव के पास अनंतनाग-अचाबल रोड पर घात लगाए आतंकियों ने फायरिंग कर इस गश्ती दल को अपने कब्जे में ले लिया। इसके बाद आतंकियों ने चेहरों पर नजदीक से गोली मारकर सभी छह पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी और उनके हथियार लेकर फरार हो गए। पुलिस अधिकारी ने कहा कि लश्कर-ए-तैयबा ने यहां से मात्र बीस किलोमीटर दूर अरवनी में शुक्रवार सुबह हुई मुठभेड़ का बदला लेने के लिए यह हमला किया है। इस मुठभेड़ में लश्कर कमांडर जुनैद मट्टू मारा गया था।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Terrorists attack SICOP Complex in Bijbehara where CRPF and Army troops are stationed