ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशजम्मू-कश्मीर के डोडा में फिर आतंकी हमला, 3 दिन में 4 बार आमने-सामने सेना और दहशतगर्द

जम्मू-कश्मीर के डोडा में फिर आतंकी हमला, 3 दिन में 4 बार आमने-सामने सेना और दहशतगर्द

जम्मू-कश्मीर के डोडा जिले में आज फिर मुठभेड़ शुरू हो गई। पिछले तीन दिनों में केंद्र शासित प्रदेश में यह चौथी मुठभेड़ है। बता दें कल से जम्मू संभाग के डोडा क्षेत्र में हुई यह दूसरी मुठभेड़ है।

जम्मू-कश्मीर के डोडा में फिर आतंकी हमला, 3 दिन में 4 बार आमने-सामने सेना और दहशतगर्द
Himanshu Tiwariलाइव हिन्दुस्तान,जम्मूWed, 12 Jun 2024 09:56 PM
ऐप पर पढ़ें

जम्मू-कश्मीर के डोडा जिले में आज फिर आतंकी हमला हुआ है। हमले के बाद सेना के साथ आतंकियों की मुठभेड़ शुरू हो गई है। पिछले तीन दिनों में जम्मू-कश्मीर में यह चौथी मुठभेड़ है। बता दें कल से डोडा क्षेत्र में हुई यह दूसरी मुठभेड़ है। इससे पहले हुई मुठभेड में एक जवान घायल हो गया था। वहीं 9 जून को रियासी में आतंकवादियों ने तीर्थयात्रियों पर हमला किया जिसमें नौ लोग मारे गए। इसके अलावा कठुआ क्षेत्र में सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ हुई थी।

इससे पहले जम्मू-कश्मीर के कठुआ जिले के एक सीमावर्ती गांव में छिपे एक आतंकवादी को सुरक्षा बलों ने 15 घंटे से अधिक समय तक चले अभियान में बुधवार को मार गिराया। इस दौरान एक अन्य आतंकवादी को भी मार गिराया गया। हालांकि मुठभेड़ में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) का एक जवान भी शहीद हो गया।

डोडा में पहले भी हुई मुठभेड़
अधिकारियों के अनुसार, सैदा सुखल गांव में दो आतंकवादियों को देखे जाने के बाद मंगलवार रात को शुरू हुए अभियान के दौरान दो वरिष्ठ अधिकारी सुरक्षित बच निकले। हालांकि उनके वाहनों पर गोलियां लगीं। अधिकारियों ने बताया कि मंगलवार देर रात डोडा जिले में भद्रवाह-पठानकोट मार्ग पर स्थित चतरगला के ऊपरी इलाके में आतंकवादियों ने एक संयुक्त जांच चौकी पर हमला किया, जिसमें राष्ट्रीय राइफल्स के पांच जवान और एक विशेष पुलिस अधिकारी (एसपीओ) घायल हो गये। आतंकवादियों की तलाश के लिए अभियान चलाये जाने के कारण राजमार्ग पर यातायात रोक दिया गया है।

वहीं रविवार को रियासी के शिव खोड़ी मंदिर से तीर्थयात्रियों को कटरा ले जा रही बस पर हुए हमले के बाद सुरक्षा व्यवस्था कड़ी किये जाने के बीच ये घटनाएं हुई हैं। दो दिन पहले हुए इस हमले में बस सड़क से गहरी खाई में जा गिरी थी, जिसमें नौ लोगों की मौत हो गई थी और 41 लोग घायल हुए थे। पुलिस ने बस पर हमले में शामिल आतंकवादियों के ठिकाने के बारे में जानकारी देने वाले को 20 लाख रुपये का इनाम देने की घोषणा की है और एक आतंकवादी का 'स्केच' भी जारी किया है।

'पाकिस्तान नहीं चाहता कश्मीर में अमन और शांति'
अधिकारियों ने दावा किया कि जम्मू-कश्मीर में शांतिपूर्ण माहौल को बिगाड़ने की पाकिस्तान की कोशिशों के कारण ही जम्मू क्षेत्र में आतंकवादी गतिविधियों में तेजी आई है। अधिकारियों ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय सीमा के निकट कठुआ के सैदा सुखल गांव में बुधवार अपराह्न पुलिस, सेना और सीआरपीएफ के संयुक्त अभियान में दूसरे आतंकवादी को मार गिराया गया। उन्होंने बताया कि मंगलवार देर रात लगभग तीन बजे आतंकवादियों ने गांव में सुरक्षा घेरा तोड़ने के लिए अंधाधुंध गोलीबारी की थी। गोलीबारी में सीआरपीएफ के जवान कबीर दास गंभीर रूप से घायल हो गये। कबीर दास मध्य प्रदेश के रहने वाले थे। उन्होंने बताया कि जवान को अस्पताल ले जाया गया, जहां इलाज के दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया।

अभियान के दौरान जम्मू सांबा कठुआ रेंज के पुलिस उप महानिरीक्षक सुनील गुप्ता और कठुआ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अनायत अली चौधरी के वाहनों पर कई गोलियां लगीं लेकिन अधिकारी सुरक्षित बच निकले। जम्मू क्षेत्र के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक आनंद जैन ने कठुआ के सैदा सुखल गांव में अभियान के बारे में जानकारी साझा करते हुए कहा, ''दो आतंकवादी जो हाल में (सीमा पार से) घुसपैठ करके आए थे, रात आठ बजे (मंगलवार) के आसपास गांव में दिखाई दिए और एक घर से पानी मांगा। लोग डर गए और जैसे ही सूचना मिली एक पुलिस दल तुरंत गांव में पहुंचा।''

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक ने बताया, ''एक आतंकवादी ने पुलिस दल पर हथगोला फेंकने की कोशिश की लेकिन मुठभेड़ में उसे मार गिराया गया।'' अधिकारियों ने बताया कि मारे गए दोनों आतंकवादी पाकिस्तानी बताए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि मुठभेड़ स्थल से भारी मात्रा में हथियार, गोला-बारूद और एक लाख रुपये से अधिक की नकदी जब्त की गई है। अधिकारियों ने बताया कि आतंकवादियों की पहचान और उनके समूह का पता लगाया जा रहा है।

Advertisement