अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रमज़ान के महीने में बड़ा हमला कर सकते हैं आतंकवादी, सेना अलर्ट

Terrorist

आतंकियों के खिलाफ संघर्ष विराम को लेकर सेना के अनुभव अच्छे नहीं हैं। इस बार भी खुफिया सूचनाओं से खबर मिल रही है कि रमजान के महीने में आतंकी बड़े हमलों को अंजाम देने की फिराक में हैं। इसलिए रमजान का महीना शुरू होते ही सेना ने कश्मीर में सैन्य प्रतिष्ठानों की सुरक्षा कड़ी कर दी है। सेना के सूत्रों ने कहा कि नियंत्रण रेखा पर जवानों की तैनाती बढ़ाई गई है। दूसरे, दक्षिणी कश्मीर के सभी जिलों, सेना के सभी केंद्रों, शिविरों, प्रतिष्ठानों, और रिहायशी इलाकों में सुरक्षाबलों और सेना को सतर्क किया गया है। अतिरिक्त जवानों की तैनाती भी हो रही है। 

खुफिया सूचनाओं में कहा गया है कि आतंकी इन इलाकों को निशाना बना सकते हैं। इसलिए सेना कहीं से भी यह संदेश नहीं देना चाहती है कि आतंकियों के खिलाफ अभियान नहीं चलाने का यह कतई मतलब नहीं है कि वह शांत होकर बैठ जाएं। सेना किसी भी हमले का सख्ती से जवाब देने के लिए तैयार है। सूत्रों ने कहा कि जिस प्रकार पिछली बार संघर्ष विराम पर आतंकियों ने प्रतिक्रिया दी थी वैसी ही आशंका इस बार भी है। 

मुस्कुराते बुद्ध से शक्ति तक जानिए भारत के परमाणु परीक्षण का पूरा सफर

इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 19 मई को किशनगंगा परियोजना के उद्घाटन के लिए कश्मीर की प्रस्तावित यात्रा को लेकर भी विशेष सतर्कता बरती जा रही है। इस दौरान हुर्रियत ने बंद का आह्वान किया है। सुरक्षा बलों की कोशिश है कि इस दौरान घाटी में आतंकियों को वारदात करने का मौका नहीं मिले।

बड़ी कार्रवाई: वाराणसी हादसे में सेतु निगम के एमडी समेत सात दोषी

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Terrorist van Attack in Ramazan month in jammu Kashmir Security Alert