ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देश गोली चलाने से पहले आतंकवादियों ने घर- घर मांगा पानी, पुलिस ने सुनाई कठुआ हमले की पूरी कहानी

गोली चलाने से पहले आतंकवादियों ने घर- घर मांगा पानी, पुलिस ने सुनाई कठुआ हमले की पूरी कहानी

कठुआ में मंगलवार को हुए आतंकी हमले की डिटेल्स पुलिस ने साझा की है। पुलिस ने बताया है कि हमले के बाद रात भर चली मुठभेड़ में एक आतंकवादी मारा गया, जबकि दूसरे आतंकी की तलाश अब भी जारी है।

 गोली चलाने से पहले आतंकवादियों ने घर- घर मांगा पानी, पुलिस ने सुनाई कठुआ हमले की पूरी कहानी
Jagritiलाइव हिंदुस्तान,जम्मूWed, 12 Jun 2024 02:49 PM
ऐप पर पढ़ें

जम्मू-कश्मीर के कठुआ जिले में हुए आतंकी हमले की डिटेल पुलिस ने साझा की है। जम्मू कश्मीर के एडिशनल डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस ने X पर एक पोस्ट के जरिए आम लोगों के लिए यह जानकारी साझा की है। इस पोस्ट में उन्होंने बताया है कि कल शाम गोलीबारी करने वाले दो आतंकवादी पानी मांगने के लिए घर-घर गए थे। हालांकि सतर्क ग्रामीणों ने उन्हें देखते ही दरवाजे बंद कर लिए।

हमले के बाद रात भर चली मुठभेड़ में एक आतंकवादी मारा गया, जबकि दूसरे की तलाश जारी है। कार्रवाई में अर्धसैनिक बल का एक जवान भी शहीद हो गया। कठुआ में आतंकवाद विरोधी अभियान की निगरानी कर रहे जम्मू क्षेत्र के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक आनंद जैन ने कहा कि आतंकवादियों को सबसे पहले कल देर शाम हीरा नगर के सैदा सुखल गांव में देखा गया था। उन्होंने कहा, "उन्होंने कुछ घरों से पानी मांगा, जिस पर ग्रामीणों को संदेह हुआ और उन्होंने दरवाजे बंद कर दिए और कुछ लोगों ने शोर मचाना शुरू कर दिया। आतंकवादी घबरा गए और उन्होंने हवा में अंधाधुंध गोलियां चलानी शुरू कर दी और पास से गुजर रहे एक ग्रामीण पर भी गोलियां चलाईं।"

सुरक्षा बलों ने जल्द ही इलाके की घेराबंदी कर दी और आतंकवादियों पर जवाबी हमला किया। अधिकारी ने कहा कि पुलिस पर ग्रेनेड फेंकने की कोशिश करते समय एक आतंकवादी मारा गया। वहीं दूसरे आतंकवादी की तलाश में अब एक-एक करके घरों को खाली किया जा रहा है। 

वहीं जम्मू-कश्मीर के डोडा में भी दूसरी मुठभेड़ चल रही है, जहां कल देर रात आतंकियों ने एक आर्मी बेस पर हमला किया था। आतंकवादियों ने कल देर रात चत्तरगला इलाके में पुलिस और राष्ट्रीय राइफल्स के संयुक्त दल पर गोलीबारी कर दी। हमले में पांच सैनिक और एक पुलिस अधिकारी (एसपीओ) घायल हो गए हैं। इससे पहले दो दिन पहले ही रियासी में तीर्थयात्रियों से भरी एक बस पर हमला हुआ था और वह खाई में गिर गई थी। इसमें नौ लोगों की मौत हो गई थी और 33 यात्री घायल हो गए थे। यह हमला लश्कर-ए-तैयबा के कमांडर अबू हमजा के आदेश पर किया गया था।